उत्तरांचल टुडे विशेष: बाबरी विध्वंस मामले में आरोपी भाजपा दिग्गजों का कल सियासी पारी का सबसे बड़ा फैसला

आज कई नेताओं की सियासत अगर चमक रही है या सिंहासन पर विराजमान हैं तो इन भाजपा के दिग्गज नेताओं का संघर्ष है. ‘लेकिन यह बुजुर्ग भाजपाई आज पार्टी से दरकिनार होकर अपने जीवन की आखरी बाजी खेलने को मजबूर हैं’.

हम आज बात करेंगे उन वरिष्ठ नेताओं की, जिनकी बदौलत आज भारतीय जनता पार्टी देश ही नहीं दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बन गई है. ‘इन कद्दावर नेताओं ने पार्टी को शिखर पर पहुंचाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी लेकिन अपनी सियासत में एक ऐसा कलंक लगा जो 28 वर्षों के बाद भी नहीं खत्म हुआ है’.

जी हां हम बात कर रहे हैं अयोध्या में बाबरी विध्वंस मामले की . हम बात को आगे बढ़ाएं आपको लगभग 30 वर्ष पहले लिए चलते हैं. 90 के दशक में भारतीय जनता पार्टी अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए देशभर में आंदोलन चला रही थी. ‘उस दौर में पार्टी के तेजतर्रार नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, विनय कटियार और उमा भारती आदि ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने और हिंदू वोटर कार्ड खेलने के लिए अपनी सियासत कुछ ज्यादा ही आक्रामक कर डाली थी’.

यह भाजपा के दिग्गज नेता राम मंदिर के निर्माण का समर्थन कर रहे थे, उन्होंने 1992 के दिसंबर में एक कारसेवा का आयोजन किया . वे राम मंदिर के निर्माण में श्रमदान के लिए संगठित हुए थे, ‘बाद में इन नेताओं पर इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मामला दर्ज किया था .

उसके बाद इन नेताओं पर ऐसा दाग लगा जो आज भी धुल नहीं पाया हैै’. पिछले वर्ष 9 नवंबर 2019 को सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए हरी झंडी दे दी थी, लेकिन ‘यह भाजपाई बाबरी विध्वंस मामले में आज भी आरोपित होने का दंश झेल रहे हैंं, अब 28 वर्ष बाद इन वरिष्ठ भाजपाइयों की सियासी पारी का सबसे लंबा और बड़ा फैसला बुधवार को सीबीआई की अदालत सुनाने वाली है’ .

इन भाजपा नेताओं के साथ केंद्र से लेकर यूपी की योगी सरकार को भी है फैसले का इंतजार
कल अयोध्या में बाबरी विध्वंस के मामले में सीबीआई की अदालत के द्वारा सुनाए जाने वाले फैसले का इंतजार भाजपाई बुजुर्ग नेताओं के साथ केंद्र से लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को भी है. ‘भले ही यह नेता आज भाजपा की सक्रिय राजनीति से दरकिनार कर दिए गए हैं लेकिन पार्टी का झंडा थामे हुए हैं.

‘कल आने वाले अदालत के फैसले पर मोदी और योगी सरकार की भी निगाहें टिकी हुई हैं’. क्योंकि इन दिनों बिहार विधानसभा चुनाव और 12 राज्यों में 56 सीटों के लिए चुनाव की विसात बिछ चुकी है. अगर कल फैसला इन भाजपा नेताओं के खिलाफ आता है तो होने वाले बिहार विधानसभा चुनावों में विपक्षी दल अल्पसंख्यकों के बीच जाकर अपना वोट बैंक जरूर तलाशेगा .

अब बताते हैं क्या था पूरा मामला, छह दिसंबर 1992 को रामजन्मभूमि परिसर में कारसेवा की इजाजत सुप्रीम कोर्ट से मांगी गई थी, जिसमें कहा गया था कि रामभक्त अयोध्या में सरयू का जल और एक मुट्ठी मिट्टी राम चबूतरे पर चढ़ाएंगे.

तत्कालीन उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने कोर्ट में हलफनामा देकर दावा किया था कि कारसेवक सिर्फ कारसेवा करके लौट जाएंगे. लेकिन लाखों की संख्या में जमा हुए रामभक्तों ने विवादित ढांचे को ध्वस्त कर दिया.

ढांचा गिराए जाने के बाद तत्कालीन यूपी के मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की सरकार ने घटना की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया. बाद में सरकार ने ढांचा गिराए जाने के मामले में जांच के आदेश दिए थे .

आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह और उमा भारती पर क्या हैं आरोप
अब आपको बताते हैं आखिर इन नेताओं के खिलाफ केस क्यों दर्ज हुआ. दरअसल बीजेपी और वीएचपी ने मिलकर 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद के पास कारसेवा की घोषणा की थी. जहां ढांचा गिराया गया था उस जगह से 100-200 मीटर दूर ही एक रामकथा कुंज का मंच तैयार किया गया था.

इस जहां से लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, अशोक सिंघल और विनय कटियार राम विलास वेदांती साध्वी ऋतंभरा समेत कई लोग भाषण दे रहे थे. सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में इन नेताओं पर भड़काऊ भाषण देने और जनता को उकसाने के आरोप लगाए थे.

