केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों एवं कृषि मंत्रियों के साथ बैठक की, इन मुद्दों पर हुई चर्चा


केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भारत सरकार द्वारा कृषि विकास के सम्बन्ध में हाल ही में किए गए प्रयासों के सम्बन्ध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों एवं कृषि मंत्रियों के साथ बैठक की. उन्होंने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. केंद्र सरकार द्वारा इसके लिए लगातार एक के बाद एक कदम उठाए जा रहे हैं. राज्य सरकारों ने भी इसमें महत्वपूर्ण योगदान दिया है, जिसके अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं.

उन्होंने कहा कि इस बैठक का मुख्य उद्देश्य कृषि अवसंरचनाओं के विकास पर विशेष ध्यान केंद्रित करना है. किसानों की आय दोगुनी करने के लिए राज्य सरकारों द्वारा किए जा रहे प्रयास सराहनीय हैं. कृषि क्षेत्र में निजी निवेश को गांवों और खेतों तक पहुंचाना हमारा उद्देश्य है. कृषि अवसंरचनाओं के विकास में एक लाख करोड़ का यह पैकेज एक बड़ा कदम साबित होगा.

केन्द्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि इस कार्यक्रम को गति देने के लिए राज्यों को एक सेमिनार का आयोजन करना चाहिए जिसमें कृषि अवसंरचनाओं के विकास और संभावनाओं पर चर्चा की जाए. एक सर्वेक्षण करा कर कृषि क्षेत्र में गैप्स ढूंढ कर उनके लिए योजनाएं बनायी जानी चाहिए. किसानों को सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए ताकि किसान अपने उत्पाद को लंबे समय तक एवं उचित मूल्य मिलने तक सुरक्षित रख सकें. उन्होंने कहा कि हमने 10 हजार फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गनाइजेशन (एफपीओ) बनाने का लक्ष्य रखा है.

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि इस फंड के माध्यम से पोस्ट हार्वेस्टिंग इंफ्रास्ट्रक्चर एवं बिचौलियों को समाप्त करने में भी मदद मिलेगी साथ ही कोल्ड चेन, कोल्ड स्टोरेज इंटीग्रेटेड पैक हाउसेस, सप्लाई चेन सर्विसेज, कम्युनिटी फार्म मशीनरी, रेफ्रिजरेटेड ट्रांसपोर्टेशन और कम्युनिटी ड्राइंग यार्ड जैसी अवसंरचनाओं को विकसित करने में इस फंड का प्रयोग किया जा सकेगा. उन्होंने कहा कि हम अपने किसानों को आत्मनिर्भर कृषि के माध्यम से उद्यमी बनाना चाहते हैं. 31 मार्च 2021 तक इसके लिए सभी राज्य अपने योजनाओं को उपलब्ध करा दिया जाए.

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों की आय को बढ़ाने के लिए शुरू की गयी आत्मनिर्भर कृषि योजना के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने में यह योजना मील के पत्थर की भूमिका निभाएगी. उन्होंने कहा केंद्र द्वारा प्रत्येक जनपद में दो-दो एफपीओ बनाए जाने हेतु दिए गए लक्ष्य को हम समय पूरा कर लेंगे. अन्य मैदानी राज्यों की तुलना में हमारे पर्वतीय राज्यों की परिस्थितियां अलग हैं.

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड का अधिकांश भूभाग पर्वतीय है. जहां पर अलग-अलग प्रकार की क्लाइमेट कंडीशन है. उन्होंने पर्वतीय राज्यों के लिए अलग से नीति बनाई जाने का सुझाव दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड मैं बेमौसमी फल-सब्जियों की अपार संभावना है. इनके उत्पादन में फोकस करके किसानों की आय को बढ़ाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में जड़ी बूटियों की अत्यधिक संभावना है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों की आय दोगुनी करने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. किसानों को रू. 3 लाख तक का ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है, इसके साथ ही महिला स्वयं सहायता समूहों को भी रू. 5 लाख तक का ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है. मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड की कृषि में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है.

