बिहार विधानसभा चुनाव के लिए ‘शहमात’ का खेल शुरू, सीएम नीतीश कुमार ने भरी हुंकार


देश में कोरोना महामारी लंबे समय तक पैर पसारती ही रहेगी लेकिन राजनीति, सत्ता के लिए ‘शहमात’ का खेल नहीं रुकना चाहिए. इस महामारी को दरकिनार कर बिहार में विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों की ‘चौसर सजनी शुरू हो गई है’. राज्य में पिछले कई दिनों से राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई थी.‌ हालांकि अभी निर्वाचन आयोग ने राज्य विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का एलान नहीं किया है.

जनता पर अपनी पकड़ और लंबे चौड़े वादों की घोषणा करने के लिए भाजपा, जेडीयू, राष्ट्रीय जनता दल और लोक जनशक्ति पार्टी में होड़ लगी हुई है. उसी कड़ी में आज बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वर्चुअल रैली से राज्य विधानसभा चुनाव के लिए ‘शंखनाद’ बजा दिया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस हुंकार रैली को ‘निश्चय संवाद’ का नाम दिया.

रैली में नीतीश कुमार ने कोरोना काल में किए गए कामों का बखान करते हुए विपक्ष को करारा जवाब दिया. उन्होंने आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव पर भी हमला करतेेेे हुए कहा कि बिहार में अब बिजली आ गई है, इसलिए ‘लालटेन’ की जरूरत नहीं है ‌. यहां हम आपको बता दें कि लालू की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल का चुनाव चिन्ह लालटेन है, इसी को लेकर नीतीश कुमार ने उन पर हमला बोला.


सभी जातियों के नेताओं को मंच पर बैठा कर नीतीश कुमार ने खेला ‘चुनावी मास्टरस्ट्रोक’
जेडीयू ने वर्चुअल रैली के माध्यम से हर जातियों के नेताओं को मंच पर बिठाकर ‘सोशल इंजीनियरिंग का चुनावी मास्टरस्ट्रोक’ चला. जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को वर्चुअल रैली ‘निश्चय संवाद’ के माध्यम से बिहार विधानसभा चुनाव अभियान का श्रीगणेश कर दिया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जेडीयू प्रदेश मुख्यालय में नवनिर्मित कर्पूरी सभागार के मंच पर 15 नेताओं के बैठने की व्यवस्था की गई.

नीतीश कुमार ने मंच पर ऐसे नेता को जगह दी है, जिसके जरिए बिहार में सोशल इंजीनियरिंग की झलक दिखाई दे. नीतीश के साथ मंच पर ब्राह्मण, कुर्मी, दलित, भूमिहार से लेकर यादव समुदाय तक को संदेश देने की कोशिश की. यहां हम आपको बता दें कि दो दिन पहले उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने दलित राजनीति को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा था.

इसी को लेकर नीतीश कुमार ने आज मंच पर सर्वजातीय का संदेश बिहार की जनता को लुभाने का काम किया. वर्चुअल रैली में नीतीश कुमार ने कहा कि मैं कभी अपने काम का प्रचार नहीं करता. बहुत लोगों को काम कम प्रचार ज्यादा करना होता है. सही मायने में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज बिहार विधानसभा का चुनावी बिगुल फूंक कर राष्ट्रीय जनता, लोक जनशक्ति पार्टी, कांग्रेस और अपने सहयोगी दल भारतीय जनता पार्टी को भी जगा दिया है.


दलित मुद्दे पर एलजीपी और जेडीयू के बीच शुरू हुई जुबानी जंग
बिहार विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में दलित वोट हड़पने के लिए जेडीयू, लोक जनशक्ति पार्टी और बसपा में होड़ लगी हुई है.‌ कुछ दिनों पहले बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती और सीएम नीतीश कुमार के बीच जुबानी जंग हो चुकी है. अब लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान और जनता दल यूनाइटेड में घमासान जारी है. चिराग पासवान ने नीतीश कुमार के दलित दांव पर सवाल उठाया तो जेडीयू आग बबूला हो गई है. जेडीयू ने चिराग पासवान को चेतावनी दी.

जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि चिराग पासवान को ऐसे बयानों से बचना चाहिए. चिराग अगर खुद को एनडीए का हिस्सा मानते हैं तो वह नीतीश कुमार के खिलाफ बयानबाजी न करें. बीजपी के साथ हमारा गठबंधन है, एलजेपी के साथ नहीं. यहां हम आपको बता दें कि एलजेपी नेता चिराग ने नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखकर अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों से किए गए वादों को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया था.

उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति और जनजाति समुदाय के लोगों के परिजन को सरकारी नौकरी देने का नीतीश का फैसला और कुछ नहीं, बल्कि चुनावी घोषणा है. इसी मामले में जेडीयू और एलजीपी के बीच ठनी हुई है.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

राशिफल 26-09-2020: इन राशियों के लिए भाग्यशाली है आज का दिन, कार्य-व्यापार में मिलेगी सफलता

मेष-: आज आप परिवारजनों के साथ मिलकर घरेलू मामलों में महत्त्वपूर्ण विचार...

सुशांत के पिता के वकील का आरोप, आत्‍महत्‍या की जांच अब एक अलग ही दिशा में चली गई

बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत की आत्‍महत्‍या की जांच का मामला अब...

सीबीएसई 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट इस होगा घोषित

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया है कि...

यूएन बैठक के दौरान पीओके कार्यकर्ता बोले- हम पाकिस्तान में होने की सजा भुगत रहे हैं

जिनेवा| संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की जिनेवा में चल रही बैठक के...

अनुष्का के सम्बंध में मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया : गावस्कर

नई दिल्ली| बॉलीवुड अभिनेत्री और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर तथा भारतीय टीम के...

उत्तराखंड में मिले 928 लोग कोरोना पॉजिटिव, 13 लोगों की मौत-संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 45 हजार के पार

शुक्रवार को उत्तराखंड में 928 लोग कोरोनावायरस संक्रमित मिले हैं और...

Latest Updates

सीबीएसई 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट इस होगा घोषित

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया है कि कक्षा 12वीं के लिए सीबीएसई कंपार्टमेंट रिजल्ट 2020 को 10...

यूएन बैठक के दौरान पीओके कार्यकर्ता बोले- हम पाकिस्तान में होने की सजा भुगत रहे हैं

जिनेवा| संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की जिनेवा में चल रही बैठक के दौरान पीओके कार्यकर्ता मोहम्मद सज्जाद राजा संयुक्त राष्ट्र में कहा...

अनुष्का के सम्बंध में मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया : गावस्कर

नई दिल्ली| बॉलीवुड अभिनेत्री और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर तथा भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली की पत्नी अनुष्का शर्मा को लेकर दिए...

अन्य खबरें

बिहार चुनाव में राजनीतिक दलों के नेताओं की वर्चुअल सियासत में उलझेगा देसी वोटर

बिहार एक ऐसा राज्य है जो अपने देसी अंदाज को लेकर पूरे विश्व में प्रसिद्ध है. यहां के...

भाजपा कार्यकर्ताओं ने पप्पू यादव की पार्टी के लोगों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा, देखें-वीडियो

पटना| शुक्रवार को चुनाव आयोग जिस समय बिहार विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर रहा था उस समय पटना...

हरीश रावत की टिप्पणी पर रेखा का पलटवार, कोई भी आरोप साबित हुआ तो राजनीतिक जीवन से संन्यास ले लूंगी

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के आरोप पर महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्य ने पटलवार किया है.

बिहार विधानसभा चुनाव तारीखों का ऐलान, तीन चरणों में होंगे चुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की तारीखों का ऐलान हो गया है. चुनाव आयोग ने बिहार में तीन चरणों में चुनाव कराने...

विपक्षी नेताओं के सदन के बहिष्कार का भाजपा सरकार ने उठाया पूरा फायदा

कोरोना काल के बीच शुरू हुआ मानसून सत्र तय समय से पहले खत्म हो गया. बुधवार को राज्यसभा...

संसद में केंद्र सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने के लिए नहीं थी गंभीर

दस दिनों के मानसून सत्र में भाजपा सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने से दूर भागती रही है.