अब हर कोई आ सकेगा उत्तराखंड, बस इस नियमों करना होगा पालन

शनिवार को गृहमंत्रालय की ओर से अनलॉक-4 को लेकर गाइडलाइन जारी की गई. इसके कुछ देर बाद ही उत्तराखंड सरकार ने भी राज्य में एंट्री के नियम को बदला है. अब उत्तराखंड में कोई भी आ सकता है. पहले एक दिन में 2000 लोगों को ही एंट्री दी जा रही थी.

इसके अलावा अब उत्तराखंड आने के लिए किसी तरह के ई-पास की जरूरत भी नहीं है हालांकि लोगों को स्मार्ट सिटी देहरादून पोर्टल से पंजीकरण करना होगा. इसमें किसी भी प्रकार के अप्रूवल की जरूरत नहीं होगी.

आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास विभाग के प्रभारी सचिव एसए मुरुगेशन ने दो अलग-अलग आदेश जारी किए. पहले आदेश में यह स्पष्ट कर दिया गया कि प्रदेश में आने वाले यात्रियों की संख्या को लेकर कोई रोकटोक नहीं होगी. राज्य में बाहर से आने वाले लोगों को स्मार्ट सिटी की वेबसाइट पर अनिवार्य रूप से पंजीकरण कराना होगा.

बॉर्डर चेक पोस्ट पर पंजीकरण दस्तावेज दिखाने की शर्त पहले की तरह कायम रहेगी. इसके पीछे कारण यह है कि प्रदेश में बाहर से आने वाला व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो आसानी से संपर्कों की तलाश की जा सके.

बता दें कि इससे पहले इससे पहले कोरोना की आरटी-पीसीआर जांच कराए बगैर प्रतिदिन केवल दो हजार व्यक्तियों को ही प्रवेश की अनुमति देने की व्यवस्था लागू थी. इसके अतिरिक्त सभी जिलाधिकारियों को अवसादग्रस्त या मानसिक रूप से परेशान 50 व्यक्तियों को अनुमति देने के लिए अधिकृत किया गया था.

इससे वरिष्ठ नागरिकों, गर्भवती महिलाओं, बच्चों, उद्योगों में कार्यरत कार्मिकों, श्रमिकों, मंत्रियों, विधायकों, सांसदों, नौकरशाहों और उद्योग सलाहकारों को मुक्त रखा गया था.

Related Articles

यूएन बैठक के दौरान पीओके कार्यकर्ता बोले- हम पाकिस्तान में होने की सजा भुगत रहे हैं

जिनेवा| संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की जिनेवा में चल रही बैठक के...

अनुष्का के सम्बंध में मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया : गावस्कर

नई दिल्ली| बॉलीवुड अभिनेत्री और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर तथा भारतीय टीम के...

उत्तराखंड में मिले 928 लोग कोरोना पॉजिटिव, 13 लोगों की मौत-संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 45 हजार के पार

शुक्रवार को उत्तराखंड में 928 लोग कोरोनावायरस संक्रमित मिले हैं और...

भाजपा कार्यकर्ताओं ने पप्पू यादव की पार्टी के लोगों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा, देखें-वीडियो

पटना| शुक्रवार को चुनाव आयोग जिस समय बिहार विधानसभा चुनाव के लिए...

रकुल प्रीत ने कबूल की रिया चक्रवर्ती संग ड्रग चैट की बात, लेकिन ड्रग्स लेने की बात से किया इंकार

शुक्रवार को (25 सितंबर) ड्रग मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने...

हरीश रावत की टिप्पणी पर रेखा का पलटवार, कोई भी आरोप साबित हुआ तो राजनीतिक जीवन से संन्यास ले लूंगी

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के आरोप पर महिला सशक्तीकरण एवं...

उत्तराखंड में जल्द लग सकते हैं मेडिसन एटीएम

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश में चिकित्सा के क्षेत्र में...

Latest Updates

बिहार चुनाव में राजनीतिक दलों के नेताओं की वर्चुअल सियासत में उलझेगा देसी वोटर

बिहार एक ऐसा राज्य है जो अपने देसी अंदाज को लेकर पूरे विश्व में प्रसिद्ध है. यहां के...

भाजपा कार्यकर्ताओं ने पप्पू यादव की पार्टी के लोगों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा, देखें-वीडियो

पटना| शुक्रवार को चुनाव आयोग जिस समय बिहार विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर रहा था उस समय पटना...

रकुल प्रीत ने कबूल की रिया चक्रवर्ती संग ड्रग चैट की बात, लेकिन ड्रग्स लेने की बात से किया इंकार

शुक्रवार को (25 सितंबर) ड्रग मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने एक्ट्रेस रकुल प्रीत सिंह से पूछताछ की.

अन्य खबरें

बिहार चुनाव में राजनीतिक दलों के नेताओं की वर्चुअल सियासत में उलझेगा देसी वोटर

बिहार एक ऐसा राज्य है जो अपने देसी अंदाज को लेकर पूरे विश्व में प्रसिद्ध है. यहां के...

भाजपा कार्यकर्ताओं ने पप्पू यादव की पार्टी के लोगों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा, देखें-वीडियो

पटना| शुक्रवार को चुनाव आयोग जिस समय बिहार विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर रहा था उस समय पटना...

हरीश रावत की टिप्पणी पर रेखा का पलटवार, कोई भी आरोप साबित हुआ तो राजनीतिक जीवन से संन्यास ले लूंगी

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के आरोप पर महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्य ने पटलवार किया है.

बिहार विधानसभा चुनाव तारीखों का ऐलान, तीन चरणों में होंगे चुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की तारीखों का ऐलान हो गया है. चुनाव आयोग ने बिहार में तीन चरणों में चुनाव कराने...

विपक्षी नेताओं के सदन के बहिष्कार का भाजपा सरकार ने उठाया पूरा फायदा

कोरोना काल के बीच शुरू हुआ मानसून सत्र तय समय से पहले खत्म हो गया. बुधवार को राज्यसभा...

संसद में केंद्र सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने के लिए नहीं थी गंभीर

दस दिनों के मानसून सत्र में भाजपा सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने से दूर भागती रही है.