गर्म तेल से जलने पर करे ये उपचार, फौरन मिलेगी राहत

रसोई में काम करते वक्त कई बार ग्रहणी का हाथ या पैर जल जाता है. ऐसा तब होता है जब उसका ध्यान कही और होता है. ऐसे में अगर हाथ पर गरम तेल गिर जाये और उससे हाथ जल जाता है और हाथ पर फालके हो जाते है जो हमे दर्द की अनुभूति करवाते है.

गर्म तेल से जलने पर जलन बहुत ही ज्यादा तेज होती है. यह परेशानी हर घर में देखने को मिल जाती है. इसका कोई उपचार नहीं किया गया तो यह परेशनी और भी बढ़ जाती है और इससे हमारा सारा काम रुक जाता है.

इस समस्या से निजात पाने के लिए अच्छा तरीका है की आप घर के ही उपाय को करे क्योकि बाहर से लायी गयी कोई भी चीज़ हमे एक पल के आराम तो दे देगी, पर पुरे तरीके से आराम नहीं मिला पायेगा. तो एक नजर डालते है गर्म तेल से जलने के उपचार के बारे में.

टी बैग
घर पर थोड़ा बहुत जलने पर आप काली चाय की टी बैग का उपयोग कर जलन को शांत कर सकती है. यह एक प्रकार का टैनिक अम्ल होता है जो जलन के स्थान की गर्मी को हटाकर तुंरत ही ठंडक प्रदान कर जलन को ठीक करता है. इसके लिये आप काली चाय के 2 बैग को एक कटोरी ठंडे पानी में मिलाकर कुछ देर रखें रहने दे फिर इसे जलने वाले घाव के स्थान पर लगा लें. इससे काफी राहत प्रदान होती है .

बर्फ का ठंडा पानी
एक कटोरी में ठंड़ा पानी लेकर उसमें अपना हाथ डाल दीजीये इससे जलन भी शांत रहेगी और छाले होने की संभावना भी नही होगा इसके अलावा आप बर्फ को निकालकर भी लगा सकते है. यह जलन को कम कर के सूजन मिटा देगा. साथ ही दाग भी नहीं होगा.

सिरका
जलने के छोटे घावों पर सिरका अच्छी तरह से काम में लाया जा सकता है. क्योकि इसमें एंटीसेप्टिक के गुण होते हैं जो घाव के निशान को कम करते हैं यह जलने के बाद के हर तरह के संक्रमण को मिटाकर घाव को बढ़ने से रोकता है. इसका उपयोग करने के लिये आप ठंड़े पानी में सिरका मिलाकर अपने जले हुये भाग को उस पानी में रखें इससे तुंरत ही राहत मिलेगी.

एलोवेरा
एलोवेरा जले हुये घाव में राहत प्रदान करने वाला पौधा है जो त्वचा को ठंडक प्रदान कर काफी राहत पहुंचाता है. इसका प्रयोग करने के लिये एलोवेरा की पत्तियो से जेल को निकालकर जले हुए भाग पर तुरंत लगा लीजिये. यह आपको जलन से तुरंत ही राहत दिलायेगा क्योंकि यह बहुत ठंडा होता है.

केले के पत्ते
केला जलन को शांत कर घाव के निशान को कम होने में मदद करता है. इसका उपयोग करने के लिये आप केले की पत्तियो को कुचलकर उसका रस निकाल लें, फिर इस निकले हुये रस को रूई की सहायता से जले हुए स्थान पर लगाये.






Related Articles

हरीश रावत की टिप्पणी पर रेखा का पलटवार, कोई भी आरोप साबित हुआ तो राजनीतिक जीवन से संन्यास ले लूंगी

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के आरोप पर महिला सशक्तीकरण एवं...

उत्तराखंड में जल्द लग सकते हैं मेडिसन एटीएम

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश में चिकित्सा के क्षेत्र में...

हल्द्वानी: युवक पर गिरी हाईटेंशन लाइन, मौके पर ही दर्दनाक मौत

हल्द्वानी| हल्द्वानी से एक दर्दनाक घटना सामने आई है. यहां शुक्रवार की...

बॉलीवुड के मशहूर सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम नहीं रहे

आज हिंदी सिनेमा की गायकी के क्षेत्र में एक और बड़ी क्षति...

बिहार विधानसभा चुनाव तारीखों का ऐलान, तीन चरणों में होंगे चुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की तारीखों का ऐलान हो गया है. चुनाव...

पिथौरागढ: तेंदुए ने 11 वर्षीय बालिका को बनाया निवाला

पिथौरागढ़| पिथौरागढ़ के चंडाक के छाना पांडे में तेंदुए ने 11 वर्षीय...

Latest Updates

हल्द्वानी: युवक पर गिरी हाईटेंशन लाइन, मौके पर ही दर्दनाक मौत

हल्द्वानी| हल्द्वानी से एक दर्दनाक घटना सामने आई है. यहां शुक्रवार की सुबह एक युवक पर 1100 केवी का हाईटेंशन तार टूटकर...

बॉलीवुड के मशहूर सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम नहीं रहे

आज हिंदी सिनेमा की गायकी के क्षेत्र में एक और बड़ी क्षति हो गई. बॉलीवुड और साउथ फिल्मों के प्रसिद्ध सिंगर एसपी...

बिहार विधानसभा चुनाव तारीखों का ऐलान, तीन चरणों में होंगे चुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की तारीखों का ऐलान हो गया है. चुनाव आयोग ने बिहार में तीन चरणों में चुनाव कराने...

अन्य खबरें

हरीश रावत की टिप्पणी पर रेखा का पलटवार, कोई भी आरोप साबित हुआ तो राजनीतिक जीवन से संन्यास ले लूंगी

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के आरोप पर महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्य ने पटलवार किया है.

बिहार विधानसभा चुनाव तारीखों का ऐलान, तीन चरणों में होंगे चुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की तारीखों का ऐलान हो गया है. चुनाव आयोग ने बिहार में तीन चरणों में चुनाव कराने...

विपक्षी नेताओं के सदन के बहिष्कार का भाजपा सरकार ने उठाया पूरा फायदा

कोरोना काल के बीच शुरू हुआ मानसून सत्र तय समय से पहले खत्म हो गया. बुधवार को राज्यसभा...

संसद में केंद्र सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने के लिए नहीं थी गंभीर

दस दिनों के मानसून सत्र में भाजपा सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने से दूर भागती रही है.

मानसून सत्र में विपक्ष को हंगामे में लगाकर मोदी सरकार महत्वपूर्ण बिल पास करा गई

नाम है भारतीय जनता पार्टी. इस पार्टी के मौजूदा समय में मुखिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह हैं.

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट ले लिया है. अब इस मामले को लेकर सियासी बयानबाजी...