हैलो उत्तराखंड!

7 महीनों में देशभर में पैदा हुआ 33 हजार टन कोविड-19 कचरा, जानें किसका, कितना योगदान

कोरोना ने हमारी जिंदगियों में आकर हर संभव तरीके से कोहराम मचा दिया। सभी का जीवन एक तरह से रुक सा गया था. अब दुनिया ने इसके साथ जीना सीख  लिया है लेकिन अब भी इसके ऐसे कई खतरनाक पहलू हैं जो डरा देने वाले हैं।

क्या आपने कभी सोचा है, कोविड-19 से जुड़ा हुआ कचरा आखिर जाता कहां है? और असल में ये होता कितना है? राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्डों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, जून 2020 से, सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने 32,994 टन कोविड -19 से जुड़ा बायोमेडिकल वेस्ट {जैव चिकित्सा अपशिष्ट} पैदा किया है।

यह भी पढ़ें -  Tractor Parade: किसानों पर संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में छोड़ी आंसू गैस, गाजीपुर में किया लाठीचार्ज

बता दें कि इसे नष्ट करने के लिए 198 आम बायोमेडिकल अपशिष्ट उपचार सुविधाएं (CBWTFs) काम कर रही हैं। कोविड -19 बायोमेडिकल कचरे में पीपीई किट, मास्क, जूते के कवर, दस्ताने, मानव ऊतक, रक्त से दूषित वस्तुएं, शरीर के तरल पदार्थ जैसे ड्रेसिंग, प्लास्टर कास्ट, रूई, रक्त के साथ दूषित बिस्तर या शरीर के तरल पदार्थ, ब्लड बैग, सुई, सीरिंज आदि शामिल हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें -  राजधानी के कैप्टन अक्षय ने बढ़ाया उत्तराखंड का मान, गणतंत्र दिवस परेड में सारथ की संभालेंगे कमान

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार, भारत ने पिछले सात महीनों में लगभग 33,000 टन कोविड -19 बायोमेडिकल कचरे का उत्पादन किया, जिसमें महाराष्ट्र का योगदान अधिकतम (3,587 टन) है। अक्टूबर में देश भर में 5,500 टन कोविद -19 कचरा उत्पन्न हुआ था। 

यह भी पढ़ें -  25 जनवरी 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्डों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, जून 2020 से, सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने 32,994 टन कोविड -19-संबंधित बायोमेडिकल वेस्ट उत्पन्न किया है, जिसे 198 आम बायोमेडिकल अपशिष्ट उपचार सुविधाओं (CBWTFs) द्वारा एकत्रित, उपचारित और निपटाया जा रहा है।

आंकड़ों के अनुसार, महाराष्ट्र ने जून के बाद से सात महीनों में 5,367 टन कोविद -19 कचरे का उत्पादन किया, इसके बाद केरल (3,300 टन), गुजरात (3,086 टन), तमिलनाडु (2,806 टन), उत्तर प्रदेश (2,502 टन), दिल्ली ( 2,471 टन), पश्चिम बंगाल (2,095 टन) और कर्नाटक (2,026 टन) हैं। दिसंबर में लगभग 4,530 टन कचरे का उत्पादन किया गया, जिसमें महाराष्ट्र का योगदान सबसे अधिक 629 टन है, इसके बाद केरल (542 टन) और गुजरात (479 टन) का स्थान है।

यह भी पढ़ें -  भारत को बातचीत में उलझाकर चीन ने फिर की दगाबाजी, लद्दाख के बाद अब पूर्वोत्तर- आखिर चाहता क्या है ड्रैगन!

Related Articles

यह भी पढ़ें -  Kisan tractor Rally: दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में रात 12 बजे इंटरनेट बैन, हिंसा के बाद लिया फैसला

रोम: इटली में सियासी उलटफेर, पीएम ग्यूसेप कोंते ने पद से दिया इस्तीफा

Stay Connected

58,023FansLike
2,849FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

Latest Articles

रोम: इटली में सियासी उलटफेर, पीएम ग्यूसेप कोंते ने पद से दिया इस्तीफा

रोम|..... इटली के पीएम ग्यूसेप कोंते ने सीनेट में अपनी सरकार को गिराने से बचाने के बाद अपने गठबंधन के बाहर के सांसदों से...

गणतंत्र दिवस समारोह में उत्तराखण्ड राज्य की ओर से “केदारखंड” की झांकी की गई...

72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ, नई दिल्ली में उत्तराखण्ड राज्य की ओर से “केदारखंड” की झांकी प्रदर्शित की गई. राजपथ पर...

अपने गणतंत्र दिवस और लोकतंत्र के महापर्व पर हम दुनिया के सामने मजाक बन...

नहीं-नहीं यह किसान नहीं हो सकते हैं. यह तो उपद्रवी थे. जिन्होंने हमारा गणतंत्र दिवस और लोकतंत्र को पूरे दुनिया के सामने शर्मसार कर...

लाल किले पर झंडा मामले को लेकर भड़के नेता, शशि थरूर से लेकर संजय...

दिल्ली में आज का दिन कई मायनों में याद रखा जाएगा, आज किसानों ने कृषि कानूनों के विरोध में ट्रैक्टर रैली का आयोजन किया...

Kisan tractor Rally: दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में रात 12 बजे इंटरनेट बैन,...

गणतंत्र दिवस के दिन किसानों के ट्रैक्टर मार्च में हिंसा के बाद दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में इंटरनेट बैन कर दिया...

चरमराई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए बजट 2021 में होंगे कई बड़े...

नई दिल्ली| भारत धीरे-धीरे कोविड-19 महामारी के प्रकोप बाहर निकल रहा है और इसको देखते हुए कि टीकाकरण अभियान पहले ही शुरू हो...

Kisan tractor Rally: किसानों के कब्जे में लाल किला, फहराए अपने संगठनों के झंडे

केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे 41 किसान संगठनों का संयुक्त किसान मोर्चा ने आज (26 जनवरी 2021) ट्रैक्टर रैली...

भारत में लॉन्च हुआ FAU-G गेम, जानें फोन में डाउनलोड करने का तरीका- इसके...

FAU-G गेम आखिरकार भारत में लॉन्च हो गया है. बेसब्री से इंतज़ार हो रहे इस गेम को nCORE गेमिंग नाम की भारतीय कंपनी...

उत्तराखंड: बीजेपी मिशन 2022 में जुटी, जीत के लिए बनाया ये खास प्लान…

देहरादून| उत्तराखंड बीजेपी मिशन 2022 में जुट गई है. इस बार टारगेट 60 सीटों के साथ सत्ता में वापसी का है. पिछले विधानसभा चुनाव...

Tractor Parade: किसानों पर संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में छोड़ी आंसू गैस, गाजीपुर में...

दिल्ली पुलिस से इजाजत मिलने के बाद आज गणतंत्र दिवस के अवसर पर तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान दिल्ली में 'ट्रैक्टर परेड' निकाल...