हाईकोर्ट आदेश के बाद रिपोर्ट दर्ज करने से अच्छा होता सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत भाजपा विधायक पर एक्शन लेते


कुछ फैसले और निर्णय ऐसे होते हैं जो इंसान को जल्दी लेने चाहिए. देर से लिए गए फैसले अक्सर ‘गहरे जख्म’ देते हैं. एक बात तीर कमान से निकल गया तो वह वापस नहीं आता. ऐसी ही एक घटना उत्तराखंड में भाजपा की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार के खिलाफ रविवार को देखने को मिली. सीएम रावत फैसले लेने की ‘सोचते ही रह गए’, उससे पहले उत्तराखंड हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया. अदालत के इस फैसले के बाद उत्तराखंड की भाजपा सरकार की किरकिरी शुरू हो गई है. आइए आपको बताते हैं क्या है पूरा मामला. पिछले एक महीने से देवभूमि की सियासत में भाजपा विधायक महेश नेगी को लेकर सियासत गरमाई हुई है.

विधायक नेगी पर एक महिला ने रेप का आरोप लगाया था. विधायक पर रेप के आरोप लगने के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह लगातार अनदेखी करते चले आ रहे थे. आरोपी विधायक के पक्षपात करने को लेकर कई बार विपक्षी नेताओं ने सत्तारूढ़ भाजपा सरकार पर हमला भी बोला था, लेकिन मुख्यमंत्री रावत ने इन आरोपों को दरकिनार कर दिया था. विपक्षी नेताओं की मांग थी कि मुख्यमंत्री अपने भाजपा विधायक महेश नेगी पर मुकदमा दर्ज कराएं. आखिरकार नैनीताल हाईकोर्ट के आदेश के बाद सीएम रावत की स्थिति उस समय शर्मसार हो गई, जब उसके विधायक के खिलाफ रेप के मामले में उत्तराखंड शासन को केस दर्ज करने के लिए पुलिस को आदेश देने पड़े.

हाईकोर्ट के आदेश पर बीजेपी विधायक महेश नेगी पर मुकदमा दर्ज किया गया है. यही नहीं भाजपा विधायक की पत्नी को भी रेप केस में आरोपी बनाया गया है. यहां हम आपको बता दें कि एक महिला की ओर से विधायक महेश नेगी पर रेप का आरोप लगाया गया था, जिसके बाद उत्तराखंड हाईकोर्ट ने मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए गए.

महिला ने विधायक के खिलाफ कोर्ट में मुकदमा दर्ज करने के लिए प्रार्थना पत्र दिया था
ब्लैकमेलिंग के आरोपों में घिरी महिला ने अल्मोड़ा के द्वारहाट से भाजपा विधायक महेश नेगी और उनकी पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया था. बता दें कि एक युवती ने आरोप लगाया था कि महेश नेगी ने उसके साथ दुष्कर्म किया और विधायक से उनकी बेटी है. लिहाजा विधायक बच्ची को पिता होने के साथ ही अन्य अधिकार दे. देहरादून पुलिस मामले में पीड़िता की ही गिरफ्तारी की दिशा में बढ़ रही थी.

दूसरी तरफ, पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया. इस पर पीड़िता ने हाईकोर्ट की शरण ली. कोर्ट ने पीड़िता की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी. साथ ही विधायक और उनकी पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दे दिए हैं. उससे पहले पीड़िता ने महिला आयोग तक शिकायत की. जबकि बाल आयोग ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए पुलिस को जांच के आदेश दिए थे. जिसमें डीएनए रिपोर्ट को लेकर हुए खुलासे के बाद कार्रवाई के आदेश हुए थे. इसके बावजूद त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार अपने विधायक को बचाती रही.


भाजपा विधायक के मामले में कांग्रेस, आम आदमी पार्टी ने त्रिवेंद्र सरकार को घेरा था
भाजपा विधायक महेश नेगी पर कार्रवाई को लेकर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पर विपक्षी पार्टियों का जबरदस्त दबाव था. लेकिन सीएम रावत ने इस मामले को ‘बेहद ही हल्के रूप में लिया’.‌ अपने विधायक पर रिपोर्ट दर्ज न कराने को लेकर आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने मुख्यमंत्री रावत के खिलाफ सड़कों पर उतरकर जबरदस्त विरोध-प्रदर्शन किया था. आम आदमी पार्टी के नेताओं ने तो इसे वर्ष 2022 में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव में मुद्दा भी बनाने का एलान कर डाला था.

दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी ने भी एक सितंबर को आरोपी भाजपा विधायक के खिलाफ उत्तराखंड के सभी 13 जिला मुख्यालयों पर भाजपा सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किए थे. यही नहीं भाजपा विधायक पर राज्य में सियासत भी गर्म चली आ रही थी. इसके बावजूद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने विधायक का बचाव ही करते रहे ‌. अब जब हाईकोर्ट के आदेश पर आरोपित भाजपा विधायक पर मुकदमा दर्ज कर लिया है तब आम आदमी पार्टी और कांग्रेस को त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार को घेरने का एक और मौका मिल गया है‌.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

चुनाव से पहले विवादों में घिरे डोनाल्ड ट्रंप, पूर्व मॉडल ने लगाया यौन शोषण का आरोप

वॉशिंगटन|... अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ एक पूर्व मॉडल...

