हैलो उत्तराखंड!

क्या वानर सेना ने बनाई थी राम सेतु! सारे रहस्य अब आएंगे बाहर

आपने रामसेतु के बारे में रामायण में ही सुना होगा. इस सेतु के बारे में दुनिया उतना ही जानती है जितना रामायण में बताया गया है.

हिन्दू धार्मिक ग्रंथ रामायण के अनुसार यह एक ऐसा पुल है, जिसे भगवान राम की वानर सेना द्वारा भारत के दक्षिणी भाग रामेश्वरम पर बनाया गया था, जिसका दूसरा किनारा वास्तव में श्रीलंका के मन्नार तक जाकर जुड़ता है.

हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार जब लंकापति रावण मां सीता का हरण कर लंका ले गया था तो तब भगवान राम की वानर सेना ने समुद्र के बीचोंबीच एक पुल का निर्माण किया था जिसे रामसेतु कहा जाता है.

रिसर्च शुरू
इस सेतु को लेकर समय-समय पर सवाल भी उठते रहे हैं. बीच समुद्र में मौजूद इस पुल को कब और कैसे बनाया गया था, इसके साइंटिफिक जवाब जानने के लिए अब भारतीय पुरातत्व विभाग (ASI) ने एक विशेष अनुसंधान यानि रिसर्च शुरू किया है जिसके तह समुद्र के नीचे एक परियोजना संचालित की जाएगी जिसमें वैज्ञानिक भी हिस्सा लेंगे. वैज्ञानिकों की मानें तो इसके जरिए उन्हें रामायण काल के बारे में और अधिक जानकारी हासिल हो सकती है.

ऐसे होगी रिसर्च
खबरों के मुताबिक, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एसआई) ने इस सर्वे को हरी झंडी दे दी है. एसआई के सेंट्रल एडवायजरी बोर्ड ने सीएसआईआर-नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ ओशनोग्राफी, गोवा द्वारा इसे अंजाम दिया जाएगा. पर्यावरणीय डेटा के जिरए इस सेतु का अध्ययन किया जाएगा. इस रिसर्च के लिए एनआईओ की तरफ से सिंधु संकल्‍प या सिंधु साधना नाम के जहाजों को उपयोग में लाने जाने का प्रस्ताव है जो पानी के अंदर जाकर आसानी से नमूने एकत्र करेंगे.

समय समय पर उठते रहे हैं सवाल
तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे करुणानिधि ने भगवान राम और रामसेतु के बारे में विवादित बयान देते हुए कहा था, ‘क्या राम इंजीनियर थे जो उन्होंने पुल बनाया था. राम नाम के किसी व्यक्ति का अस्तित्व नहीं है.’ यही नहीं वर्ष 2007 में यूपीए सरकार के दौरान भारतीय पुरातत्व सर्वे (एएसआई) ने अपने हलफनामे में रामायण के पौराणिक चरित्रों के अस्तित्व को ही नकार दिया था. इसके बाद विवाद बड़ा तो सरकार को सुप्रीम कोर्ट में नया हलफनामा फेश करना पड़ा था.

ऐसी है मान्यता
ऐसी मान्यता है कि इस पुल को बनाने के लिए जिन पत्थरों का इस्तेमाल किया गया था वह पत्थर पानी में फेंकने के बाद समुद्र में नहीं डूबे. बल्कि पानी की सतह पर ही तैरते रहे. ऐसा क्या कारण था कि यह पत्थर पानी में नहीं डूबे? कुछ लोग इसे धार्मिक महत्व देते हुए ईश्वर का चमत्कार मानते हैं. कहते हैं कि यह विशाल पुल वानर सेना द्वारा केवल 5 दिनों में ही तैयार कर लिया गया था. कहते हैं कि निर्माण पूर्ण होने के बाद इस पुल की लम्बाई 30 किलोमीटर और चौड़ाई 3 किलोमीटर थी.

यह भी पढ़ें -  Covid19: देश में छह महीने बाद सबसे कम केस, 24 घंटे में मिले 10,064 नए मरीज- 137 लोगों की मौत
यह भी पढ़ें -  20 जनवरी 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

Related Articles

Stay Connected

58,042FansLike
2,849FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

विज्ञापन

Latest Articles

26 जनवरी परेड

परेड में व्यवधान नहीं डाल पाएंगे किसान, तीन स्तरीय होगी बाहरी सुरक्षा

किसान टिकट खरीदकर या पास लेकर 26 जनवरी की परेड में खलल नहीं डाल पाएंगे। ऐसे किसानों को पकड़ने के लिए दिल्ली पुलिस हर...

केन्द्र से उत्तराखण्ड को उपलब्ध कराई जा रही है कोविशिल्ड वैक्सीन की 92500 अतिरिक्त...

केन्द्र सरकार से उत्तराखण्ड को कोविड-19 के टीकाकरण के लिए कोविशिल्ड वैक्सीन की 92500 डोज उपलब्ध कराई जा रही है. यह वैक्सीन बुधवार 20...

24 घंटे में मिले 13823 नए मरीज, देश में अब तक 96.64 प्रतिशत लोगों...

देश में अब तक 1 करोड़ 5 लाख 95 हजार 660 केस हो चुके हैं. पिछले 24 घंटे में कोरोना के 13 हजार 823...

पश्चिम बंगाल: कोहरा बना काल, जलपाईगुड़ी में भीषण सड़क हादसा-13 लोगों की मौत

कोलकाता| पश्चिम बंगाल में मंगलवार रात छाए कोहरे की वजह से एक भीषण सड़क हादसा हुआ. जलपाईगुड़ी के धुपगुड़ी इलाके में हुए सड़क हादसे...
किसान सरकार

कृषि कानूनों पर जारी रहेगा घमासान या कुछ निकलेगा समाधान? किसानों-सरकार में आज दसवें...

दिल्ली की सीमाओं पर नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों का हल्लाबोल जारी है। प्रदर्शनकारी किसान कृषि कानूनों की वापसी...

घर बैठे-बैठे घटा सकते हैं कई किलो वजन, बस दबाने होंगे शरीर के ये...

Acupressure Points for Weight Loss: बढ़ते वजन से छुटकारा पाने के लिए अगर आप योगा, एक्सरसाइज, वॉक और जॉगिंग जैसे सभी विकल्प अपनाकर थक चुके...

दुनिया देखे कि कैसे संकट में पड़ोसियों का सहारा बना है भारत, आज से...

भारत सरकार ने भूटान, मालदीव, बांग्लादेश, नेपाल, म्यांमार और सेशेल्स को अनुदान सहायता के तहत आज यानी 20 जनवरी से कोरोना वैक्सीन की आपूर्ति...

राशिफल 20-01-2021: आज बुधदेव बरसाएंगे इन राशियों पर अपनी कृपा

मेष: आर्थिक लाभ से उन्नति सम्भव है . व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी. भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे. वस्तुएं संभालकर रखें. अस्वस्थता और चिंता रहेगी....

20 जनवरी 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 20 जनवरी 2021 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

Covid19: उत्तराखंड में मिले 116 नए संक्रमित मिले, दो की मौत

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों के साथ ही मरीजों की मौत के मामले भी थमने लगे हैं. बीते 24 घंटे के भीतर दो कोरोना संक्रमित...