बड़ी खबर: इनकम टैक्स से जुडे़ बिल को संसद से मिली मंजूरी, आपको होंगे ये फायदें

नई दिल्ली| संसद में टैक्सेशन और अन्य कानून (कुछ प्रावधानों में राहत और संशोधन) विधेयक, 2020 को मंजूरी दे दी है.

ये बिल उन अध्यादेशों का स्थान लेगा. जिनमें कई तरह की टैक्स छूट दी गई है.

जैसे, वित्त वर्ष 2019-20 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख इस बार 30 नवंबर, 2020 कर दिया गया है.

आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के चलते टैक्स तारीख में बदलाव करने का फैसला किया है.

आम लोगों को मिलेगी राहत- अध्यादेश के बाद अब नए बिल को मिली मंजूरी के तहत वित्त वर्ष 2019-20 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की तारीख 30 नवंबर 2020 हो गई है.

इसके अलावा अन्य टैक्स संबंधित फॉर्म और रिपोर्ट (जैसे ट्रांसफर प्राइसिंग रिपोर्ट, टैक्स ऑडिट रिपोर्ट आदि) दाखिल करने की अंतिम तारीख 30 अक्टूबर 2020 है.

TDS-TCS में 25 फीसदी छूट –इसके साथ ही अगले साल तक टीडीएस और टीसीएस के लिए 25 फीसदी छूट दी जा रही है, जो कि अगले साल 31 मार्च 2021 तक जारी रहेगी.

यह भी पढ़ें -  दुनिया के रोमांटिक देश सेशेल्स के रामकलावन हुए महामहिम, भारत के और करीब आया ये द्वीप

यह सभी पेमेंट पर लागू होगा चाहे वह कमीशन हो, ब्रोकरेज हो या कोई अन्य पेमेंट.

इससे 50,000 करोड़ रुपये की लिक्विडिटी लोगों के हाथों में रहेगी.

जिनके भी रिफंड लंबित हैं, उन्हें जल्द से जल्द भुगतान किया जाएगा.

आपको बता दें कि टीडीएस विभिन्न तरह के आय के स्रोत पर काटा जाता है.

इसमें सैलरी, किसी निवेश पर मिले ब्याज या कमीशन शामिल हैं.

विवाद से विश्वास स्कीम के तहत जिन कंपनियों के टैक्स विवाद बाकी हैं, वह अब 31 दिसंबर 2020 तक बिना किसी ब्याज के टैक्स दे सकती हैं.

वित्त मंत्री ने कहा कि इस योजना के तहत लंबित विवादों के निपटारे की चाह रखने वाले करदाता अब 31 दिसंबर 2020 तक आवेदन कर सकेंगे.

टैक्सेशन और अन्य कानून (कुछ प्रावधानों में राहत और संशोधन) विधेयक, 2020 में पीएम केयर्स फंड को लेकर भी मंजूरी मिल गई है.

यह भी पढ़ें -  गृह मंत्रालय का आदेश, 31 अक्टूबर तक लागू होने वाली अनलॉक गाइडलाइंस अब 30 नवंबर तक लागू
यह भी पढ़ें -  Covid19: बीते चौबीस घंटे में देश में मिले 45,149 नये मामले, 10 जुलाई के बाद एक दिन में सबसे कम मौतें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 को काबू करने के लिए मार्च में लॉकडाउन की घोषणा की.

उसके कुछ ही दिन बाद 27 मार्च को एक फंड बनाया. नाम दिया- पीएम सिटीजन असिस्टेंस एंड रिलीफ इन इमरजेंसी सिचुएशंस (पीएम केयर्स) फंड.

साथ ही कहा कि इसमें जो भी राशि जमा होगी वह कोविड-19 से जुड़े कार्यों पर खर्च होगी.

क्या है पीएम केयर्स फंड और इसमें डोनेशन का क्या लाभ है

कोविड-19 महामारी से पीड़ित लोगों की मदद के लिए डेडिकेटेड नेशनल फंड की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए ‘आपात स्थितियों में प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और राहत कोष (पीएम केयर्स फंड)’ के नाम से यह सार्वजनिक धर्मार्थ ट्रस्ट बनाया है.

इस फंड में पूरी तरह से व्यक्तियों/संगठनों से स्वैच्छिक योगदान लिया जा रहा है. इसे कोई बजटीय सहायता नहीं मिलती है.

यह भी पढ़ें -  उत्तरकाशी के लंका में बनेगा देश का पहला हिम तेंदुआ संरक्षण केंद्र

पीएम-केयर्स फंड में दान दी गई रकम पर इनकम टैक्‍स से 100 फीसदी छूट मिलेगी.

यह राहत इनकम टैक्‍स कानून के सेक्‍शन 80जी के तहत मिलेगी.

मोदी की अपील का असर यह हुआ कि लोगों ने फंड में तत्काल पैसे डालना शुरू किए.

कई कंपनियों ने अपने-अपने कर्मचारियों के एक दिन का वेतन इसमें जमा किया, लेकिन साथ ही यह फंड विवादों में फंसना शुरू हो गया.

