वर्ल्ड फोटोग्राफी डे विशेष: आओ आज कुछ ‘हसीन पल’ अपने और अपनों के लिए कैमरे में कैद करें


कोरोना महामारी संकटकाल और उससे उपजे तनाव के बीच आओ कुछ सुकून भरे पल बिताए. ऐसे हसीन पल जो आपके लिए जीवन भर यादगार बन जाते हैं, जिसे आप सहेज और संवार कर रखना चाहते हैं. यह लम्हे ऐसे होते हैं जिसे आप अपने और अपनों के लिए भी खास बनाते हैं. दोस्तों आइए आज खूबसूरत और सुंदरता को लेकर चर्चा की जाए. हम बात को आगे बढ़ाएं उससे पहले बता दें कि आज ‘वर्ल्ड फोटोग्राफी डे’ है.

हर साल 19 अगस्त को यह दिन कैमरों में कैद हुए अतीत, वर्तमान और भविष्य में समाहित हो जाता है, हर तस्वीर अपने आप में इतिहास गढ़ती है. सही मायने में वर्ल्ड फोटोग्राफी डे, प्राकृतिक, सुंदरता, खूबसूरत नजारों के साथ कुछ अपनों के साथ बिताए गए यादगार पलों के साथ गुजारने का दिन होता है. फोटोग्राफी डे पर दुनिया भर में लोग कैमरो से वह पल को कैद करते आ रहे हैं जो अब उनका जीवन का हिस्सा भी बन गया है. बदलते परिवेश में आज अधिकांश लोगों के पास कैमरे की जगह मोबाइल फोन ने ले लिया है. लेकिन आज भी कैमरा का महत्व कम नहीं हुआ है.

फोटोग्राफी डे उन सभी फोटोग्राफर्स को समर्पित है जिन्होंने अपनी कला से दुनिया की खूबसूरती को कैमरे में कैद किया है. आज के समय में फोटोग्राफी के जरिए हम आसानी से अपनी जिंदगी के खूबसूरत पलों को कैमरे में कैद कर लेते हैं. कई बार आप लोगों देखा होगा कुछ ऐसी तस्वीरें या विजुअल, फोटो ऐसे भी होते हैं जो खबरों पर भी भारी पड़ जाते हैं. यह वर्ल्ड फोटोग्राफी डे ऐसे समय आता है जब पूरे भारत में बारिश का मौसम रहता है. यानी चारों ओर हरियाली और छटा बिखरी हुई होती है, ऐसे में कई लोगों का फोटोग्राफी का शौक भी होता है, यह दिन उनके लिए बहुत ही खास है.


9 जनवरी 1839 को दुनिया में पहले फोटोग्राफी की शुरुआत फ्रांस से हुई थी
यहां हम आपको बताना चाहेंगे कि दुनिया में सबसे पहले 9 जनवरी 1839 को फोटोग्राफी की शुरुआत फ्रांस से हुई थी. उसके कुछ महीनों बाद 19 अगस्त, 1839 को फ्रांस सरकार ने इस प्रकिया को बिना किसी कॉपीराइट के दुनिया को उपहार के रूप में देने की घोषणा की. तभी से 19 अगस्त को यह दिन मनाया जाता है. लेकिन उससे पहले साल 1826 में दुनिया की पहली दिखने वाली तस्वीर खींचने का श्रेय जाता है.

फ्रांस के इनवेंटर जोसेफ नाइसफोर और उनके मित्र लुइस डॉगेर को, जिन्होंने अपनी आधी उम्र सिर्फ इसी काम के लिए समर्पित कर दी थी. इन दोनों की फोटो खींचने की इसी उपलब्धि को दुनिया ‘डॉगेरोटाइप’ प्रोसेस कहती है और इसे सम्मान देने के लिए वर्ल्ड फोटोग्राफी डे मनाए जाने का सिलसिला शुरू हुआ. वर्ल्ड फोटोग्राफी की लोकप्रियता साल 2010 से बढ़ना शुरू हुई थी. ऑस्ट्रलिया के एक फोटोग्राफर ने इस दिन के बारे में दुनिया भर में जागरूकता फैलानी शुरू की.

उन्होंने अपने सभी साथियों की मदद से दुनिया भर में इस दिन का प्रचार-प्रसार किया. उन्होंने अपने 270 साथी फोटोग्राफरों के साथ मिलकर उनकी तस्वीरें ऑनलाइन गैलरी के जरिए लोगों के सामने पेश की. इस ऑनलाइन गैलरी को लोगों ने खूब पसंद किया जिसके बाद से इसका ट्रेंड बन गया और हर साल फोटोग्राफी डे के दिन ऐसी ही ऑनलाइन गैलरी बनने लगी.


फोटोग्राफी के क्षेत्र में लोगों के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए यह दिन होता है खास
‘वर्ल्ड फोटोग्राफी डे’ फोटोग्राफी के क्षेत्र में लोगों के बीच जागरूकता पैदा करने, विचारों के आदान-प्रदान और लोगों को फोटोग्राफी के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से मनाया जाता है. यह दिन न केवल उस व्यक्ति को याद करता है जिसने इस क्षेत्र में योगदान दिया है बल्कि यह भविष्य की पीढ़ी को भी अपना कौशल दिखाने के लिए प्रेरित करता है. इसके साथ इस खास दिन को मनाने का उद्देश्य यह भी है कि दुनियाभर के फोटोग्राफरों को एकजुट किया जा सके. एक समय था जब लोगों के पास कैमरा तक नहीं होता था. खासकर ग्रामीण इलाकों में लोग फोटो खिंचाने के लिए कई किलोमीटर दूर फोटो स्टूडियो में जाते थे.

