सपा नेता ने भगवान राम को बताया काल्पनिक पात्र, हमलावर हुई बीजेपी-अखिलेश से मांगा जवाब

समाजवादी पार्टी के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष चौधरी लौटन राम निषाद ने भगवान राम को लेकर विवादित बयान दिया है. उन्होंने भगवान राम के अस्तित्व सवाल खड़े करते हुए हुए उन्हेंफिल्म के पात्र जैसा काल्पनिक बताया. समाजवादी पार्टी नेता निषाद यहीं नहीं रूके उन्होंने इससे दो कदम और आगे बढ़ते हुए कहा कि संविधान भी यह मान चुका है कि भगवान राम जैसा कोई नायक भारत में पैदा हुआ ही नहीं. राम निषाद के इस बयान पर भाजपा प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चंद्रमोहन ने भी प्रतिक्रिया दी है और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव से सफाई मांगी है.

क्या कहा राम निषाद ने
राम निषाद ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘राम का मंदिर बने चाहे कृष्ण का मंदिर, मुझे उससे कुछ नहीं…राम के प्रति मेरी आस्था नहीं है, यह मेरा व्यक्तिगत विचार है. मेरी आस्था अगर है तो वो है डॉ. भीमराव अंबेडकर के बनाए हुए संविधान पर है, कर्पूरी ठाकुर में है, छत्रपति शिवाजी महाराज में है जिनसे हमें पढ़ने का, लिखने का, सरकारी नौकरियों में कुर्सी पर बैठने का अधिकार संविधान से मिला है. ज्योतिबा फुले से मिला है, सावित्री बाई फुले से मिला है इसलिए जिनसे मेरा डायरेक्ट लाभ हुआ है मैं उनको जानता हूं. राम थे या नहीं थे, उनके अस्तित्व पर भी मैं प्रश्न चिह्न खड़ा करता हूं. राम एक काल्पनिक पात्र हैं जैसे फिल्म की स्टोरी बनाई जाती है, वैसे ही राम एक स्टोरी के पात्र हैं जिनका कोई अस्तित्व नहीं है. संविधान भी कह दिया है कि राम कोई नायक पैदा नहीं हुआ था, भारत में राम नाम को कोई पैदा ही नहीं हुआ था.’

भाजपा का निशाना
भाजपा ने निषाद के बयान को लेकर समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा है. भाजपा प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चंद्रमोहन ने कहा, ‘सपा का कोई नेता अगर भगवान राम पर टिप्पणी करता है तो यह स्वाभाविक रूप से माना जाएगा कि वो अखिलेश यादव की टिप्पणी है. अखिलेश यादव इस पर टिप्पणी करें. एक तरफ भगवान राम भगवान विष्णु का मंदिर बनाने की बात करते हैं दूसरी तरफ भगवान परशुराम का मंदिर बनाने की बात करेंगे, लेकिन भगवान राम के बारे में अगर ऐसी टिप्पणी आएगी तो पता चलता है कि समाजवादी पार्टी केवल औऱ केवल ओछी राजनीति करना चाहती है.’

अखिलेश दें जवाब
डॉ. चंद्रमोहन ने आगे कहा, ‘आज समाजवादी पार्टी की मजबूरी है कि वो मुद्दा विहीन हो चुकी है और उन्हें कुछ समझ में नहीं आ रहा है. राम भक्तों की ताकत के आगे ये सब लोग आज नेपथ्य की तरफ बढ़ रहे हैं. माननीय योगी जी की लोकप्रियता के आगे सपा के नेता बौना साबित हो रहे हैं इसलिए इस प्रकार के बयान दे रहे हैं. बांकि तो दुनिया जानती है और भगवान राम जन-जन के अराध्या हैं. भगवान राम के बारे में ओछी टिप्पणी कोई ओछा व्यक्ति ही कर सकता है. समाजवादी पार्टी तथा अखिलेश यादव को जवाब देना ही होगा.’

Related Articles

कश्मीर मुद्दे पर बात रखने वाले वकील बाबर कादरी की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर| जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में गुरुवार को अज्ञात आतंकवादियों के हमले...

