लोकसभा चुनाव में मिली हार का जख्म भरने के लिए शत्रुघ्न बेटे की राजनीति चमकाने उतरे

बिहार में लोकसभा या विधानसभा चुनाव हो फिल्म स्टार और अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में पूर्व केंद्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा की सियासत उफान मारने लगती है. ‘अबकी बार भी बिहार विधानसभा चुनाव में बिहारी बाबू का सियासत के मैदान में कूदने का मन मचलने लगा’.

लेकिन इस बार चुनाव वे खुद नहीं लड़ रहे हैं बल्कि अपने बेटे के लिए सियासत की पिच को तैयार करने में जुट गए हैं.‌ चर्चा को आगे बढ़ाएं आइए आपको एक वर्ष पीछे लिए चलते हैं.

‘पिछले वर्ष भारतीय जनता पार्टी छोड़कर कांग्रेस से बिहार के पटना साहिब से लोकसभा का चुनाव लड़ने वाले फिल्म स्टार शत्रुघ्न सिन्हा को केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद से हार का सामना करना पड़ा था’.

बता दें कि पटना साहिब संसदीय सीट से शत्रुघ्न सिन्हा लगातार दो बार चुनावी जंग फतह कर संसद पहुंच चुके हैं, लेकिन दोनों बार वो बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीते थे। कायस्थ मतों की बहुलता के चलते शत्रुघ्न ने इस सीट को अपनी परंपरागत सीट बनाया था.

हालांकि, 2019 के लोकसभा चुनाव में वो कांग्रेस के टिकट पर मैदान में उतरे थे, बीजेपी ने अपने दूसरे कायस्थ नेता रविशंकर प्रसाद को उतारकर शत्रुघ्न के समीकरण को बिगाड़ दिया था.

यह भी पढ़ें -  टी20 विश्व कप 2022: आईसीसी ने जारी किया पूरा शेड्यूल, जानिए टीम इंडिया से जुड़ी पूरी जानकारी

लेकिन ‘इस बार बिहार विधानसभा चुनाव में अपनी लोकसभा चुनाव में मिली हार का जख्म भरने के लिए बेटे की राजनीति को चमकाने के लिए कांग्रेस की पिच पर मैदान में हैं’.

डेढ़ साल से सक्रिय राजनीति से दूर रहे बिहारी बाबू फिर सियासी जमीन तलाशने उतरे
पिछले वर्ष कांग्रेस के टिकट पर लड़े शत्रुघ्न सिन्हा की लोकसभा चुनाव में हार सदमें से कम नहीं थी. ‘लगभग डेढ़ साल बाद सक्रिय राजनीति से दूर रहे फिल्म स्टार और पूर्व केंद्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा एक बार फिर बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सक्रिय हो गए हैंं’.

लेकिन इस बार वह बिहार चुनाव में अपने बड़े बेटे लव सिन्हा को राजनीति के मैदान में लॉन्च कर रहे हैं. ‘बिहार विधानसभा चुनाव में लव सिन्हा पटना के बांकीपुर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार के तौर पर किस्मत आजमाएंगे’. बता दें कि यह बांकीपुर विधानसभा सीट शत्रुघन सिन्हा की मनपसंद मानी जाती है.

लोकसभा चुनाव के दौरान शत्रुघ्न सिन्हा इस क्षेत्र से सबसे अधिक वोट भी पाते रहे हैं. अब एक बार फिर अपने बेटे के सहारे वोटरों को लुभाते हुए नजर आएंगे. यह सीट कायस्थ बाहुल्य मानी जाती है.

यह भी पढ़ें -  क्या आप भी होते है स्टेशन, जंक्शन, टर्मिनस और सेन्ट्रल में कंफ्यूज-समझे आसान भाषा में

बता दें कि ‘बिहार चुनाव हो या देश के किसी भी हिस्से में हो एक समय शत्रुघ्न सिन्हा भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारक हुआ करते थे. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी शत्रुघ्न सिन्हा पर चुनाव प्रचार के दौरान बहुत भरोसा करते थे.

लेकिन धीरे-धीरे भाजपा में मोदी युग आने के बाद बिहारी बाबू की उपेक्षा की जाने लगी, इससे आहत होकर शत्रुघ्न सिन्हा ने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से ठीक पहले भारतीय जनता पार्टी छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया था’.

बिहारी बाबू जिस उद्देश्य से कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए थे उनको वह मुकाम नहीं मिल पाया. अब बेटे के सहारे कांग्रेस में सियासत की जमीन तलाशने उतरे हैं बिहारी बाबू.

लव सिन्हा के लिए कायस्थ बाहुल्य बांकीपुर सीट पर फतह करना नहीं होगा आसान
यहां हम आपको बता दें कि राजधानी पटना से लगी हुई बांकीपुर क्षेत्र कायस्थ बाहुल्य क्षेत्र माना जाता है, साथ ही यह भाजपा का गढ़ भी है. ऐसे में लव सिन्हा के लिए यहां से चुनाव जीतना आसान नहीं होगा.

