उत्तराखंडः भाजपा विधायक यौन शोषण- ब्लैकमेलिंग मामले में पीड़िता ने की सीबीआई जांच की मांग

देहरादून| उत्तराखंड की राजनीति में सनसनी फैलाने वाले भाजपा विधायक महेश नेगी यौन शोषण और ब्लैकमेलिंग मामले की जांच पीड़िता ने सीबीआई से करवाने की मांग की है.

पीड़िता ने गृह सचिव को पत्र लिखकर देहरादून पुलिस की जांच पर संदेह जताया और कहा है कि पुलिस दबाव में काम कर रही है.

इस बीच मंगलवार को उस पुलिस कांस्टेबल के बयान दोबारा दर्ज हुए जिसे विधायक महेश नेगी की पत्नी ने अपने पक्ष में गवाह के रूप में पेश किया है. इस बार पुलिस ने उसके बयानों की वीडियोग्राफ़ी भी करवाई है ताकि वह फिर बयान न बदले.

भाजपा विधायक महेश नेगी पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली युवती शुरू से और लगातार पुलिस पर दबाव में काम करने का आरोप लगाती रही है.

- Advertisement -

मंगलवार को पीड़िता ने राज्य के गृह सचिव नितेश झा को उनकी ऑफिशियल मेल आईडी पर एक एप्लीकेशन भेजी है. इसमें महिला ने यह केस सीबीआई को ट्रांस्फ़र करने की मांग की है.

गृह सचिव को लिखे पत्र में देहरादून पुलिस पर सवाल उठाते हुए पीड़िता ने कहा है कि यौन शोषण मामले में पुलिस दबाव में काम कर रही है.

विधायक गलत गवाह पेश कर रहे हैं जो दबाव में आकर अपना बयान पुलिस में दर्ज करवा रहे हैं लेकिन पुलिस विधायक के ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं कर रही. इसके चलते वह चाहती हैं कि इस केस की निष्पक्ष जांच सीबीआई करे.

बता दें कि कुछ रोज विधायक महेश नेगी पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली युवती और पुलिस कांस्टेबल के की बातचीत का ऑडियो वायरल हो गया था.

इसमें पुलिस कांस्टेबल ने दबाव में पीड़िता के ख़िलाफ़ बयान देने की बात कही थी. हालांकि इस ऑडियो की पुष्टि न देहरादून पुलिस ने की है और न ही न्यूज़ 18 करता है.

वायरल ऑडियो में कॉन्स्टेबल पीड़िता को बता रहा है कि उसे जबरन हरिद्वार पुलिस लाइन से तमंचे के बल पर देहरादून के एमएलए होस्टल लाया गया और मारपीट की गई.

फिर दबाव में उसके बयान दर्ज करवाए गए. मामले के सुर्खियों में आने के बाद एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने फिर उस कांस्टेबल के बयान दर्ज करवाने के आदेश दिए.

पुलिस सूत्रों के अनुसार विधायक महेश नेगी की पत्नी ने ब्लैकमेलिंग की जो तहरीर दी है उसमें कांस्टेबल को गवाह के रूप में पेश किया गया था. कांस्टेबल ने 5 सितम्बर को देहरादून में अपने बयान भी दर्ज करवाए थे.

वायरल ऑडियो में कांस्टेबल ने खुद के साथ हुई मारपीट किए जाने और जबरन बयान दिलवाए जाने का आरोप लगाया है. इसके बाद देहरादून के एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने कांस्टेबल के यूनिट कमांडर को पत्र लिखा है.

इसमें कहा गया है कि कि ऑडियो की जांच करवाने के साथ ही यह भी पता लगाया जाएगा कि क्या कांस्टेबल के साथ सचमुच में मारपीट हुई थी.

पुलिस लंबे समय से गवाहों के बयान दर्ज करवाने के लिए वीडियोग्राफी की बात कर रही थी. पीड़िता और कॉन्स्टेबल का ऑडियो वायरल होने के चलते एक बार फिर मंगलवार को कॉन्स्टेबल के बयान दर्ज हुए हैं. इस बार इसकी वीडियोग्राफ़ी भी करवाई गई है.

- Advertisement -

More Today

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव

नई दिल्‍ली| कोरोना वायरस महामारी से हालात अभी भी गंभीर हैं. देश...

