बीजेपी एमएलए यौन शोषण-ब्लैकमेलिंग ममला: आरोपित महिला ने बार-बार बदले बयान, जल्द चार्जशीट दाखिल कर सकती है पुलिस

देहरादून| उत्तराखंड की राजनीति को गरमाने वाले बीजेपी विधायक महेश नेगी सेक्स स्कैंडल केस में पुलिस जल्द ही चार्जशीट दाखिल कर सकती है. पुलिस सूत्रों के अनुसार जांच अंतिम चरण में है और इसमें चौंकाने वाली बातें सामने आ सकती हैं. मिली जानकारी के अनुसार अब तक महिला के दावों में दम नज़र नहीं आया है और बार-बार बयान बदलने की वजह से वह मुश्किल में आ सकती है. दूसरी ओर विधायक की पत्नी ने ब्लैकमेलिंग के सबूत पुलिस को दिए हैं और वह केस का टर्निंग पॉएंट हो सकता है.

बता दें कि 13 अगस्त को भाजपा विधायक महेश नेगी की पत्नी ने देहरादून पुलिस को शिकायत की थी कि एक महिला ने विधायक को यौन शोषण केस में फंसाने की धमकी देते हुए 5 करोड़ रुपये की डिमांड की है.

इस पर पुलिस ने महिला को 14 अगस्त को थाने में बुलाया और पूछताछ की. इसके बाद आरोपित महिला ने 16 अगस्त को ब्लैकमेलिंग मामले में आरोपित विधायक पर यौन शोषण का आरोप लगाया और दावा किया कि उसका बच्चे के पिता भाजपा विधायक महेश नेगी हैं.

इस केस में पुलिस ने आरोपित महिला को करीब 6 बार थाने में बुलाकर उसके बयान दर्ज किए. साथ ही उसकी मां और भाभी के भी कलमबद्ध बयान दर्ज किए. पुलिस ने इस मामले में आरोपित महिला के पति को बुलाया लेकिन वह बयान दर्ज करवाने नहीं आए.

ब्लैकमेलिंग मामले में पुलिस ने विधायक से दो बार पूछताछ की और विधायक की पत्नी के साथ ही विधायक के बेटे के भी कलमबद्ध बयान दर्ज किए. विधायक की पत्नी ने ब्लैकमेलिंग के साक्ष्य पुलिस को दिए जिनमें महिला ने पैसों की मांग की है.

पुलिस सूत्रों के अनुसार आरोपित महिला ने पूछताछ के दौरान लगातार बयान बदले. महिला ने यौन शोषण मामले पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज न करने को लेकर कोर्ट में 156-3 के तहत मुकदमा दर्ज करवाने की मांग रखी और जो तथ्य दिए अब पुलिस उन्हीं को उसके बयान के तौर पर ले रही है. इस मामले में देहरादून के एसएसपी डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने कहा कि तफ्तीश अंतिम चरण में है और पुलिस जल्द ही जांच रिपोर्ट कोर्ट में पेश करेगी.

इस मामले में बाल आयोग ने भी पुलिस से बच्चे और पिता के डीएनए मामले में रिपोर्ट मांगी थी, जो पुलिस ने आयोग को दे दी हैं. आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी ने बताया कि पुलिस के अनुसार रिपोर्ट में आया था कि जिस अस्पताल का आरोपित महिला ने नाम पुलिस को बताया था उसमें तो डीएनए जांच हुई ही नहीं थी. ऐसे में सवाल उठता है कि जब डीएनए जांच हुई ही नहीं महिला ने क्यों कहा कि बच्चा उसके पति का नहीं है?

यौन शोषण के आरोप में महिला ने भाजपा विधायक के ख़लाफ़ महिला आयोग में भी एप्लिकेशन दी थी लेकिन आयोग के लगातार बुलाये जाने पर भी आरोपित महिला आयोग के सामने भी अपनी बात रखने के लिए नहीं पहुंची.

अब आरोपित महिला ने हाईकोर्ट में एक अपील की है जिसमें उसने अपनी गिरफ़्तारी पर स्टे लगाने के साथ ही विधायक और बच्चे का डीएनए मैच करवाने की मांग की है. इस मांग पर अभी कोर्ट में सुनवाई होनी है.

