अर्थव्यवस्था में सुधार धीरे-धीरे होगा- हर जरूरी कदम उठाने को तैयार आरबीआई : शक्तिकांत दास

कोरोना वायरस महामारी की वजह से चरमराई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने को लेकर भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बुधवार (16 सितंबर) को कहा कि अर्थव्यवस्था में सुधार पूरी रफ्तार में नहीं पहुचा है, यह धीरे-धीरे होगा.

भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से लगातार बड़ी मात्रा में नकदी की उपलब्धता से सरकार के लिए कम दर पर और बिना किसी परेशानी के बड़े पैमाने पर उधारी सुनिश्चित हुई है. अर्थव्यवस्था के लिए जो भी कदम उठाने की जरूरत होगी रिजर्व बैंक उसके लिए पूरी तरह तैयार है.

शिक्षा का आर्थिक विकास में योगदान रहता है, ऐसे में नई शिक्षा नीति ऐतिहासिक है और नए युग के सुधारों के लिए जरूरी है. अर्थव्यवस्था को तेजी से आगे बढ़ाने में प्राइवेट सेक्टर को रिसर्च, इनोवेशन, पर्यटन, फूड प्रोसेसिंग सेक्टर में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए. पर्यटन सेक्टर आर्थिक वृद्धि का इंजन बन सकता है.

  • इस सेक्टर में बड़े पैमाने पर दबी मांग हैं जिसका लाभ उठाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि एनबीएफसी की कमजोरी चिंता का विषय है और नियमन के मामले में वे अभी भी बैंकों के समान स्तर पर नहीं हैं.
  • भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि अर्थव्यवस्था की बेहतरी के लिए जो भी कदम उठाने की जरूरत होगी, रिजर्व बैंक उसके लिए पूरी तरह तैयार है.
  • उद्योग संगठन फिक्की के एक प्रोग्राम को संबोधित करते उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था में सुधार अभी पूरी गति में नहीं पहुचा है, यह धीरे-धीरे आगे बढ़ेगा. उन्होंने प्राइवेट सेक्टर को आगे बढ़कर अर्थव्यवस्था में सुधार की गति बढ़ाने में योगदान करने को कहा.
  • दास ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से लगातार बड़ी मात्रा में कैश की उपलब्धता कराए जाने से सरकार के लिए कम दर पर और बिना किसी परेशानी के बड़े पैमाने पर उधारी सुनिश्चित हो पाई है. पिछले एक दशक में यह पहला मौका है जब उधारी लागत इतनी कम हुई है.
  • उन्होंने कहा कि अत्यधिक कैश की उपलब्धता से सरकार की उधारी लागत बेहद कम बनी हुई है और इस समय बॉन्ड प्रतिफल पिछले 10 वर्षों के निचले स्तर पर हैं. दास ने कहा कि जीडीपी के आंकड़ों से अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के प्रकोप का संकेत मिलता है
  • रिजर्व बैंक गवर्नर ने कोविड- 19 के बाद अर्थव्यवस्था की गति तेज करने के लिए निजी क्षेत्र को अनुसंधान एवं इनोवेशन, फूड प्रोसेसिंग और पर्यटन सेक्टर में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए कहा है. उन्होंने कहा है कि पर्यटन सेक्टर में व्यापक संभावनाएं हैं और प्राइवेट सेक्टर को इसका लाभ उठाना चाहिए.

Related Articles

IPL 2020: सनराइजर्स हैदराबाद को लगा तगड़ा झटका, चोट के कारण मिचेल मार्श आईपीएल 2020 से बाहर

दुबई|.... ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ ऑलराउंडर मिचेल मार्श आईपीएल 2020 से चोट के...

एफिल टावर को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस ने खाली कराया, एरिया को घेरा

पेरिस|... पेरिस स्थित एफिल टॉवर को उस समय खाली करा दिया...

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट...

जानिए पृथ्वी जैसे बाह्यग्रह का नाम क्यों ‘Pi Earth’ रखा है खगोलविदों ने

खगोलविदों को हमारे सौरमंडल के बाहर कई तरह के बाह्यग्रह ...

टाइम मैग्जीन ने सौ प्रभावशाली लोगों में पीएम मोदी को शामिल कर प्रशंसा भी की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए बुधवार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी सुखद कहा...

बड़ी खबर: भारत की आर्थिक मदद से तिलमिलाया चीन, आने लगी मालदीव की सम्प्रभुता की याद

पड़ोसी देश मालदीव को भारत द्वारा आर्थिक मदद दिए जाने से चीन...

कोरोना की दहशत में शुरू हुआ उत्तराखंड विधानसभा का एक दिन का मानसून सत्र

बुधवार को उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कोरोना के साए में सभा...

Latest Updates

2019-20 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न भरने की आखिरी तारीख नजदीक, इन बातों का रखें ध्यान

वित्त वर्ष 2020-21 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न भरने की तारीख 30 नवंबर 2020 है. 31...

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट ले लिया है. अब इस मामले को लेकर सियासी बयानबाजी...

जानिए पृथ्वी जैसे बाह्यग्रह का नाम क्यों ‘Pi Earth’ रखा है खगोलविदों ने

खगोलविदों को हमारे सौरमंडल के बाहर कई तरह के बाह्यग्रह मिलते हैं. कई आकार की तरह खास होते हैं तो...

अन्य खबरें

गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस पर संजय राउत का बड़ा बयान- ‘महाराष्ट्र पर राजकीय तांडव का बिहार से मिला इनाम’

मुंबई| बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस यानी वॉलंटरी रिटायरमेंट ले लिया है. अब इस मामले को लेकर सियासी बयानबाजी...

कोरोना से जूझते उत्तराखंड में कांग्रेसी विधायकों ने विधानसभा जाने के लिए ट्रैक्टर पर चढ़कर किया तमाशा

उत्तराखंड में कोरोना वायरस बेकाबू होता जा रहा है, शासन से लेकर प्रशासन और आम लोग तक डरे सहमे हुए हैं.

बसपा संगठन में अहम बदलाव, मुनकाद अली से ली गई उत्तराखंड की जिम्मेदारी वापस

बहुजन समाज पार्टी ने मंडल स्तरीय संगठन में अहम बदलाव कर दिया है. बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने फरमान...

मोदी सरकार के कृषि विधेयक ने शिवराज की बढ़ाई टेंशन, सीएम किसानों की आवभगत में जुटे

केंद्र की भाजपा सरकार ने कृषि विधेयक संसद से पारित कराकर किसानों के साथ मध्य प्रदेश 'शिवराज सिंह चौहान सरकार की भी...

संसद के बाद अब सड़क पर भी भाजपा-विपक्ष में किसानों का नेता बनने की छिड़ी सियासी जंग

कमाल की राजनीति है. कोई भी राजनीतिक दल देश की जनता के सामने अपने आपको सबसे बड़ा हितेषी बताने के लिए तमाम...

उत्तराखंड में बढ़ा ‘आप’ का कुनबा सैकड़ों समर्थकों के साथ जितेंद्र मलिक ने ज्वाइन की पार्टी

उत्तराखंड में साल 2022 का चुनावी रण दिलचस्प होने वाला है. विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी आम आदमी पार्टी हर स्तर...