संजय राउत के बदले सुर- सुशांत हमारा भी लड़का था, हमें उससे क्या दुश्मनी होगी

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत अपने बयानों के लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं. अब उन्होंने एक और बयान देते हुए कहा कि वो भी चाहते हैं कि सुशांत सिंह राजपूत के परिवार को न्याय मिले. इससे पहले गुरुवार को एक व्यंगात्मक देते हुए राउत ने कहा था, ‘हम सीबीआई का विरोध नहीं कर रहे हैं. जब मुंबई पुलिस पहले से ही काम पर है, तो सीबीआई क्या करेगी? छिपाने के लिए कुछ भी नहीं है. मोसाद और केजीबी भी लाओ.’

शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए राउत ने कहा, ‘मुंबई पुलिस पर विश्वास रखो, अगर आपको लगता है कि ठीक नहीं हो रहा है तो आप सीबीआई , सीआईए में जाओ. सुशांत सिंह राजपूत भी हमारा लड़का था, एक अभिनेता था, बॉलीवुड का एक घटक था और बॉलीवुड तो मुंबई का ​परिवार है. हमें उससे क्या दुश्मनी है? हम भी चाहते हैं उसके परिवार को पूरी तरह न्याय मिले. हम भी चाहते हैं कि मौत या आत्महत्या के पीछे कोई रहस्य है ये खुल जाए. लेकिन वहां बैठकर आप हमारे ऊपर हमले करेंगे, सरकार को काम ही नहीं करने देंगे इसलिए ये सब बखेड़ा खड़ा हुआ है. हमारी पूरी संवेदना सुशांत सिंह राजपूत के परिवार, उनकी पिताजी और बहनों के साथ है.’

राउत ने आगे कहा, ‘मुंबई की पुलिस पूरी तरह से पेशेवर पुलिस है पूरे देश औऱ विश्व में. लेकिन किसी बात में राजनीति करना चाहते हैं तो किसने रोका. हमारे यहां राजनीति इतनी घुस गई है कि जब कोई मौत होती है तो हम उसमें भी राजनीति ढूंढ लेते हैं. इसलिए हमारा भी गुस्सा बढ़ जाता है. हम भी चाहते हैं कि उसके आत्महत्या के कारणों का पता चले.’

इससे पहले गुरुवार को महाराष्ट्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के सिलसिले में पटना में दर्ज प्राथमिकी राजनीति से प्रेरित है. राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि बिहार पुलिस इस मामले में न तो प्राथमिकी दर्ज कर सकती है और न ही मुंबई पुलिस की कथित ‘निष्क्रियता और अवैध’ कार्रवाई के आधार पर कोई जांच नहीं कर सकती है

वहीं केन्द्र सरकार ने ने भी सुशांत सिंह राजपूत से जुड़े एक मामले में कोर्ट से कहा कि महाराष्ट्र पुलिस द्वारा जिन 56 गवाहों के बयान दर्ज किए गए हैं ‘उनकी कोई वैधता या कानूनी शुचिता’नहीं है क्योंकि उसने अभी तक प्राथमिकी दर्ज नहीं दी है. आपको बता दें कि बिहार सरकार की सिफारिश पर केंद्र ने सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले की सीबीआई जांच के आदेश जारी कर दिए हैं.

Related Articles

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट...

जानिए पृथ्वी जैसे बाह्यग्रह का नाम क्यों ‘Pi Earth’ रखा है खगोलविदों ने

खगोलविदों को हमारे सौरमंडल के बाहर कई तरह के बाह्यग्रह ...

टाइम मैग्जीन ने सौ प्रभावशाली लोगों में पीएम मोदी को शामिल कर प्रशंसा भी की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए बुधवार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी सुखद कहा...

बड़ी खबर: भारत की आर्थिक मदद से तिलमिलाया चीन, आने लगी मालदीव की सम्प्रभुता की याद

पड़ोसी देश मालदीव को भारत द्वारा आर्थिक मदद दिए जाने से चीन...

कोरोना की दहशत में शुरू हुआ उत्तराखंड विधानसभा का एक दिन का मानसून सत्र

बुधवार को उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कोरोना के साए में सभा...

उत्तराखंड सरकार ने पर्यटकों के लिए हटाया कोविड निगेटिव रिपोर्ट और दो दिन ठहरने का प्रतिबंध

सरकार ने बाहरी राज्यों से उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों के लिए कोविड...

बिहार के डीजपी गुप्तेश्वर पांडे ने लिया वीआरएस, चुनाव लड़ने की अटकले हुई तेज

बिहार के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गुप्तेश्वर पांडेय ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) ले...

Latest Updates

बड़ी खबर: भारत की आर्थिक मदद से तिलमिलाया चीन, आने लगी मालदीव की सम्प्रभुता की याद

पड़ोसी देश मालदीव को भारत द्वारा आर्थिक मदद दिए जाने से चीन चिढ़ गया है. चीन का कहना...

कोरोना की दहशत में शुरू हुआ उत्तराखंड विधानसभा का एक दिन का मानसून सत्र

बुधवार को उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कोरोना के साए में सभा का एक दिन का मानसून सत्र शुरू हो गया है....

कोरोना से जूझते उत्तराखंड में कांग्रेसी विधायकों ने विधानसभा जाने के लिए ट्रैक्टर पर चढ़कर किया तमाशा

उत्तराखंड में कोरोना वायरस बेकाबू होता जा रहा है, शासन से लेकर प्रशासन और आम लोग तक डरे सहमे हुए हैं.

अन्य खबरें

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट ले लिया है. अब इस मामले को लेकर सियासी बयानबाजी...

कोरोना से जूझते उत्तराखंड में कांग्रेसी विधायकों ने विधानसभा जाने के लिए ट्रैक्टर पर चढ़कर किया तमाशा

उत्तराखंड में कोरोना वायरस बेकाबू होता जा रहा है, शासन से लेकर प्रशासन और आम लोग तक डरे सहमे हुए हैं.

बसपा संगठन में अहम बदलाव, मुनकाद अली से ली गई उत्तराखंड की जिम्मेदारी वापस

बहुजन समाज पार्टी ने मंडल स्तरीय संगठन में अहम बदलाव कर दिया है. बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने फरमान...

मोदी सरकार के कृषि विधेयक ने शिवराज की बढ़ाई टेंशन, सीएम किसानों की आवभगत में जुटे

केंद्र की भाजपा सरकार ने कृषि विधेयक संसद से पारित कराकर किसानों के साथ मध्य प्रदेश 'शिवराज सिंह चौहान सरकार की भी...

संसद के बाद अब सड़क पर भी भाजपा-विपक्ष में किसानों का नेता बनने की छिड़ी सियासी जंग

कमाल की राजनीति है. कोई भी राजनीतिक दल देश की जनता के सामने अपने आपको सबसे बड़ा हितेषी बताने के लिए तमाम...

उत्तराखंड में बढ़ा ‘आप’ का कुनबा सैकड़ों समर्थकों के साथ जितेंद्र मलिक ने ज्वाइन की पार्टी

उत्तराखंड में साल 2022 का चुनावी रण दिलचस्प होने वाला है. विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी आम आदमी पार्टी हर स्तर...