साभार-न्यूज़ 18

Related Articles

उत्तराखंड में 874 नए मामले आए सामने, संक्रमित मरीजों की संख्या 42000 के पार

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है.

राष्ट्रपति चुनाव में बाइडेन की जीत चीन की जीत होगी: डोनाल्ड ट्रम्प

वॉशिंगटन| अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि, देश में...

मोदी सरकार के कृषि विधेयक ने शिवराज की बढ़ाई टेंशन, सीएम किसानों की आवभगत में जुटे

केंद्र की भाजपा सरकार ने कृषि विधेयक संसद से पारित कराकर किसानों...

बड़ी खबर: इनकम टैक्स से जुडे़ बिल को संसद से मिली मंजूरी, आपको होंगे ये फायदें

नई दिल्ली| संसद में टैक्सेशन और अन्य कानून (कुछ प्रावधानों में...

महाराष्ट्र: भिवंडी इमारत हादसे में मरने वालों की संख्या 20 पहुंची

भिवंडी| महाराष्ट्र में ठाणे जिले के भिवंडी इलाके में सोमवार को हुई...

रिया की ज्यूडिशियल कस्टडी 6 अक्टूबर तक बढ़ी

सुशांत मामले की जांच के सिलसिले में ड्रग्स केस में गिरफ्तार रिया...

Latest Updates

सीएम रावत एवं वन मंत्री ने झाझरा वन रेंज परिसर में उत्तराखण्ड सिटी फॉरेस्ट ‘आनन्द वन’ का लोकापर्ण किया

सीएम रावत एवं वन मंत्री डॉ. हरक सिह रावत ने झाझरा वन रेंज परिसर में उत्तराखण्ड सिटी फॉरेस्ट ‘आनन्द वन’ का लोकापर्ण...

मोदी सरकार के कृषि विधेयक ने शिवराज की बढ़ाई टेंशन, सीएम किसानों की आवभगत में जुटे

केंद्र की भाजपा सरकार ने कृषि विधेयक संसद से पारित कराकर किसानों के साथ मध्य प्रदेश 'शिवराज सिंह चौहान सरकार की भी...

बड़ी खबर: इनकम टैक्स से जुडे़ बिल को संसद से मिली मंजूरी, आपको होंगे ये फायदें

नई दिल्ली| संसद में टैक्सेशन और अन्य कानून (कुछ प्रावधानों में राहत और संशोधन) विधेयक, 2020 को मंजूरी दे दी है....

अन्य खबरें

मोदी सरकार के कृषि विधेयक ने शिवराज की बढ़ाई टेंशन, सीएम किसानों की आवभगत में जुटे

केंद्र की भाजपा सरकार ने कृषि विधेयक संसद से पारित कराकर किसानों के साथ मध्य प्रदेश 'शिवराज सिंह चौहान सरकार की भी...

संसद के बाद अब सड़क पर भी भाजपा-विपक्ष में किसानों का नेता बनने की छिड़ी सियासी जंग

कमाल की राजनीति है. कोई भी राजनीतिक दल देश की जनता के सामने अपने आपको सबसे बड़ा हितेषी बताने के लिए तमाम...

उत्तराखंड में बढ़ा ‘आप’ का कुनबा सैकड़ों समर्थकों के साथ जितेंद्र मलिक ने ज्वाइन की पार्टी

उत्तराखंड में साल 2022 का चुनावी रण दिलचस्प होने वाला है. विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी आम आदमी पार्टी हर स्तर...

ब्रेकिंग: राज्यसभा से निलंबित सभी 8 सांसदों का धरना ख़त्म

राज्यसभा से निलंबित किए जाने वाले सांसदों ने अपना धरना खत्म कर दिया है.विपक्ष के वाकआउट के बाद धरने पर बैठे विपक्षी...

सांसदों का निलंबन वापस होने तक विपक्ष कार्यवाही का बहिष्कार करेगा: गुलाम नबी

नयी दिल्ली| राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने मंगलवार को कहा कि जब तक उच्च सदन के आठ सदस्यों का,...

निलंबित सांसद रात भर संसद के पास देंगे धरना, संजय सिंह ने घर से मंगवाया तकिया-बिस्तर: सूत्र

संसद के मॉनसून सत्र का सोमवार को 8वां दिन है. किसान बिल को लेकर सरकार और विपक्ष की तनातनी आज...