आपके स्‍मार्टफोन में मौजूद चीनी ऐप्‍स पर ऐसे लागू होगा बैन, जानिए इससे जुड़ी जरूरी बातें


नई दिल्‍ली|… बुधवार को केंद्र सरकार ने भारत की रक्षा, ​सुरक्षा, संप्रभुता और अखंडता को जोखिम का हवाला देते हुए चीन के 118 ऐप्‍स को बैन कर दिया है. इनमें पबजी , राइज ऑफ किंगडम , डैंक टैंक समेत कुछ गेमिंग ऐप्‍स भारत में काफी पॉपुलर हैं. इसके अलावा मोबाइल को हैंग होने से बचाने के लिए इस्‍तेमाल किया जाने वाला क्‍लीनर-फोन बूस्‍टर ऐप पर भी रोक लगा दी गई है. आइए जानते हैं कि चीनी ऐप्स के प्रतिबंध को कैसे लागू किया जाएगा.

चीन के प्रतिबंधित ऐप्‍स को ब्लॉक करने के लिए इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स (ISP) को निर्देश दिए जाएंगे, जिसके लिए जल्द उन्हें नोटिफिकेशन भेजा जाएगा. यूजर्स को जल्द ही एक मैसेज देखने को मिल सकता है, जिसमें कहा जाएगा कि सरकार के अनुरोध पर ऐप्स के एक्सेस पर बैन लगा दिया गया है.

वहीं, ऐप्‍स को क्लिक करने पर नेटवर्क एरर जैसे मैसेज दिखाई देने लगेंगे. प्रतिबंध पबजी और राइज ऑफ किंगडम समेत लाइव फीड की जरूरत वाले ऐप्‍स को प्रभावित करेगा. यूजर्स अभी भी उन ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं, जिन्हें इस्‍तेमाल करने के लिए एक्टिव इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत नहीं पड़ती है. आने वाले समय में ऐप के डाउनलोड नंबर को गूगल प्ले स्टोर और ऐपल स्टोर से हटा दिया जाएगा.

केंद्रीय सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने बताया कि इंफॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी एक्‍ट (IT Act) की धारा-69A और इंफॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी (प्रोसीजर एंड सेफगार्ड्स फॉर ब्‍लॉकिंग ऑफ एक्‍सेस ऑफ इंफॉर्मेशन बाई पब्लिक) रूल्‍स, 2009 के संबंधित प्रावधान विदेशी ऐप्‍स पर प्रतिबंध लगाने की शक्तियां प्रदान करता है. केंद्र की ओर से कहा गया है कि इन ऐप्स के खिलाफ यूजर्स के डाटा के गलत इस्‍तेमाल और ऐप्‍स के दुरुपयोग की लगातार शिकायतें मिल रही थीं.

इन ऐप्‍स से देश की रक्षा, ​सुरक्षा, संप्रभुता और अखंडता के लिए खतरा था. केंद्र ने कहा कि इन ऐप्स का मोबाइल और नॉन-मोबाइल बेस्ड इंटरनेट डिवाइसेज में भी इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा.


सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि उसे कई सोर्सेज से मिली शिकायतों में एंड्रॉयड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कुछ मोबाइल ऐप के दुरुपयोग की रिपोर्ट शामिल हैं. इनमें कहा गया है कि ये ऐप यूजर्स का डाटा चुराकर भारत के बाहर मौजूद सर्वर को अनधिकृत तरीके से भेजते हैं.

भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति शत्रुता रखने वाले तत्वों की ओर से इन आंकड़ों को इकट्ठा करना, इनकी जांच-पड़ताल व प्रोफाइलिंग भारत की संप्रभुता और अखंडता के लिए खतरा है.

इसे रोकने के लिए आपातकालीन उपायों की जरूरत थी. केंद्र सरकार की ओर से की गई प्रतिबंध की कार्रवाई अधिक व्यापक है. यह भारत में बड़े चीनी व्यवसायों और खुद चीन के लिए चेतावनी है.

