बड़ा झटका! सऊदी अरब से खाली हाथ लौटे बाजवा-क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के साथ मुलाकात नहीं कर पाए


रियाद |….. पाकिस्तान और सऊदी अरब के रिश्ते में आई तल्खी किस हद तक पहुंच गई है इसका पता इस बात से चलता है कि पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा अपने रियाद दौरे में क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के साथ मुलाकात नहीं कर पाए हैं. पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि बाजवा सऊदी अरब के अपने दौरे में क्राउन प्रिंस सलमान के साथ बैठक आयजित करने में सफल नहीं हो पाए और वह खाली हाथ लौट आए हैं. क्राउन प्रिंस के साथ बाजवा की मुलाकात न होने को सऊदी अरब की नाराजगी के साथ जोड़कर देखा जा रहा है.

दरअसल, पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कुछ दिनों पहले मुस्लिम देशों के संगठन (ओआईसी) के विदेश मंत्रियों की बैठक न बुलाने के लिए सऊदी अरब की आलोचना की. कुरैशी का यह बयान सऊदी अरब को नागवार गुजरा और उसने पाकिस्तान से एक अरब डॉलर का अपना कर्ज चुकाने के लिए कहा. समझा जाता है कि बाजवा का यह दौरा सऊदी की नाराजगी कम करने के लिए हुई लेकिन क्राउन प्रिंस ने पाकिस्तानी सेना प्रमुख के साथ मुलाकात न कर स्पष्ट संकेत दिया है कि वह रिश्ते सामान्य करने के पक्ष में नहीं हैं.

सऊदी अरब के साथ तनावपूर्व रिश्ते के बीच बाजवा, इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के प्रमुख जनरल फैज हामिद सोमवार को सऊदी अरब पहुंचे. बाजवा अपने इस दौरे में सऊदी अरब डिप्टी डिफेंस मिनिस्टर प्रिंस खालिद बिन सलमान एवं सेना प्रमुख जनरल फय्याद बिन हामिद अल-रूवैली से मुलाकात करने में तो सफल रहे लेकिन उनकी क्राउन प्रिंस के साथ मुलाकात नहीं हो पाई.

सऊदी अरब कई दशकों से पाकिस्तान का करीबी देश एवं उसके ‘सुख-दुख’ का साथी रहा है लेकिन विदेश मंत्री कुरैशी के बयान ने दोनों देशों के संबंधों को पटरी से उतार दिया. गत दिनों ‘एआरवाई’ चैनल के साथ बातचीत में कुरैशी ने आगाह करते हुए कहा कि कश्मीर मसले पर सऊदी अरब ओआईसी के विदेश मंत्रियों की बैठक यदि नहीं बुलाता है तो वह पीएम इमरान खान से कहने के लिए बाध्य होंगे कि वह ओआईसी की बैठक बुलाएं. कुरैशी ने आगे कहा कि सऊदी अरब के कहने पर पाकिस्तान कुआलालम्पुर की बैठक में शरीक नहीं हुआ अब उसकी बारी है कि वह कश्मीर मसले पर पाकिस्तान के साथ खड़ा हो.

विशेषज्ञों का कहना है कि सऊदी अरब की नाराजगी के चलते सामने वाले दुष्परिणामों से पाकिस्तान परिचित है. उस समझ में आने लगा है कि सऊदी अरब की नाराजगी की कीमत उसे आने वाले दिनों में चुकानी पड़ सकती है. संबंधों में आए इस खटास को दूर करने के लिए ही बाजवा का यह दौरा हुआ है. संकट की घड़ी में सऊदी अरब ने कई बार पाकिस्तान की मदद की है. दुनिया का कर्ज उतारने के लिए सऊदी अरब पाकिस्तान को लोन देता रहा है. हाल के वर्षों में पाकिस्तान का झुकाव तुर्की, मलेशिया और ईरान की तरफ हुआ है. बताया जाता है कि सऊदी अरब को यह बात भी अच्छी नहीं लगी.

Related Articles

IPL 2020: सनराइजर्स हैदराबाद को लगा तगड़ा झटका, चोट के कारण मिचेल मार्श आईपीएल 2020 से बाहर

दुबई|.... ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ ऑलराउंडर मिचेल मार्श आईपीएल 2020 से चोट के...

एफिल टावर को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस ने खाली कराया, एरिया को घेरा

पेरिस|... पेरिस स्थित एफिल टॉवर को उस समय खाली करा दिया...

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट...

जानिए पृथ्वी जैसे बाह्यग्रह का नाम क्यों ‘Pi Earth’ रखा है खगोलविदों ने

खगोलविदों को हमारे सौरमंडल के बाहर कई तरह के बाह्यग्रह ...

टाइम मैग्जीन ने सौ प्रभावशाली लोगों में पीएम मोदी को शामिल कर प्रशंसा भी की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए बुधवार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी सुखद कहा...

बड़ी खबर: भारत की आर्थिक मदद से तिलमिलाया चीन, आने लगी मालदीव की सम्प्रभुता की याद

पड़ोसी देश मालदीव को भारत द्वारा आर्थिक मदद दिए जाने से चीन...

कोरोना की दहशत में शुरू हुआ उत्तराखंड विधानसभा का एक दिन का मानसून सत्र

बुधवार को उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कोरोना के साए में सभा...

Latest Updates

2019-20 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न भरने की आखिरी तारीख नजदीक, इन बातों का रखें ध्यान

वित्त वर्ष 2020-21 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न भरने की तारीख 30 नवंबर 2020 है. 31...

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट ले लिया है. अब इस मामले को लेकर सियासी बयानबाजी...

जानिए पृथ्वी जैसे बाह्यग्रह का नाम क्यों ‘Pi Earth’ रखा है खगोलविदों ने

खगोलविदों को हमारे सौरमंडल के बाहर कई तरह के बाह्यग्रह मिलते हैं. कई आकार की तरह खास होते हैं तो...

अन्य खबरें

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट ले लिया है. अब इस मामले को लेकर सियासी बयानबाजी...

कोरोना से जूझते उत्तराखंड में कांग्रेसी विधायकों ने विधानसभा जाने के लिए ट्रैक्टर पर चढ़कर किया तमाशा

उत्तराखंड में कोरोना वायरस बेकाबू होता जा रहा है, शासन से लेकर प्रशासन और आम लोग तक डरे सहमे हुए हैं.

बसपा संगठन में अहम बदलाव, मुनकाद अली से ली गई उत्तराखंड की जिम्मेदारी वापस

बहुजन समाज पार्टी ने मंडल स्तरीय संगठन में अहम बदलाव कर दिया है. बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने फरमान...

मोदी सरकार के कृषि विधेयक ने शिवराज की बढ़ाई टेंशन, सीएम किसानों की आवभगत में जुटे

केंद्र की भाजपा सरकार ने कृषि विधेयक संसद से पारित कराकर किसानों के साथ मध्य प्रदेश 'शिवराज सिंह चौहान सरकार की भी...

संसद के बाद अब सड़क पर भी भाजपा-विपक्ष में किसानों का नेता बनने की छिड़ी सियासी जंग

कमाल की राजनीति है. कोई भी राजनीतिक दल देश की जनता के सामने अपने आपको सबसे बड़ा हितेषी बताने के लिए तमाम...

उत्तराखंड में बढ़ा ‘आप’ का कुनबा सैकड़ों समर्थकों के साथ जितेंद्र मलिक ने ज्वाइन की पार्टी

उत्तराखंड में साल 2022 का चुनावी रण दिलचस्प होने वाला है. विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी आम आदमी पार्टी हर स्तर...