लव की अपनी कोई राजनीतिक पहचान नहीं है, वो पिता की सियासी विरासत को संभालने राजनीतिक पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं। बिहारी बाबू अपने परंपरागत कायस्थ वोटरों के सहारे ही अपने बेटे की जीत की उम्मीद लगाए बैठे हैं.

यह भी पढ़ें -  मंदिर का बढ़ेगा सौंदर्य: आज गुजरात के सोमनाथ में नए सर्किट हाउस का पीएम मोदी श्रद्धालुओं को करेंगे समर्पित

वहीं कांग्रेस के टिकट से चुनाव मैदान में आने से लव सिन्हा को महागठबंधन का भी समर्थन मिल सकता है। इसके अलावा कायस्थ वोटों में भी सेंधमारी कर सकते हैं, क्योंकि शत्रुघ्न यहां से दो बार सांसद रह चुके हैं। यहां लव सिन्हा के अलावा प्लुरल्स पार्टी की पुष्पम प्रिया चौधरी और बीजेपी के तीन बार से विधायक नितिन नवीन मैदान में हैं.

कायस्थ समाज के अलावा यादव, मुस्लिम और दलित मतदाता काफी अहम हैं. पिछले तीन दशक से कायस्थ समुदाय से आने वाले नितिन नवीन विधायक चुने जा रहे हैं. जबकि इससे पहले उनके पिता नवीन किशोर सिन्हा यहां का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं.

लव सिन्हा के राजनीतिक करियर की यदि बात करें तो उनकी पहचान पिता से है, ऐसे में लव सिन्हा को जिताने की जिम्मेदारी भी शत्रुघ्न सिन्हा के कंधों पर होगी.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,183FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया के स्‍टार खिलाड़‍ियों ने आईपीएल से किया किनारा, नीलामी की पहली...

0
बेन स्‍टोक्‍स, जोफ्रा आर्चर, जो रूट और मिचेल स्‍टार्क ने इस साल के इंडियन प्रीमियर लीग 2022 में हिस्‍सा नहीं लेने का फैसला किया...

पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा कोरोना वायरस की चपेट में, फिलहाल नहीं दिख वायरस के...

0
पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं. राहत की बात ये है कि फिलहाल उनमें वायरस के लक्षण...

टीकाकरण की तेज रफ्तार का सिलसिला जारी, 161 करोड़ के पार पहुंचा आंकड़ा

0
भारत में रोजाना कोरोना के तीन लाख से ज्‍यादा केस दर्ज किए जा रहे हैं, वही केंद्र और राज्‍य सरकारें इसका डटकर सामना कर रही है....

भारत सरकार ने 35 यूट्यूब चैनल, दो वेबसाइट को किया ब्लॉक

0
नई दिल्ली| केंद्र सरकार ने शुक्रवार को जानकारी दी कि उसने भारत विरोधी फर्जी खबरें और अन्य सामग्री चलाने के लिए 35 यूट्यूब चैनल,...

मुंबई: बहुमंजिला इमारत में लगी आग, 7 लोगों की मौत-3 लोग गंभीर रूप से...

0
मुंबई| मुंबई के ताड़देव स्थित एक बहुमंजिला इमारत में शनिवार सुबह आग लग गई. खबर है कि हादसे में 7 लोगों की मौत हो...

IPL 2022 की नई फ्रेंचाइजी लखनऊ ने केएल राहुल को बनाया सबसे महंगा खिलाड़ी, विराट...

0
भारत के धुरंधर बल्लेबाज केएल राहुल को IPL की नई फ्रेंचाइजी लखनऊ ने सीजन 15 का सबसे महंगा खिलाड़ी बना दिया है. लखनऊ फ्रेंचाइजी ने राहुल...

Covid19: देश में 24 घंटे के दौरान कोरोना के 3.37 लाख से ज्यादा केस,...

0
देश भर में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के 3,37,704 नए केस मिले हैं. ये कल के मुकाबले 9,550 कम हैं. इस दौरान...

प्रियंका गांधी का बड़ा बयान, बोलीं- ‘यूपी चुनावों के बाद बीजेपी छोड़कर किसी भी...

0
यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि चुनाव के बाद पार्टी उत्तर प्रदेश में बीजेपी को छोड़कर किसी भी पार्टी...

बॉलीवुड की फिल्म एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा ने बेटे को जन्म दिया, सोशल मीडिया पर...

0
बॉलीवुड की फिल्म अभिनेत्री और पूर्व विश्व सुंदरी प्रियंका चोपड़ा ने बेटे को जन्म दिया है. इस बात की जानकारी उन्होंने शुक्रवार रात खुद...

Uttarakhand Poll 2022: अल्मोड़ा विधानसभा सीट पर भाजपा-कांग्रेस में लड़ाई, जानिए इससे जुड़ी पूरी...

0
उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 के लिए प्रदेश भर में तैयारियां राजनीतिक दलों ने शुरू कर दी हैं. पहाड़ी क्षेत्रों के दुगर्म गांवों में भी...
%d bloggers like this: