चीनी खतरे से निपटने के लिए भारत ने मिसाइलों से बनाया ‘चक्रव्यूह’

चीन के किसी भी तरह का दुस्साहस का जवाब देने के लिए भारतीय सेना ने अपनी पूरी तैनाती की है.

सीमा पर तनाव बढ़ाने के बाद तीन की पीपुल लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की पश्चिमी थियेटर कमान ने लद्दाख में तनाव बढ़ने के बाद तिब्बत एवं शनिजियांग में 2000 किलोमीटर तक मार करने वाली लंबी दूरी की अपनी स्टैंडऑफ सतह से हवा में मार करने वाली (एसएएम) मिसाइलों की तैनाती की है.

चीन की इस तैयारी का देखते हुए भारत ने भी जवाबी कदम उठाए हैं.

स्टैंड ऑफ हथियार के रूप में मिसाइलें तैयार
एक अंग्रेजी अख़बार की रिपोर्ट के मुताबिक भारत 500 किलोमीटर की दूर तक मार करने वाली ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल, 800 किलोमीटर की क्षमता वाली निर्भय क्रूज मिसाइल के साथ सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों को स्टैंड ऑफ हथियार के रूप में तैयार रखा है.

भारत की ये मिसाइलें दुश्मन की मिसाइलों 40 किलोमीटर दूर हवा में निशाना बना सकती हैं. बता दें कि स्टैंडऑफ हथियार वे मिसाइलें अथवा बम होते हैं जिन्हें एक दूरी से लॉन्च किया जाता है ताकि अग्रिम मोर्चे पर तैनात जवानों को टार्गेट एरिया से होने वाले डिफेंसिव फायर से अपना बचाव कर सकें.

खासकर स्टैंडऑफ हथियारों का इस्तेमाल आक्रामक अभियानों में जमीन एवं समुद्र स्थित लक्ष्यों को निशाना बनाने में किया जाता है.

चीन की हरकत का जवाब देने के लिए तैनाती
रिपोर्ट के मुताबिक इस घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले लोगों ने बताया कि अत्यंत खराब स्थितियों में चीन पर जवाबी कार्रवाई करने के लिए सुपरसोनिक ब्रह्मोस, सुपरसोनिक निर्भय के साथ-साथ आकाश मिसाइलों की तैनाती की गई है.

चीन ने अपने इन हथियारों की तैनाती केवल अपने कब्जे वाले अक्साई चिन में ही नहीं बल्कि 3488 किलोमीटर लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के निकट गहराई वाले सैन्य ठिकानों-काशगर, होटान, ल्हासा और नियांगची में भी की है.

तिब्बत, शिनजियांग स्थित ठिकाने निशाने पर
भारत के स्टैंडऑफ हथियारों में प्रमुख रूप से हवा से हवा में मार करने वाली ब्रह्मोस एवं हवा से सतह पर मार करने वालीं क्रूज मिसाइलें हैं, ये अपने साथ 300 किलोग्राम का वारहेड ले जा सकती हैं.

यह भी पढ़ें -  IPL 2020-KXIP Vs KKR: मनदीप, गेल के अर्धशतक, पंजाब की एक और जीत
यह भी पढ़ें -  Covid19:देश में 24 घंटे में मिले 43893 नए मरीज और 508 मौतें

इन मिसाइलों से तिब्बत एवं शनिजियांग के रन-वे अथवा हिंद महासागर में युद्धपोत को तबाह किया जा सकता है.

हिंद महासागर में चीनी युद्धपोत को रोक सकता है सुखोई-30 एमकेआई
सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि लद्दाख सेक्टर में ब्रह्मोस मिसाइल की तैनाती पर्याप्त संख्या में की गई है.

यह भी पढ़ें -  पिथौरागढ़-घाट हाईवे पर दर्दनाक हादसा, ट्रक पर टूटकर गिरी चट्टान-दो की मौत

स्टैंड ऑफ वेपन के रूप में इन्हें सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमानों से दागा जा सकता है.

यही नहीं हिंद महासागर में चोक प्वाइंट्स बनाने के लिए कार निकोबार वायु सेना ठिकाने से ब्रह्मोस मिसाइलें छोड़ी जा सकती हैं.