लेकिन आज हर लगभग हर इंसान के पास या तो कैमरा है या कैमरे वाला मोबाइल, जिससे लोग आराम से कहीं भी कभी भी तस्वीरें खींच सकते हैं और उन्हें सहेज कर रख सकते हैं. भारत की नहीं दुनिया में बहुत से लोग ऐसे हैं, जो फोटोग्राफी के शौकीन हैं और उन्होंने फोटोग्राफी को ही अपना करियर चुन लिया है. आओ आज वर्ल्ड फोटोग्राफी डे पर कुछ यादगार पल कैमरों में क्लिक करें.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

टाइम मैग्जीन ने सौ प्रभावशाली लोगों में पीएम मोदी को शामिल कर प्रशंसा भी की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए बुधवार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी सुखद कहा...

बड़ी खबर: भारत की आर्थिक मदद से तिलमिलाया चीन, आने लगी मालदीव की सम्प्रभुता की याद

पड़ोसी देश मालदीव को भारत द्वारा आर्थिक मदद दिए जाने से चीन...

कोरोना की दहशत में शुरू हुआ उत्तराखंड विधानसभा का एक दिन का मानसून सत्र

बुधवार को उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कोरोना के साए में सभा...

उत्तराखंड सरकार ने पर्यटकों के लिए हटाया कोविड निगेटिव रिपोर्ट और दो दिन ठहरने का प्रतिबंध

सरकार ने बाहरी राज्यों से उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों के लिए कोविड...

बिहार के डीजपी गुप्तेश्वर पांडे ने लिया वीआरएस, चुनाव लड़ने की अटकले हुई तेज

बिहार के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गुप्तेश्वर पांडेय ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) ले...

रिपोर्ट में बड़ा दावा, भारतीय सैटेलाइट पर साइबर हमले की कई बार गुस्ताखी कर चुका है चीन

नई दिल्ली| भारत के खिलाफ साजिश रचने और अंतरिक्ष सुरक्षा तंत्र एवं...

Latest Updates

कोरोना से जूझते उत्तराखंड में कांग्रेसी विधायकों ने विधानसभा जाने के लिए ट्रैक्टर पर चढ़कर किया तमाशा

उत्तराखंड में कोरोना वायरस बेकाबू होता जा रहा है, शासन से लेकर प्रशासन और आम लोग तक डरे सहमे हुए हैं.

उत्तराखंड सरकार ने पर्यटकों के लिए हटाया कोविड निगेटिव रिपोर्ट और दो दिन ठहरने का प्रतिबंध

सरकार ने बाहरी राज्यों से उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों के लिए कोविड जांच की निगेटिव रिपोर्ट और दो दिन होटल व होम...

उत्तराखंड: सुप्रीम कोर्ट में खारिज हुई पूर्व सीएम सुविधा अधिनियम निरस्त करने के खिलाफ सरकार की याचिका

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को उत्तराखंड हाईकोर्ट के उस फैसले को चुनौती देने वाली याचिका को खारिज कर दिया है जिसमें मुख्यमंत्रियों...

अन्य खबरें

कोरोना से जूझते उत्तराखंड में कांग्रेसी विधायकों ने विधानसभा जाने के लिए ट्रैक्टर पर चढ़कर किया तमाशा

उत्तराखंड में कोरोना वायरस बेकाबू होता जा रहा है, शासन से लेकर प्रशासन और आम लोग तक डरे सहमे हुए हैं.

बसपा संगठन में अहम बदलाव, मुनकाद अली से ली गई उत्तराखंड की जिम्मेदारी वापस

बहुजन समाज पार्टी ने मंडल स्तरीय संगठन में अहम बदलाव कर दिया है. बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने फरमान...

मोदी सरकार के कृषि विधेयक ने शिवराज की बढ़ाई टेंशन, सीएम किसानों की आवभगत में जुटे

केंद्र की भाजपा सरकार ने कृषि विधेयक संसद से पारित कराकर किसानों के साथ मध्य प्रदेश 'शिवराज सिंह चौहान सरकार की भी...

संसद के बाद अब सड़क पर भी भाजपा-विपक्ष में किसानों का नेता बनने की छिड़ी सियासी जंग

कमाल की राजनीति है. कोई भी राजनीतिक दल देश की जनता के सामने अपने आपको सबसे बड़ा हितेषी बताने के लिए तमाम...

उत्तराखंड में बढ़ा ‘आप’ का कुनबा सैकड़ों समर्थकों के साथ जितेंद्र मलिक ने ज्वाइन की पार्टी

उत्तराखंड में साल 2022 का चुनावी रण दिलचस्प होने वाला है. विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी आम आदमी पार्टी हर स्तर...

ब्रेकिंग: राज्यसभा से निलंबित सभी 8 सांसदों का धरना ख़त्म

राज्यसभा से निलंबित किए जाने वाले सांसदों ने अपना धरना खत्म कर दिया है.विपक्ष के वाकआउट के बाद धरने पर बैठे विपक्षी...