पैंगोंग इलाके में भारत की सिर्फ एक कार्रवाई, डरा चीन और बदला सुर

चीन की तरफ से 29-30 अगस्त को पैंगोंग इलाके में दुस्साहस की गई थी. लेकिन इस दफा उनकी नापाक साजिश नाकाम हो गई. भारतीय सैनिकों ने न केवल चीनी सैनिकों को खदेड़ दिया बल्कि पैंगोंग के दक्षिण किनारे स्थित स्ट्रैटिजिक हाइट को अपने कब्जे में ले लिया. चीन की जब यह चाल नाकाम हो गई तो चीनी मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने ट्वीट किया जिसे जानना और समझना जरूरी है.

ग्लोबल टाइम्स अपने ट्वीट में लिखता है कि दोनों देशों के बीत सीमाओं को रेखांकन नहीं हुआ है और विवाद के पीछे यह एक बड़ी वजह है. चीन अपनी संप्रुभता की दृढ़ता से सुरक्षा करेगा. इसके साथ ही वो भारत के साथ सभी मुद्दों को संवाद के जरिए सुलझाने के लिए तैयार है. अब सवाल यह है कि चीनी सरकार या फौज की मंशा पर किस हद तक विश्वास किया जा सकता है. क्या यह सिर्फ चाल है जिसके जरिए भारत को दुविधा में डालने की कोशिश की जा रही है या वास्तव में चीन को लगने लगा है कि अब टकराव के रास्ते से भारत के साथ आगे का रिश्ता निभाना आसान नहीं होगा.

जानकार कहते हैं कि अगर आप भारत और चीन की सीमा देखें तो निश्चित तौर दोनों देशों के दावे में मनोविज्ञान काम करता है. एक देश को लगता है कि उसका दावा ज्यादा सही है तो दूसरे को उसके ठीक उलट लगता है. लेकिन अगर मौजूदा तनाव की बात करें तो इसके लिए चीन जिम्मेदार है.

अगर अप्रैल से देखें उसमें भी 15-16 जून के बाद हालात में बदलाव आया है. चीन को यकीन नहीं था कि भारत की तरफ से इस हद तक जवाबी कार्रवाई होगी. अब चीन को लगने लगा है कि भारत किसी भी स्तर पर झुकने के लिए तैयार नहीं है तो वो अपने रुख में कभी नरमी कभी गरमी दिखा रहा है.

Related Articles

अंतरराष्ट्रीय स्तर तक फैला है रिया चक्रवर्ती का ड्रग्स कनेक्शन, एनसीबी चीफ का दावा

मुंबई| बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच के...

अगर मार्शल नहीं होते तो उप सभापति को सांसद चोट पहुंचा देते: रविशंकर प्रसाद

राज्यसभा में अमर्यादित आचरण को लेकर तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन...

कोरोना के कारण भर्ती प्रक्रियाओं में विलम्ब न हो: सीएम रावत

सीएम रावत ने भर्ती प्रक्रियाओं को निर्धारित टाईम टेबल में सुनिश्चित करने...

उत्तराखंड में कोरोना के 814 नए मामले आए सामने, संक्रमित मरीजों की संख्या 41000 के पार

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है. हालांकि,...

गूगल पे ने शुरू की ‘टैप टु पे’ सुविधा, जानें कैसे करें इस्तेमाल

सोमवार को गूगल पे ने अपने प्लेटफॉर्म पर टोकनाइजेशन को लागू करने...

Navratri 2020: कब से शुरू है शारदीय नवरात्रि, जानें चौकी स्थापना से नवमी तक का कार्यक्रम

पितृपक्ष समाप्त होने के साथ ही शारदीय नवरात्रि शुरू हो जाते...

संसद परिसर में धरने पर बैठीं ‘महाभारत’ फेम रूपा गांगुली, लगाई महिला सुरक्षा की गुहार

मुंबई| फिल्म डायरेक्टर अनुराग कश्यप पर लगे यौन शोषण का मुद्दा...

Latest Updates

अगर मार्शल नहीं होते तो उप सभापति को सांसद चोट पहुंचा देते: रविशंकर प्रसाद

राज्यसभा में अमर्यादित आचरण को लेकर तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन और आम आदमी पार्टी के संजय सिंह सहित विपक्ष...

कोरोना के कारण भर्ती प्रक्रियाओं में विलम्ब न हो: सीएम रावत

सीएम रावत ने भर्ती प्रक्रियाओं को निर्धारित टाईम टेबल में सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना के लिए...

उत्तराखंड में कोरोना के 814 नए मामले आए सामने, संक्रमित मरीजों की संख्या 41000 के पार

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है. हालांकि, स्वस्थ होने वाले मरीजों का आंकड़ा राहत पहुंचा रहा है.

अन्य खबरें

निलंबित सांसद रात भर संसद के पास देंगे धरना, संजय सिंह ने घर से मंगवाया तकिया-बिस्तर: सूत्र

संसद के मॉनसून सत्र का सोमवार को 8वां दिन है. किसान बिल को लेकर सरकार और विपक्ष की तनातनी आज...

बिहार चुनाव में ओवैसी की एंट्री, कुछ के लिए फायदा तो कुछ के लिए नुकसान

बिहार विधानसभा चुनाव में एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की एंट्री हुई है. बिहार की जनता को लुभाने के...

जबरदस्त हंगामे के बीच राज्यसभा से पारित हुआ कृषि बिल, सांसदों ने रूल बुक फाड़ी और माइक तोड़ा

नई दिल्ली| राज्यसभा में कृषि बिल 2020 पर चर्चा के दौरान रविवार को जबरदस्त हंगामा हुआ. हंगामे की वजह से राज्यसभा...

राज्यसभा में बिल पास कराने के लिए मोदी सरकार को अभी भी अन्य दलों से करनी पड़ रही है ‘जी हुजूरी’

पिछले तीन दिनों से केंद्र की भाजपा सरकार एक बार फिर परेशान है. मोदी सरकार की परेशानी का बड़ा कारण राज्यसभा में...

कृषि विधेयक पास कराना सरकार के लिए चुनौती, विरोध में केजरीवाल ने की ये अपील

नई दिल्ली| लोकसभा में कृषि विधेयकों के पारित होने के बाद अब इस विधेयक को राज्यसभा में पेश किया जा सकता है...

उद्धव-आदित्य और सुप्रिया सुले की बढ़ी मुश्किलें, चुनावी हलफनामे में संपत्ति और देनदारी की गलत जानकारी देने का आरोप

मुंबई| महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे , उनके बेटे आदित्य ठाकरे और एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले फिलहाल मुश्किल में...