इस हैरान करने वाले झील से होकर स्वर्ग को जाता है रास्ता, जानें क्या है रहस्य


बद्रीनाथ से 25 किलोमीटर दूर संतोपथ झील में ब्रह्मा, विष्णु और महेश का अशीर्वाद मिलता है. स्कंद पुराण में भी बताया गया है कि इस झील के तीनों कोनों पर ‌तीनों देवताओं का वास है. ये झील तिकोनी है. मान्यता है कि हर साल सितंबर माह की एकादशी के दिन ब्रह्मा, विष्‍णु और महेश एक साथ इस झील में स्नान करते हैं. एकादशी में यहां स्नान करने से पुण्य प्राप्त होता है. संतोपथ में स्नान करने वालों में विदेशियों की संख्या ज्यादा होती है.

हिमालय की गोद में स्थित इस झील तक पहुंचने का रास्ता बेहद कठिन है. यहां अलकनंदा और लक्ष्मण गंगा का संगम स्थल भी है. जिसे गोविंद घाट कहा जाता है. पौराणिक और लोक कथाओं के अनुसार पांचों पांडव और द्रौपदी अपने अंतिम समय में सब कुछ त्यागकर सशरीर स्वर्ग जाने के लिए बद्रीनाथ से आगे माणा गांव होते हुए स्वर्गरोहिणी की ओर प्रस्थान कर गए, लेकिन मार्ग की कठिनाइयों और प्रतिकूल मौसम के कारण एक-एक कर उनका देहावसान होता चला गया और केवल युधिष्ठिर ही जीवित रहे और वही धर्मराज के साथ सशरीर स्वर्ग जा सके.

कुछ लोग ऐसा भी मानकर चलते हैं कि बाकी चारों पांडवों और द्रौपदी को कुछ घमंड हो गया था, जिसके परिणामस्वरूप वे लोग सशरीर स्वर्ग नहीं पहुंच पाए. उत्तराखंड के चार धामों में से एक बद्रीनाथ तक आप बस या कार से आसानी से पहुंच सकते हैं. इससे आगे भारत के इस तरफ के अंतिम गांव माणा तक जाने के लिए भी अब आपको कोई न कोई गाड़ी मिल जाती है, लेकिन सतोपंथ और स्वर्गरोहिणी जाने के लिए पैदल ही लगभग 28 किमी. का दुर्गम रास्ता तय करना होता है.

सतोपंथ ताल बहुत पवित्र माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि एकादशी के दिन इस हरे रंग के पानी वाले त्रिभुजाकार पवित्र ताल में तीनों देवता ब्रह्मा, विष्णु और महेश स्नान करने के लिए आते हैं. कुछ वर्ष पहले तक स्वर्गरोहिणी का रास्ता माणा गांव से वसुधारा फॉल होते हुए जाता था, लेकिन आगे अलकनंदा नदी के धानू ग्लेशियर के टूट जाने के कारण अब यह रास्ता वसुधारा फॉल की विपरीत दिशा से होकर जाता है.

Related Articles

कश्मीर मुद्दे पर बात रखने वाले वकील बाबर कादरी की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर| जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में गुरुवार को अज्ञात आतंकवादियों के हमले...

उत्तराखंड से उत्तर प्रदेश-राजस्थान के लिए बस सेवा शुरू करने को त्रिवेंद्र सिंह सरकार तैयार

उत्तर प्रदेश और राजस्थान यात्रियों के लिए खुशखबरी है. उत्तराखंड की त्रिवेंद्र...

कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क भी वैक्सीन तरह ही काम करता है

देश के कोरोना वायरस का संकटकाल चल रहा है. इस महामारी से...

उत्तराखंड में आज मिले 684 लोग कोरोना पॉजिटिव, 13 लोगों की मौत

गुरुवार को उत्तराखंड में 684 लोग कोरोनावायरस संक्रमित मिले और 13...

सीएम रावत ने की खरीफ खरीद सत्र 2020-21 की समीक्षा

गुरूवार को सीएम रावत द्वारा सचिवालय में खरीफ खरीद सत्र 2020-21 हेतु...

बड़ी खबर: भारत की आपत्ति के बावजूद नहीं माना पाकिस्तान, 15 नवंबर को होंगे गिलगित-बाल्टिस्‍तान चुनाव

इस्‍लामाबाद|... पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर के गिलगित-बाल्टिस्‍तान इलाके को लेकर पाकिस्‍तान में...

Latest Updates

उत्तराखंड से उत्तर प्रदेश-राजस्थान के लिए बस सेवा शुरू करने को त्रिवेंद्र सिंह सरकार तैयार

उत्तर प्रदेश और राजस्थान यात्रियों के लिए खुशखबरी है. उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार इन दोनों प्रदेशों में जल्द ही...

कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क भी वैक्सीन तरह ही काम करता है

देश के कोरोना वायरस का संकटकाल चल रहा है. इस महामारी से बचने के लिए सरकार और वैज्ञानिकों ने गाइडलाइन तय कर...

उत्तराखंड में आज मिले 684 लोग कोरोना पॉजिटिव, 13 लोगों की मौत

गुरुवार को उत्तराखंड में 684 लोग कोरोनावायरस संक्रमित मिले और 13 लोगों की मौत हुई है. इसके साथ...

अन्य खबरें

विपक्षी नेताओं के सदन के बहिष्कार का भाजपा सरकार ने उठाया पूरा फायदा

कोरोना काल के बीच शुरू हुआ मानसून सत्र तय समय से पहले खत्म हो गया. बुधवार को राज्यसभा...

संसद में केंद्र सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने के लिए नहीं थी गंभीर

दस दिनों के मानसून सत्र में भाजपा सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने से दूर भागती रही है.

मानसून सत्र में विपक्ष को हंगामे में लगाकर मोदी सरकार महत्वपूर्ण बिल पास करा गई

नाम है भारतीय जनता पार्टी. इस पार्टी के मौजूदा समय में मुखिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह हैं.

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट ले लिया है. अब इस मामले को लेकर सियासी बयानबाजी...

कोरोना से जूझते उत्तराखंड में कांग्रेसी विधायकों ने विधानसभा जाने के लिए ट्रैक्टर पर चढ़कर किया तमाशा

उत्तराखंड में कोरोना वायरस बेकाबू होता जा रहा है, शासन से लेकर प्रशासन और आम लोग तक डरे सहमे हुए हैं.

बसपा संगठन में अहम बदलाव, मुनकाद अली से ली गई उत्तराखंड की जिम्मेदारी वापस

बहुजन समाज पार्टी ने मंडल स्तरीय संगठन में अहम बदलाव कर दिया है. बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने फरमान...