कोरोना कहर के बीच फैसला, पांच अक्टूबर तक नहीं खुलेंगे दिल्ली के स्कूल

कोरोना के बढ़ते कहर के बीच सबकी निगाह इस बात पर टिकी...

उत्तराखंड: सरकार के 3.5 साल पूरे होने पर सीएम रावत बोले, 85 फीसदी वादे हुए पूरे

देहरादून| उत्तराखंड सरकार के 3.5 साल पूरे होने पर आज (18 सितंबर)...

केंद्र से लेकर योगी सरकार तक युवाओं के आक्रोश पर विपक्ष की चमक रही राजनीति

केंद्र से लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ युवाओं और...

संसद की कार्यवाही के दौरान पीएम केयर्स फंड पर पक्ष और विपक्ष के नेता भिड़े

मानसून सत्र में पक्ष और विपक्ष के बीच घमासान जारी है. गुरुवार...

अकाली दल एनडीए से अलग हुई या पंजाब चुनावों के लिए भाजपा से किया समझौता !

एनडीए का सबसे पुराना घटक दल शिरोमणि अकाली दल भाजपा सरकार के...

गूगल ने प्ले स्टोर से फेमस पेमेंट एप पेटीएम को हटाया, जानिए कारण

गूगल ने प्ले स्टोर से फेमस पेमेंट एप पेटीएम को हटा दिया...

पीएम मोदी ने कोसी रेल महासेतु समेत 12 रेल परियोजनाओं का किया उद्घाटन, 86 साल बाद पूरा हुआ सपना

शुक्रवार को पीएम मोदी ने बिहार में ‘ऐतिहासिक’ कोसी रेल महासेतु...

यूपी विधानसभा उपचुनाव: कांग्रेस-बसपा के चुनावी समर में उतरने से दिलचस्प होगा मुकबला

लखनऊ| यूपी के आठ विधानसभा क्षेत्रों में होंने वाले उप चुनावों में...

Latest Updates

केंद्र से लेकर योगी सरकार तक युवाओं के आक्रोश पर विपक्ष की चमक रही राजनीति

केंद्र से लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ युवाओं और बेरोजगारों का आक्रोश अब भारी पड़ने लगा है. 'भाजपा सरकार...

संसद की कार्यवाही के दौरान पीएम केयर्स फंड पर पक्ष और विपक्ष के नेता भिड़े

मानसून सत्र में पक्ष और विपक्ष के बीच घमासान जारी है. गुरुवार को कृषि विधेयक पर कांग्रेसी सांसदों ने वॉकआउट किया था....

अकाली दल एनडीए से अलग हुई या पंजाब चुनावों के लिए भाजपा से किया समझौता !

एनडीए का सबसे पुराना घटक दल शिरोमणि अकाली दल भाजपा सरकार के खिलाफ विरोध में उतरना सियासी पंडितों को भी समझ नहीं...

अन्य खबरें

केंद्र से लेकर योगी सरकार तक युवाओं के आक्रोश पर विपक्ष की चमक रही राजनीति

केंद्र से लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ युवाओं और बेरोजगारों का आक्रोश अब भारी पड़ने लगा है. 'भाजपा सरकार...

अकाली दल एनडीए से अलग हुई या पंजाब चुनावों के लिए भाजपा से किया समझौता !

एनडीए का सबसे पुराना घटक दल शिरोमणि अकाली दल भाजपा सरकार के खिलाफ विरोध में उतरना सियासी पंडितों को भी समझ नहीं...

यूपी विधानसभा उपचुनाव: कांग्रेस-बसपा के चुनावी समर में उतरने से दिलचस्प होगा मुकबला

लखनऊ| यूपी के आठ विधानसभा क्षेत्रों में होंने वाले उप चुनावों में कांग्रेस ने कमेटी बनाकर तो बसपा ने उम्मीदवारों के चयन...

हरसिमरत बादल का इस्तीफा राष्ट्रपति ने स्वीकार किया, तोमर को मिला अतिरिक्त प्रभार

नई दिल्ली| शिरोमणि अकाली दल (शिअद) की नेता एवं खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कृषि से जुड़े तीन विधेयकों...

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर का इस्तीफा

नई दिल्ली| शिरोमणी अकाली दल की नेता और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे...

कोरोना-भाभीजी के पापड़ में क्या है कनेक्शन, संजय राउत ने कसा तंज

देश में कोरोना वायरस के सिलसिले में 10 रेड जोन हैं जिसमें मुंबई भी शामिल है. इसके साथ साथ महाराष्ट्र में कोरोना...