RADIO! ! HELLO UTTARAKHAND

न्यूज़ हाइलाइट्स टुडे – 02-12-2020

सुनिए कार्तिक पुर्णिमा का महत्व

अब अन्य राज्यों के लोग जम्मू-कश्मीर में जमीन खरीद सकेंगे, विरोध के बीच केंद्र का कानून लागू

धरती का स्वर्ग कहे जाने जम्मू-कश्मीर में कौन नहीं चाहता कि उसका एक घर हो. तमाम बंदिशें होने के कारण यह ख्वाब अभी तक पूरा नहीं हो पा रहा था. पिछले एक वर्ष पहले तक लोगों को सपना ही लगता था. लेकिन जब केंद्र सरकार ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त किया तब से देश के प्रत्येक राज्य के लोगों की उम्मीदें बढ़ गई थीं.

अब केंद्र सरकार ने एक और नया कानून बना दिया है. इस कानून के अंतर्गत बाहरी राज्यों के लोगों को जमीन लेने का रास्ता साफ हो गया है. यानी आप भी अब जम्मू-कश्मीर के नागरिक हो सकेंगे. घाटी में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा के ये चुनावी मास्टरस्ट्रोक माना जा रहा है.

केंद्र ने यह फैसला उस समय किया है जब घाटी के राजनीतिक दलों के नेताओं का लगातार भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी है. केंद्र सरकार के इस नए कानून से नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी समेत के अन्य दलों का गुस्सा और भड़क सकता है. आइए अब आपको बताते हैं गृह मंत्रालय के नए कानून के बारे में.

यह भी पढ़ें -  गाजे-बाजे के साथ निकली आदित्य नारायण की बारात, जश्न में झूमा परिवार

अभी तक जम्मू-कश्मीर के निवासी ही जमीन खरीद सकते थे
आपको बता दें कि इससे पहले जम्मू-कश्मीर में सिर्फ वहां के निवासी ही जमीन की खरीद-फरोख्त कर सकते थे. लेकिन अब बाहर से जाने वाले लोग भी जमीन खरीदकर वहां पर अपना काम शुरू कर सकते हैं.

जम्मू-कश्मीर में अब देश का कोई भी व्यक्ति जमीन खरीद सकता है और वहां पर बस सकता है। गृह मंत्रालय द्वारा मंगलवार को इसके तहत नया नोटिफिकेशन जारी किया गया है. हालांकि अभी खेती की जमीन को लेकर रोक जारी रहेगी.

यह भी पढ़ें -  ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव AIMIM के लिए प्रतिष्ठा का बना सवाल

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने ये फैसला जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम के तहत लिया है, जिसके तहत कोई भी भारतीय अब जम्मू-कश्मीर में फैक्ट्री, घर या दुकान के लिए जमीन खरीद सकता है.

यह भी पढ़ें -  आज भी किसान धरने पर कहा - उनका आंदोलन तबतक जारी रहेगा, जबतक ये कानून वापस नहीं हो जाते

इसके लिए किसी तरह के स्थानीय निवासी होने का सबूत देने की भी जरूरत नहीं होगी। बता दें कि अभी तक तमाम बंदिश होने पर अन्य राज्यों के लोग जम्मू कश्मीर में अपना व्यापार शुरू नहीं कर पा रहे थे. अब केंद्र सरकार के इस नए कानून के लागू होने से बाहरी राज्यों को घाटी में अपना घर और व्यापार बढ़ाने में बाधा खत्म हो गई है.

केंद्र के इस नए कानून को नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी कोर्ट में दे सकते हैं चुनौती
घाटी के राजनीतिक दल विशेष तौर पर नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी पहले ही केंद्र सरकार के जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से भड़के हुए हैं.

अब इस नए कानून के लागू हो जाने से फारुक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती केंद्र सरकार के इस नए कानून को कोर्ट में चुनौती दे सकते हैं. वैसे यहां हम आपको बता दें कि देश की आजादी के बाद से ही केंद्र सरकार के जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य के दर्जा दिए जाने के बाद खूब फल फूल रहे थे.

यह भी पढ़ें -  बाबा आमटे की पोती शीतल आमटे ने की आत्महत्या

इसके बावजूद भी कई अलगाववादी संगठन केंद्र सरकार पर और आजादी की मांग करने लगे थे. लेकिन जब वर्ष 2014 में केंद्र की सत्ता नरेंद्र मोदी ने संभाली तभी से भाजपा के मुख्य एजेंडे में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने की शुरुआत हो गई थी.