अधिकारी का कहना है कि वायु सेना का कार निकोबार एयरबेस से सुखोई-30 एमकेआई आसानी से उड़ान भर सकता है.

इस लड़ाकू विमान में हवा में ईंधन भरा जा सकता है और यह मलक्का स्ट्रेट से लेकर इंडोनेशिया की तरफ से सुंडा स्ट्रेट तक पीएलए के युद्धपोतों को रोक सकता है.

यह भी पढ़ें -  राशिफल 29-10-2020: लाभदायी है आज का दिन, जानें क्या लाया है आप के लिए

Related Articles

यह भी पढ़ें -  दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति योगेश त्यागी निलंबित, राष्ट्रपति ने दिए जांच के आदेश

अखिलेश पर बरसी मायावती, बोलीं- मुलायम के बाद अखिलेश की भी होगी बुरी गति, सपा को हराने के लिए किसी को भी सपॉर्ट

गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी(बसपा) सुप्रीमो मायावती ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान सांप्रदायिक ताकतों से लड़ने...

1 नवंबर से बदल जाएंगे आपके पैसों से जुड़े ये 7 नियम

नई दिल्ली| 1 नवंबर 2020 से देशभर में कई नए नियम लागू होने जा रहे हैं, ज‍िसका सीधा असर आपकी जिंदगी पर...

नहीं रहे गुजरात के पूर्व सीएम केशुभाई पटेल, 92 साल में ली अंतिम सांस

अहमदबाद| गुजरात के पूर्व मुख्‍यमंत्री केशुभाई पटेल का निधन हो गया है. वह 92 वर्ष के थे. सांस लेने में तकलीफ की...

Stay Connected

57,055FansLike
2,837FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

- Advertisement -

Latest Articles

अखिलेश पर बरसी मायावती, बोलीं- मुलायम के बाद अखिलेश की भी होगी बुरी गति,...

गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी(बसपा) सुप्रीमो मायावती ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान सांप्रदायिक ताकतों से लड़ने...

1 नवंबर से बदल जाएंगे आपके पैसों से जुड़े ये 7 नियम

नई दिल्ली| 1 नवंबर 2020 से देशभर में कई नए नियम लागू होने जा रहे हैं, ज‍िसका सीधा असर आपकी जिंदगी पर...

नहीं रहे गुजरात के पूर्व सीएम केशुभाई पटेल, 92 साल में ली अंतिम सांस

अहमदबाद| गुजरात के पूर्व मुख्‍यमंत्री केशुभाई पटेल का निधन हो गया है. वह 92 वर्ष के थे. सांस लेने में तकलीफ की...

‘जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं‘‘ का किया जाए व्यापक प्रचार प्रसारः...

बुधवार को मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने सचिवालय में कोविड-19 की रोकथाम हेतु किये जा रहे प्रयासों के सम्बन्ध में बैठक की....

राशिफल 29-10-2020: लाभदायी है आज का दिन, जानें क्या लाया है आप के लिए

मेष-: मेहनत का फल मिलेगा. कम समय में अधिक लाभ पाने के विचार में आप फंस न जाएं इसका ध्यान रखें. कोर्ट-कचहरी...

29 अक्टूबर 2020 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 29 अक्टूबर 2020 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी...

Covid19: उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले 304 संक्रमित, कुल संक्रमितों का आंकड़ा...

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में कोरोना के 304 संक्रमित मरीज मिले हैं. कुल संक्रमितों का आंकड़ा 61 हजार पार हो गया...

दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति योगेश त्यागी निलंबित, राष्ट्रपति ने दिए जांच के आदेश

नई दिल्ली| राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिल्ली विश्वविद्यालय के विजिटर के रूप में अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए कुलपति...

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी कोरोना भी आई कोरोना की चपेट, ट्वीट कर दी जानकारी

देश दुनिया में कोरोना केसों की मार बढ़ती ही जा रही है, भारत में भी इसका प्रसार बढ़ता ही जा रहा है...

सी प्लेन की सौगात- महज 1500 रुपये में कर पायेंगे सी-प्लेन से सफर,जानें कैसे

स्पाइसजेट भारत के लोगों के लिए देश की पहलाी सी प्लेन यात्रा की शुरूआत करने जा रही है, लोग इसको लेकर...