उत्तराखंड का दिव्यांग सलाहकार बोर्ड होगा भंग, दो साल से अधिकारियों ने नहीं ली मीटिंग


देहरादून| उत्तराखंड में समाज कल्याण विभाग की कार्यप्रणाली हमेशा से सवालों के घेरे में रही है. स्कॉलरशिप स्कैम के बाद तो हालात यहां तक पहुंच गये हैं कि अधिकारी किसी भी काम को करने में कन्नी काटते नजर आते हैं. राज्य में दिव्यांगों के हित के लिए कागजों में बनाए गये आयोग की कोई सुध लेने वाला नहीं है. राज्य में दिव्यांगों के कल्याण के लिए राज्य दिव्यांग सलाहकार बोर्ड के गठन के अगल महीने अक्टूबर में दो साल पूरे हो जाएंगे. लेकिन आलम यह है कि इस आयोग कि अभी तक बैठ ही नहां हुई है. इसके कैसे पता चलेगा कि आखिर दिव्यांगों के लिए कौन सी कल्याणकारी योजनाएं हैं और उनके विकास के लिए किस तरह के काम करने हैं.

आयोग के सदस्यों का आरोप है कि नियम के अनुसार हर 6 महीने में एक बार राज्य दिव्यांग सलाहकार बोर्ड की बैठक का प्रावधान है, लेकिन 2 साल बीतने के बाद भी राज्य दिव्यांग सलाहकार बोर्ड की एक भी बैठक नहीं हो पाई है. जबकि बोर्ड के सदस्यों ने कई बार बैठक कराने की मांग बोर्ड के अध्यक्ष समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य से की है. कई बार मांग करने के बावजूद भी बोर्ड की बैठक तय समय पर नहीं बुलाई जा रही है, जिस पर अब सभी बोर्ड सदस्यों ने नाराजगी जताई है.

बोर्ड के सदस्यों ने बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को इसे लेकर ज्ञापन भी सौंपा था. सदस्यों ने बोर्ड भंग करने और सदस्य पद से इस्तीफा देने की चेतावनी दी थी जिसका मुख्यमंत्री कार्यालय ने संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री के सलाहकार धीरेन्द्र पंवार ने बोर्ड सदस्य अमित डोभाल से बात कर जल्द बोर्ड बैठक कराने और बोर्ड का एक पूर्णकालिक उपाध्यक्ष बनाने का आश्वासन दिया भी दिया था, लेकिन अब भी हालत जस के तस हैं, न मीटिंग हुई न ही दिव्यांगों के हित का ध्यान रखा जा रहा है. इसके बाद सदस्यों ने फिर सामूहिक रूप से इस्तीफे के मूल में दिखाई दे रहे हैं. ऐसा करने से आयोग भंग हो जाएगा.

उत्तराखंड में दिव्यांग सलाहकार बोर्ड का गठन दिव्यांगों की बेहतरी के लिए किया गया था. आयोग दिव्यांगों की सुविधा पेंशन, प्रमाणपत्र वगैरह में आ रही परेशानियों को दूर करने में मदद करेगा. आयोग दिव्यांगों को ग्रामीण क्षेत्र, जिला पंचायत, विधानसभा, लोकसभा में मजबूती से दावेदारी और भागीदारी पर जोर देगा. वहीं आयोग के सदस्यो का कहना है कि जिन उद्देश्यों की पूर्ति के लिए आयोग की स्थापना की गई थी वह कछ भी नहीं हो रहा है. क्योंकि आयोग की बैठक होने के बाद ही आगे काम की रूपरेखा बनाइ जाएगी.

साभार-न्यूज़ 18

- Advertisement -

More Today

एम्‍स की र‍िपोर्ट में सुशांत स‍िंह राजपूत की मौत पर हुए खुलासे, नहीं हुई जहर की पुष्‍ट‍ि

सुशांत सिंह राजपूत को लेकर एम्‍स ने अपनी र‍िपोर्ट सीबीआई को सौंपी...

हरिद्वार :पीएम मोदी ने नमामि गंगे के अंतर्गत 521 करोड़ की आठ परियोजनाओं का लोकार्पण किया

पीएम मोदी ने नमामि गंगे के अंतर्गत उत्तराखण्ड में 521 करोड़ रूपये...

बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन से एक और तीसरा मोर्चा के निकलने की छटपटाहटें

हमारे देश में पुरानी कहावत है उठी पैंठ (बाजार) सात दिन बाद...

आम आदमी पार्टी ने उत्तराखंड 2022 चुनाव के लिए अभी से शुरू की तैयारी, तलाश रही पहाड़ी चेहरा

देहरादून| 2022 में होने वाले उत्तराखंड विधानसभा चुनाव तैयारी बीजेपी तो...

Latest Updates

चीन को सबक सिखाने के लिए भारत का सहयोग करेगा ऑस्ट्रेलिया

केनबरा|... पिछले कई दिनों से चीन के संबंध काफी देशों के साथ अच्छे नहीं चल रहे हैं. इन देशों में एक नाम...

अब हर समय साथ नहीं रखने होंगे गाड़ी के कागजात, 1 अक्टूबर से लागू होने वाला हैं ये नया नियम

अब वाहन चलाते हुए आपको ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी), इंश्योरेंस, पॉल्यूशन सर्टिफिकेट जैसे कागजातों को रखने की जरूरत नहीं होगी.

क्या भारत में बीत चुका कोविड-19 का चरम, जानिए क्या कहते हैं आंकड़े

नई दिल्ली| बीते 17 सितंबर को भारत में कोरोना वायरस के कुल 93,199 के सामने आए थे. ये...

अन्य खबरें

बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन से एक और तीसरा मोर्चा के निकलने की छटपटाहटें

हमारे देश में पुरानी कहावत है उठी पैंठ (बाजार) सात दिन बाद ही लगती है. 'ऐसा ही सियासी बाजार का हाल है,...

बाबरी विध्वंस केस में 30 को फैसला, आरोपी उमा भारती बोलीं- ‘जेल जाना मंजूर लेकिन जमानत नहीं लूंगी’

बीजेपी नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री उमा भारती कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद ऋषिकेश स्थित एम्स में भर्ती हुई...

सीएम नीतीश कुमार के दलित दांव से चिराग पासवान में है जबरदस्त नाराजगी

पिछले कई दिनों से चिराग पासवान सीएम नीतीश कुमार और जदयू सरकार पर हमलावर हैं. बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सीएम नीतीश...

एलजीपी आक्रामक मूड में, चिराग पासवान के सियासी सौदे से भाजपा आलाकमान टेंशन में

बिहार में भाजपा और जेडीयू विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर जैसे-जैसे एक कदम आगे बढ़ते हैं वैसे ही लोक जनशक्ति पार्टी...

हरिद्वार: गंगा को नहर घोषित करने का शासनादेश जारी करने पर पूर्व सीएम हरीश रावत को भेजा लीगल नोटिस

हरिद्वार में हरकी पैड़ी पर बह रही गंगा को नहर (स्कैप चैनल) घोषित करने का शासनादेश जारी करने पर पूर्व सीएम हरीश...

अपने गृह राज्य हिमाचल में जेपी नड्डा को नई टीम के लिए कोई नेता नहीं दिखा काबिल

आठ माह पहले जेपी नड्डा को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने पर उनका गृह राज्य हिमाचल प्रदेश झूम उठा था,...