आखिरकार 5 अगस्त 2019 को अमित शाह ने संसद में खड़े होकर जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का एलान कर दिया. उसके बाद से ही नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी समेत तमाम अलगाववादी संगठन भाजपा सरकार के खिलाफ लामबंद हैं.

यह भी पढ़ें -  01 दिसम्बर 2020 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

पंजाब: सीएम अमरिंदर सिंह लेंगें कोरोना वैक्सीन का पहला डोज

चंडीगढ़| भारत में कोविड-19 वैक्सीन का ट्रायल अंतिम चरण में होने के साथ, सीएम अमरिंदर सिंह ने बुधवार को कहा कि इंडियन काउंसिल ऑफ...

योगी आदित्‍यनाथ के मुंबई दौरे से बढ़ी जुबानी जंग, यूपी में फिल्म सिटी को लेकर सियासी घमासान

मुंबई| यूपी में प्रस्तावित फिल्म सिटी को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है. यूपी के सीएम योगी मुंबई पहुंचे हैं, जहां उन्‍होंने...

स्वस्थ जीना है तो गेहूं छोड़ो!

अमेरिका के एक हृदय रोग विशेषज्ञ हैं डॉ विलियम डेविस. 2011 में उन्होंने एक पुस्तक लिखी थी जिसका नाम था Wheat belly...

Stay Connected

57,573FansLike
2,853FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

Latest Articles

पंजाब: सीएम अमरिंदर सिंह लेंगें कोरोना वैक्सीन का पहला डोज

चंडीगढ़| भारत में कोविड-19 वैक्सीन का ट्रायल अंतिम चरण में होने के साथ, सीएम अमरिंदर सिंह ने बुधवार को कहा कि इंडियन काउंसिल ऑफ...

योगी आदित्‍यनाथ के मुंबई दौरे से बढ़ी जुबानी जंग, यूपी में फिल्म सिटी को...

मुंबई| यूपी में प्रस्तावित फिल्म सिटी को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है. यूपी के सीएम योगी मुंबई पहुंचे हैं, जहां उन्‍होंने...

स्वस्थ जीना है तो गेहूं छोड़ो!

अमेरिका के एक हृदय रोग विशेषज्ञ हैं डॉ विलियम डेविस. 2011 में उन्होंने एक पुस्तक लिखी थी जिसका नाम था Wheat belly...

Covid19: उत्तराखंड में मिले 516 नए संक्रमित, 13 की मौत

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. बीते 24 घंटे के भीतर 516 नए संक्रमित मिले हैं. वहीं, 13 संक्रमित मरीजों की...

उत्तराखण्ड में बनेंगी सूर्यधार जैसी आठ झीलें, घाटियां फिर से होगी आबाद

उत्तराखण्ड| सूर्यधार यानि बरसाती नदी को बहुपयोगी और सदा नीरा बनाने की एक सफल कोशिश। इस झील के बन जाने से न...

उत्तरकाशी: सामूहिक भोजन के बाद हड़कंप, लोगों को होने लगी खून की उल्‍ट‍ियां

उत्‍तरकाशी| उत्‍तरकाशी के बडकोट तहसील के क्वाल गांव में एक धार्मिक कार्यक्रम में जब सामूहिक भोज हुआ तो वहां सभी ग्रामीणों ने खाना खाया....

Ind Vs Aus: तीसरे वनडे में टीम इंडिया की रोमांचक जीत, ऑस्ट्रेलिया ने 2-1...

कैनबरा| टीम इंडिया ने बुधवार को कैनबरा के मनुका ओवल मैदान पर खेले गए तीसरे और आखिरी वनडे मैच में आस्ट्रेलिया को 13 रनों...

पाकिस्तान के संस्थापक के नाम पर शराब की बोतल का नाम, लिखा- ‘इन द...

पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना के नाम पर एक शराब का नाम रखा गया है. जिन्ना का नाम रखते हुए कहा गया है...

योगी सरकार लव जिहाद कानून के बाद अब अंतरधार्मिक विवाह पर प्रोत्‍साहन राशि योजना...

लखनऊ| शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन के खिलाफ अध्यादेश लाने के बाद यूपी सरकार अब करीब चार दशक पुरानी उस योजना को खत्‍म...

150 साल पहले अंग्रेज कारोबारी ने देखा था सपना,अब उत्तराखंड सरकार करेगी पूरा, बदलेंगे...

उत्तरकाशी| तकरीबन 150 साल पहले हर्षिल घाटी को विशेष पहचान दिलाने वाले अंग्रेज व्यापारी विल्सन के सपनों को अब जमीन पर उतारने के लिए...