Related Articles

सीएम के ओएसडी गोपाल सिंह रावत का निधन

मंगलवार को सीएम रावत के ओएसडी गोपाल सिंह रावत का ...

केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सीएम के साथ की जल जीवन मिशन योजना की समीक्षा

मंगलवार को केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग...

उत्तराखंड में 874 नए मामले आए सामने, संक्रमित मरीजों की संख्या 42000 के पार

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है.

राष्ट्रपति चुनाव में बाइडेन की जीत चीन की जीत होगी: डोनाल्ड ट्रम्प

वॉशिंगटन| अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि, देश में...

मोदी सरकार के कृषि विधेयक ने शिवराज की बढ़ाई टेंशन, सीएम किसानों की आवभगत में जुटे

केंद्र की भाजपा सरकार ने कृषि विधेयक संसद से पारित कराकर किसानों...

बड़ी खबर: इनकम टैक्स से जुडे़ बिल को संसद से मिली मंजूरी, आपको होंगे ये फायदें

नई दिल्ली| संसद में टैक्सेशन और अन्य कानून (कुछ प्रावधानों में...

महाराष्ट्र: भिवंडी इमारत हादसे में मरने वालों की संख्या 20 पहुंची

भिवंडी| महाराष्ट्र में ठाणे जिले के भिवंडी इलाके में सोमवार को हुई...

Latest Updates

उत्तराखंड में 874 नए मामले आए सामने, संक्रमित मरीजों की संख्या 42000 के पार

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है. हालांकि, कोरोना वायरस से जंग जीतने वाले मरीजों...

राष्ट्रपति चुनाव में बाइडेन की जीत चीन की जीत होगी: डोनाल्ड ट्रम्प

वॉशिंगटन| अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि, देश में नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेटिक...

सीएम रावत एवं वन मंत्री ने झाझरा वन रेंज परिसर में उत्तराखण्ड सिटी फॉरेस्ट ‘आनन्द वन’ का लोकापर्ण किया

सीएम रावत एवं वन मंत्री डॉ. हरक सिह रावत ने झाझरा वन रेंज परिसर में उत्तराखण्ड सिटी फॉरेस्ट ‘आनन्द वन’ का लोकापर्ण...

अन्य खबरें

मोदी सरकार के कृषि विधेयक ने शिवराज की बढ़ाई टेंशन, सीएम किसानों की आवभगत में जुटे

केंद्र की भाजपा सरकार ने कृषि विधेयक संसद से पारित कराकर किसानों के साथ मध्य प्रदेश 'शिवराज सिंह चौहान सरकार की भी...

संसद के बाद अब सड़क पर भी भाजपा-विपक्ष में किसानों का नेता बनने की छिड़ी सियासी जंग

कमाल की राजनीति है. कोई भी राजनीतिक दल देश की जनता के सामने अपने आपको सबसे बड़ा हितेषी बताने के लिए तमाम...

उत्तराखंड में बढ़ा ‘आप’ का कुनबा सैकड़ों समर्थकों के साथ जितेंद्र मलिक ने ज्वाइन की पार्टी

उत्तराखंड में साल 2022 का चुनावी रण दिलचस्प होने वाला है. विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी आम आदमी पार्टी हर स्तर...

ब्रेकिंग: राज्यसभा से निलंबित सभी 8 सांसदों का धरना ख़त्म

राज्यसभा से निलंबित किए जाने वाले सांसदों ने अपना धरना खत्म कर दिया है.विपक्ष के वाकआउट के बाद धरने पर बैठे विपक्षी...

सांसदों का निलंबन वापस होने तक विपक्ष कार्यवाही का बहिष्कार करेगा: गुलाम नबी

नयी दिल्ली| राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने मंगलवार को कहा कि जब तक उच्च सदन के आठ सदस्यों का,...

निलंबित सांसद रात भर संसद के पास देंगे धरना, संजय सिंह ने घर से मंगवाया तकिया-बिस्तर: सूत्र

संसद के मॉनसून सत्र का सोमवार को 8वां दिन है. किसान बिल को लेकर सरकार और विपक्ष की तनातनी आज...