हरिद्वार: पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए छह बड़ी परियोजनाओं का किया उद्घाटन

देहरादून| मंगलवार को पीएम मोदी ‘नमामि गंगे’ मिशन के तहत उत्तराखंड में...

राशिफल 29-09-2020: हनुमान जी मंगलवार के दिन इन राशियों पर करेंगे विशेष कृपा

मेष :- आजीविका के नए स्त्रोत स्थापित होंगे. कोई बड़ा प्रोजेक्ट मिलने...

सीएम रावत से मिले उत्तराखण्ड नर्सेज सर्विसेज एसोसिएशन के पदाधिकारी, बतायी अपनी समस्यायें

मंगलवार को सीएम रावत से सचिवालय में उत्तराखण्ड नर्सेज सर्विसेज एसोसिएशन की...

क्लैट परीक्षा की आंसर की हुई जारी, 29 सितंबर तक करें आपत्ति दर्ज

राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालयों के कंसोर्टियम ने क्लैट आंसर की 2020 जारी कर...

वर्ल्ड हार्ट डे विशेष: भागदौड़ को विराम देकर आओ आज अपनी धड़कन की आवाज सुने

माना कि आज के प्रतिस्पर्धा युग में भागदौड़ करना जरूरी है, अपने...

Latest Updates

सीएम रावत से मिले उत्तराखण्ड नर्सेज सर्विसेज एसोसिएशन के पदाधिकारी, बतायी अपनी समस्यायें

मंगलवार को सीएम रावत से सचिवालय में उत्तराखण्ड नर्सेज सर्विसेज एसोसिएशन की अध्यक्ष मीनाक्षी जखमोला एवं महामंत्री कान्ति राणा ने भेंट की....

चीन को सबक सिखाने के लिए भारत का सहयोग करेगा ऑस्ट्रेलिया

केनबरा|... पिछले कई दिनों से चीन के संबंध काफी देशों के साथ अच्छे नहीं चल रहे हैं. इन देशों में एक नाम...

अब हर समय साथ नहीं रखने होंगे गाड़ी के कागजात, 1 अक्टूबर से लागू होने वाला हैं ये नया नियम

अब वाहन चलाते हुए आपको ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी), इंश्योरेंस, पॉल्यूशन सर्टिफिकेट जैसे कागजातों को रखने की जरूरत नहीं होगी.

अन्य खबरें

बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन से एक और तीसरा मोर्चा के निकलने की छटपटाहटें

हमारे देश में पुरानी कहावत है उठी पैंठ (बाजार) सात दिन बाद ही लगती है. 'ऐसा ही सियासी बाजार का हाल है,...

बाबरी विध्वंस केस में 30 को फैसला, आरोपी उमा भारती बोलीं- ‘जेल जाना मंजूर लेकिन जमानत नहीं लूंगी’

बीजेपी नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री उमा भारती कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद ऋषिकेश स्थित एम्स में भर्ती हुई...

सीएम नीतीश कुमार के दलित दांव से चिराग पासवान में है जबरदस्त नाराजगी

पिछले कई दिनों से चिराग पासवान सीएम नीतीश कुमार और जदयू सरकार पर हमलावर हैं. बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सीएम नीतीश...

एलजीपी आक्रामक मूड में, चिराग पासवान के सियासी सौदे से भाजपा आलाकमान टेंशन में

बिहार में भाजपा और जेडीयू विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर जैसे-जैसे एक कदम आगे बढ़ते हैं वैसे ही लोक जनशक्ति पार्टी...

हरिद्वार: गंगा को नहर घोषित करने का शासनादेश जारी करने पर पूर्व सीएम हरीश रावत को भेजा लीगल नोटिस

हरिद्वार में हरकी पैड़ी पर बह रही गंगा को नहर (स्कैप चैनल) घोषित करने का शासनादेश जारी करने पर पूर्व सीएम हरीश...

अपने गृह राज्य हिमाचल में जेपी नड्डा को नई टीम के लिए कोई नेता नहीं दिखा काबिल

आठ माह पहले जेपी नड्डा को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने पर उनका गृह राज्य हिमाचल प्रदेश झूम उठा था,...