इस अवसर पर केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री परषोत्तम रूपाला, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शिवराज सिंह चौहान एवं मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल खट्टर सहित विभिन्न राज्यों के कृषि मंत्रियों ने भी अपने सुझाव दिए. बैठक में सचिव कृषि भारत सरकार संजय अग्रवाल, सचिव आर.मीनाक्षी सुन्दरम, हरबंस सिंह चुघ सहित वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे.

Related Articles

राशिफल 26-09-2020: इन राशियों के लिए भाग्यशाली है आज का दिन, कार्य-व्यापार में मिलेगी सफलता

मेष-: आज आप परिवारजनों के साथ मिलकर घरेलू मामलों में महत्त्वपूर्ण विचार...

सुशांत के पिता के वकील का आरोप, आत्‍महत्‍या की जांच अब एक अलग ही दिशा में चली गई

बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत की आत्‍महत्‍या की जांच का मामला अब...

सीबीएसई 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट इस होगा घोषित

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया है कि...

यूएन बैठक के दौरान पीओके कार्यकर्ता बोले- हम पाकिस्तान में होने की सजा भुगत रहे हैं

जिनेवा| संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की जिनेवा में चल रही बैठक के...

अनुष्का के सम्बंध में मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया : गावस्कर

नई दिल्ली| बॉलीवुड अभिनेत्री और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर तथा भारतीय टीम के...

उत्तराखंड में मिले 928 लोग कोरोना पॉजिटिव, 13 लोगों की मौत-संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 45 हजार के पार

शुक्रवार को उत्तराखंड में 928 लोग कोरोनावायरस संक्रमित मिले हैं और...

Latest Updates

सीबीएसई 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट इस होगा घोषित

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया है कि कक्षा 12वीं के लिए सीबीएसई कंपार्टमेंट रिजल्ट 2020 को 10...

यूएन बैठक के दौरान पीओके कार्यकर्ता बोले- हम पाकिस्तान में होने की सजा भुगत रहे हैं

जिनेवा| संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की जिनेवा में चल रही बैठक के दौरान पीओके कार्यकर्ता मोहम्मद सज्जाद राजा संयुक्त राष्ट्र में कहा...

अनुष्का के सम्बंध में मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया : गावस्कर

नई दिल्ली| बॉलीवुड अभिनेत्री और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर तथा भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली की पत्नी अनुष्का शर्मा को लेकर दिए...

अन्य खबरें

बिहार चुनाव में राजनीतिक दलों के नेताओं की वर्चुअल सियासत में उलझेगा देसी वोटर

बिहार एक ऐसा राज्य है जो अपने देसी अंदाज को लेकर पूरे विश्व में प्रसिद्ध है. यहां के...

भाजपा कार्यकर्ताओं ने पप्पू यादव की पार्टी के लोगों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा, देखें-वीडियो

पटना| शुक्रवार को चुनाव आयोग जिस समय बिहार विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर रहा था उस समय पटना...

हरीश रावत की टिप्पणी पर रेखा का पलटवार, कोई भी आरोप साबित हुआ तो राजनीतिक जीवन से संन्यास ले लूंगी

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के आरोप पर महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्य ने पटलवार किया है.

बिहार विधानसभा चुनाव तारीखों का ऐलान, तीन चरणों में होंगे चुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की तारीखों का ऐलान हो गया है. चुनाव आयोग ने बिहार में तीन चरणों में चुनाव कराने...

विपक्षी नेताओं के सदन के बहिष्कार का भाजपा सरकार ने उठाया पूरा फायदा

कोरोना काल के बीच शुरू हुआ मानसून सत्र तय समय से पहले खत्म हो गया. बुधवार को राज्यसभा...

संसद में केंद्र सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने के लिए नहीं थी गंभीर

दस दिनों के मानसून सत्र में भाजपा सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने से दूर भागती रही है.