पीएम-केयर्स फंड में दान भी कंपनी अधिनियम, 2013 के तहत सीएसआर खर्च के रूप में गिना जाएगा.

इस फंड को भी एफसीआरए के तहत छूट मिली है. विदेशों से दान प्राप्त करने के लिए एक अलग खाता खोला गया है. इससे विदेशों में स्थित व्यक्ति और संगठन फंड में दान दे सकते हैं.


यह भी पढ़ें -  पाकिस्तान: पेशावर के मदरसे में भीषण धमाका, 7 की मौत 70 घायल

Related Articles

पीएम मोदी बोले -विकराल रूप से चुका है भ्रष्टाचार का वंशवाद, कई राज्यों में राजनीतिक परंपरा का हिस्सा बना

नई दिल्ली| मंगलवार को पीएम मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार का वंशवाद ना सिर्फ एक बड़ी चुनौती है बल्कि वह कई राज्यों...

Covid19: उत्तराखंड में एक्टिव केस चार हजार से कम, 24 घंटे में मिले 213 नये मामले

उत्तराखंड में कोरोना की कम होती रफ्तार सुकून दे रही है. प्रदेश में एक्टिव केस भी अब चार हजार से नीचे पहुंच...

अगर आप उत्तराखंड में किराये के मकान में रहते हैं तो जरूर पढ़े ये खबर

अगर आप उत्तराखंड में किराये के मकान में रहते हैं तो ये खबर आपके लिए है. उत्तराखंड में आदर्श किरायेदारी अधिनियम (एमटीए)...

Stay Connected

57,055FansLike
2,837FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

- Advertisement -

Latest Articles

पीएम मोदी बोले -विकराल रूप से चुका है भ्रष्टाचार का वंशवाद, कई राज्यों में...

नई दिल्ली| मंगलवार को पीएम मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार का वंशवाद ना सिर्फ एक बड़ी चुनौती है बल्कि वह कई राज्यों...

Covid19: उत्तराखंड में एक्टिव केस चार हजार से कम, 24 घंटे में मिले 213...

उत्तराखंड में कोरोना की कम होती रफ्तार सुकून दे रही है. प्रदेश में एक्टिव केस भी अब चार हजार से नीचे पहुंच...

अगर आप उत्तराखंड में किराये के मकान में रहते हैं तो जरूर पढ़े ये...

अगर आप उत्तराखंड में किराये के मकान में रहते हैं तो ये खबर आपके लिए है. उत्तराखंड में आदर्श किरायेदारी अधिनियम (एमटीए)...

उत्तराखंड: पिथौरागढ़-घाट हाईवे पर दर्दनाक हादसा, ट्रक पर टूटकर गिरी चट्टान-दो लोगों की दर्दनाक...

पिथौरागढ़| पिथौरागढ़ से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. पिथौरागढ़-घाट एनएच पर गुरना के समीप पहाड़ी का मलबा कैंटर के...

भारत सरकार का बड़ा फैसला, हिज्बुल प्रमुख सलाहुद्दीन समेत 18 को कियाआतंकी घोषित

नई दिल्ली|मंगलवार को भारत सरकार ने गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) 1967 के तहत 18 और लोगों को आतंकवादी घोषित किया...

बिस्ला, रसेल समेत 5 विदेशी खिलाड़ी लंका प्रीमियर लीग से बाहर हुए

कोलंबो|..... भारत के मनविंदर बिस्ला, वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर आंद्रे रसेल और दक्षिण अफ्रीका के फाफ डु प्लेसिस सहित पांच विदेशी खिलाड़ियों ने...

देहरादून: ऑनलाइन हुआ उत्तराखण्ड वन विभाग, सीएम रावत ने की इन कार्यों की घोषणाएं

मंगलवार को सीएम रावत ने राजपुर रोड स्थित उत्तराखण्ड वन विभाग मुख्यालय में ई-ऑफिस कार्यप्रणाली का शुभारम्भ किया. इस अवसर पर...

गृह मंत्रालय का आदेश, 31 अक्टूबर तक लागू होने वाली अनलॉक गाइडलाइंस अब 30...

नई दिल्ली| गृह मंत्रालय ने 31 अक्टूबर तक लागू अनलॉक 5 की गाइडलाइंस को 30 नवंबर तक बढ़ा दिया है. इसमें कहा...

IPL 2020-KXIP Vs KKR: मनदीप, गेल के अर्धशतक, पंजाब की एक और जीत

शारजाह|..... मनदीप सिंह, क्रिस गेल की अर्धशतकीय पारियों के बूते किंग्स इलेवन पंजाब ने सोमवार को शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए...

विशेष खबर: चुनावी रण में ‘चाणक्य’ का सियासी दांव मौन, राजनीति पंडितों में छाई...

इस बार चुनावी रणक्षेत्र में 'चाणक्य का सियासी दांव' देखने को नहीं मिल रहा है. जिससे राजनीति पंडितों में बेचैनी छाई हुई...