उत्तराखंड से उत्तर प्रदेश-राजस्थान के लिए बस सेवा शुरू करने को त्रिवेंद्र सिंह सरकार तैयार

उत्तर प्रदेश और राजस्थान यात्रियों के लिए खुशखबरी है. उत्तराखंड की त्रिवेंद्र...

कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क भी वैक्सीन तरह ही काम करता है

देश के कोरोना वायरस का संकटकाल चल रहा है. इस महामारी से...

उत्तराखंड में आज मिले 684 लोग कोरोना पॉजिटिव, 13 लोगों की मौत

गुरुवार को उत्तराखंड में 684 लोग कोरोनावायरस संक्रमित मिले और 13...

सीएम रावत ने की खरीफ खरीद सत्र 2020-21 की समीक्षा

गुरूवार को सीएम रावत द्वारा सचिवालय में खरीफ खरीद सत्र 2020-21 हेतु...

बड़ी खबर: भारत की आपत्ति के बावजूद नहीं माना पाकिस्तान, 15 नवंबर को होंगे गिलगित-बाल्टिस्‍तान चुनाव

इस्‍लामाबाद|... पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर के गिलगित-बाल्टिस्‍तान इलाके को लेकर पाकिस्‍तान में...

दिल्ली हिंसा मामले में उमर खालिद को 22 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत

नई दिल्ली| गुरुवार को दिल्ली की एक अदालत ने जवाहर लाल...

उत्तराखंड: पूर्व विधायक कृष्ण चन्द्र पुनेठा का निधन

अविभाजित यूपी में पिथौरागढ़ विधानसभा क्षेत्र से दो बार विधायक रहे कृष्ण...

Latest Updates

उत्तराखंड में आज मिले 684 लोग कोरोना पॉजिटिव, 13 लोगों की मौत

गुरुवार को उत्तराखंड में 684 लोग कोरोनावायरस संक्रमित मिले और 13 लोगों की मौत हुई है. इसके साथ...

सीएम रावत ने की खरीफ खरीद सत्र 2020-21 की समीक्षा

गुरूवार को सीएम रावत द्वारा सचिवालय में खरीफ खरीद सत्र 2020-21 हेतु धान क्रय सम्बन्धी व्यवस्थाओं की समीक्षा की गई.

अब लड़कियों के लिए भी खुले सैनिक स्कूल घोड़ाखाल के द्वार, स्कूल सोसाइटी ने अपर मुख्य सचिव को भेजा पत्र

नैनीताल| सैनिक स्कूल घोड़ाखाल के द्वार अब लड़कियों के लिए भी खुल गए हैं. इस सत्र से यहां छात्राओं के एडमिशन के...

अन्य खबरें

विपक्षी नेताओं के सदन के बहिष्कार का भाजपा सरकार ने उठाया पूरा फायदा

कोरोना काल के बीच शुरू हुआ मानसून सत्र तय समय से पहले खत्म हो गया. बुधवार को राज्यसभा...

संसद में केंद्र सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने के लिए नहीं थी गंभीर

दस दिनों के मानसून सत्र में भाजपा सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने से दूर भागती रही है.

मानसून सत्र में विपक्ष को हंगामे में लगाकर मोदी सरकार महत्वपूर्ण बिल पास करा गई

नाम है भारतीय जनता पार्टी. इस पार्टी के मौजूदा समय में मुखिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह हैं.

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट ले लिया है. अब इस मामले को लेकर सियासी बयानबाजी...

कोरोना से जूझते उत्तराखंड में कांग्रेसी विधायकों ने विधानसभा जाने के लिए ट्रैक्टर पर चढ़कर किया तमाशा

उत्तराखंड में कोरोना वायरस बेकाबू होता जा रहा है, शासन से लेकर प्रशासन और आम लोग तक डरे सहमे हुए हैं.

बसपा संगठन में अहम बदलाव, मुनकाद अली से ली गई उत्तराखंड की जिम्मेदारी वापस

बहुजन समाज पार्टी ने मंडल स्तरीय संगठन में अहम बदलाव कर दिया है. बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने फरमान...