ये वो बड़े चेहरे हैं जिन पर कल अयोध्या में विवादित ढांचे के विध्वंस मामले में फैसला आने वाला है. बता दें कि इस मामले में कुल 49 आरोपी थे जिनमें 17 आरोपियों की मौत हो चुकी है. बाकी बचे 32 मुख्य आरोपियों पर फैसला आएगा. कोर्ट ने सभी आरोपियों को फैसले के दिन व्यक्तिगत तौर पर पेश होने को कहा है.

लेकिन आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और कल्याण सिंह बढ़ती आयु और अस्वस्थता के कारण शायद पेशी के दौरान उपस्थित न हो सके . ‘वहीं दूसरी ओर उमा भारती ने कल आने वाले फैसले के बारे में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा को चिट्ठी लिखकर कहा है कि वो जेल जाने को तैयार हैं लेकिन इस मामले में जमानत नहीं लेंगी’.

गौरतलब है कि अयोध्या में भगवान श्रीराम मंदिर के निर्माण का काम शुरू हो गया है. लेकिन अब करोड़ों लोगों की आस्था के प्रतीक रामजन्मभूमि से जुड़े एक और जिस फैसले का इंतजार है, वह कल आएगा.

इस फैसले से लोगों के 28 वर्ष का लंबा इंतजार भी खत्म होगा. सीबीआई की अदालत तय करेगी कि अयोध्या में विवादित ढांचा साजिश के तहत गिराया गया था, या कारसेवकों के गुस्से में ढांचा तोड़ा गया था.

यह भी पढ़ें -  भारतीय वायुसेना की ताकत में और होगा इजाफा, अप्रैल 2021 तक 16 राफेल आएंगे भारत
यह भी पढ़ें -  नैनीताल: कोरोना से जूझ रहे गर्जिया धाम के प्रधान पुजारी का निधन


शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

अखिलेश पर बरसी मायावती, बोलीं- मुलायम के बाद अखिलेश की भी होगी बुरी गति, सपा को हराने के लिए किसी को भी सपॉर्ट

गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी(बसपा) सुप्रीमो मायावती ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान सांप्रदायिक ताकतों से लड़ने...
यह भी पढ़ें -  राशिफल 29-10-2020: लाभदायी है आज का दिन, जानें क्या लाया है आप के लिए

1 नवंबर से बदल जाएंगे आपके पैसों से जुड़े ये 7 नियम

नई दिल्ली| 1 नवंबर 2020 से देशभर में कई नए नियम लागू होने जा रहे हैं, ज‍िसका सीधा असर आपकी जिंदगी पर...

नहीं रहे गुजरात के पूर्व सीएम केशुभाई पटेल, 92 साल में ली अंतिम सांस

अहमदबाद| गुजरात के पूर्व मुख्‍यमंत्री केशुभाई पटेल का निधन हो गया है. वह 92 वर्ष के थे. सांस लेने में तकलीफ की...

Stay Connected

57,055FansLike
2,837FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

- Advertisement -

Latest Articles

अखिलेश पर बरसी मायावती, बोलीं- मुलायम के बाद अखिलेश की भी होगी बुरी गति,...

गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी(बसपा) सुप्रीमो मायावती ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान सांप्रदायिक ताकतों से लड़ने...

1 नवंबर से बदल जाएंगे आपके पैसों से जुड़े ये 7 नियम

नई दिल्ली| 1 नवंबर 2020 से देशभर में कई नए नियम लागू होने जा रहे हैं, ज‍िसका सीधा असर आपकी जिंदगी पर...

नहीं रहे गुजरात के पूर्व सीएम केशुभाई पटेल, 92 साल में ली अंतिम सांस

अहमदबाद| गुजरात के पूर्व मुख्‍यमंत्री केशुभाई पटेल का निधन हो गया है. वह 92 वर्ष के थे. सांस लेने में तकलीफ की...

‘जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं‘‘ का किया जाए व्यापक प्रचार प्रसारः...

बुधवार को मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने सचिवालय में कोविड-19 की रोकथाम हेतु किये जा रहे प्रयासों के सम्बन्ध में बैठक की....

राशिफल 29-10-2020: लाभदायी है आज का दिन, जानें क्या लाया है आप के लिए

मेष-: मेहनत का फल मिलेगा. कम समय में अधिक लाभ पाने के विचार में आप फंस न जाएं इसका ध्यान रखें. कोर्ट-कचहरी...

29 अक्टूबर 2020 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 29 अक्टूबर 2020 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी...

Covid19: उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले 304 संक्रमित, कुल संक्रमितों का आंकड़ा...

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में कोरोना के 304 संक्रमित मरीज मिले हैं. कुल संक्रमितों का आंकड़ा 61 हजार पार हो गया...

दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति योगेश त्यागी निलंबित, राष्ट्रपति ने दिए जांच के आदेश

नई दिल्ली| राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिल्ली विश्वविद्यालय के विजिटर के रूप में अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए कुलपति...

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी कोरोना भी आई कोरोना की चपेट, ट्वीट कर दी जानकारी

देश दुनिया में कोरोना केसों की मार बढ़ती ही जा रही है, भारत में भी इसका प्रसार बढ़ता ही जा रहा है...

सी प्लेन की सौगात- महज 1500 रुपये में कर पायेंगे सी-प्लेन से सफर,जानें कैसे

स्पाइसजेट भारत के लोगों के लिए देश की पहलाी सी प्लेन यात्रा की शुरूआत करने जा रही है, लोग इसको लेकर...