उत्तरायणी : ‘काले कौआ काले, घुघुती माला खाले’ को लेकर ये कहानी सुनी है आपने?

--Advertisement--

मकर संक्रांति के मौके पर 14 जनवरी से शुरू होने वाला बागेश्वर का मशहूर उत्तरायणी मेला सांस्कृतिक के साथ-साथ ऐतिहासिक धरोहर के रूप में भी मशहूर है. यहां के उत्तरायणी मेले को लेकर एक खास कथा भी प्रचलित है.

उत्तराखंड में काफी लंबे समय तक चंदवंशी राजाओं का राज रहा. चंदवंशी राजा कल्याण सिंह की कोई संतान नहीं थी. उन्हें बताया गया कि बागनाथ के दरबार में मन्‍नत मांगने से उन्हें निश्चित ही संतान की प्राप्त होगी. राजा ने ऐसा ही किया और फिर उन्हें पुत्ररत्न की प्राप्ति हुई, उन्होंने अपने बेटे का नाम निर्भय चन्द्र रखा गया.

पुत्र प्राप्ति से बहुत प्रसन्न रानी ने बच्चे को बहुमूल्य मोती की माला पहनाई. माला पहनकर बेटा बेहद प्रसन्न रहता था. एक बार जब बालक जिद करने लगा तो रानी ने उसे डराने के लिए उसकी माला कौवे को देने की धमकी दे दी. अब बच्चा एक और जिद करने लगा कि कौवे को बुलाओ. रानी ने बच्चे को मनाने के लिए कौवे को बुलाना शुरू कर दिया.

राजा का बेटा होने के नाते बच्चा तरह-तरह के पकवान और मिठाइयों का भरपूर लुत्फ लेता था. पकवान और मिठाइयां खाने के बाद बचा-खुचा खाना कौओं को भी मिल जाता था. इसलिए कौवे बालक के इर्द-गिर्द घूमते रहते थे और इस तरह राजा के बेटे की कौओं से दोस्ती हो गई.

राजा का एक मंत्री था, जिसका नाम घुघुती था. राजा के नि:संतान होने के कारण घुघती राजा के बाद राज्य का स्वामित्व पाने के सपने देखा करता था, लेकिन निर्भय चन्द्र के कारण उसकी इच्छा फलीभूत न हो सकी. इसी कारण वह निर्भय चन्द्र की हत्या की साजिशें रचने लगा और एक बार बालक को चुपचाप से घने जंगल में ले गया.

कौओं ने जब आंगन में अपने दोस्त राजा के बेटे को नहीं देखा तो आकाश में उड़कर इधर-उधर उसे ढूंढ़ने लगे. अचानक उनकी नजर मंत्री पर पड़ी, जो बालक की हत्या की तैयारी कर रहा था. कौओं ने कांव-कांव का शोर करके बालक के गले की माला अपनी चोंच में उठाकर राजमहल के प्रांगण में डाल दी. बच्चे की टूटी माला देखकर सब आशंकित हो गए तो मंत्री को बुलाया गया, लेकिन मंत्री कहीं नहीं मिला.

राजा को किसी तरह साजिश की भनक लग गई और उन्होंने कौओं के पीछे-पीछे सैनिक भेज दिए. वहां जाकर उन्होंने देखा कि हजारों कौओं ने मंत्री घुघुती को चोंच मार-मारकर बुरी तरह घायल कर दिया था और बच्चा कौओं के साथ खेलने में मगन था. निर्भय चंद्र और मंत्री को लेकर सैनिक लौट आए.

उत्तरायणी मेला बागेश्वर
सारे कौवे भी आकर राजदरबार की मीनार पर बैठ गए. मंत्री को मौत की सजा सुनाई गई और उसके शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर कौओं को खिला दिए गए. लेकिन जब इससे कौवों का पेट नहीं भरा तो निर्भय चंद्र की प्राण रक्षा के उपहारस्वरूप विभिन्‍न प्रकार के पकवान बनाकर उन्हें खिलाए गए.

इस घटना से ही हर साल घुघुती माला बनाकर कौओं को खिलाने की परम्परा शुरू हुई. यह संयोग ही था कि उस दिन मकर संक्रांति थी, इसीलिए उत्तरायणी मेले का मकर संक्रांति के दिन शुरू होने का खासा महत्त्व है.

मान्‍यता के अनुसार, संक्रांति की सुबह जल्दी उठकर बच्चों को तिलक लगाकर, उनके गले में घुघुती की माला पहनाकर ‘काले कौआ काले, घुघती माला खाले’ कहने के लिए छत-आंगन या घर के दरवाजे पर खड़ा कर दिया जाता है. यह त्योहार बच्चों का ही त्योहार माना जाता है.

बच्चे इस दिन बहुत खुश रहते हैं. अपनी माला में गछे, गेहूं के आटे में गुड़ मिलाकर घी या तेल में पके खजूरों को घुघुती का प्रतीक मानकर चिल्ला-चिल्ला कर गाते हैं – ‘काले कौआ काले, घुघुती माला खाले.

यह भी पढ़ें -  सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार की पेगासस जासूसी मामले की अर्जी, अगले हफ्ते होगी सुनवाई
यह भी पढ़ें -  Tokyo Olympics 2020: भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु सेमीफाइनल में हारी, अब ब्रॉन्ज मेडल मैच में भिड़ेंगी

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

यह भी पढ़ें -  बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो ने किया राजनीति से संन्यास का ऐलान

Stay Connected

58,944FansLike
3,041FollowersFollow
474SubscribersSubscribe
--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

जम्‍मू-कश्मीर: पुलवामा हमले के साजिशकर्ताओं में शामिल मोहम्‍मद इस्‍माल अल्‍वी मुठभेड़ में ढेर

श्रीनगर| जम्‍मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षा बलों ने शनिवार को एक मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया, जिनका संबंध पाकिस्‍तान स्थित आतंकी...

बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो ने किया राजनीति से संन्यास का ऐलान

बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास का ऐलान कर दिया है. सुप्रियो ने सोशल मीडिया के जरिए संन्यास का ऐलान किया है. हालांकि...

Tokyo Olympics 2020: भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु सेमीफाइनल में हारी, अब ब्रॉन्ज...

भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु टोक्यो ओलंपिक में बैडमिंटन सिंगल्स के सेमीफाइनल में हार गईं. चीनी ताइपे की खिलाड़ी ताई जु यिंग ने...

यूपी बोर्ड 10वीं, 12वीं का रिजल्‍ट घोषित, ऐसे करें चेक

यूपी बोर्ड के 10वीं व 12वीं के रिजल्‍ट (शनिवार, 31 जुलाई) जारी कर दिए गए हैं. शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए यूपी बोर्ड का...

उत्तराखंड बीजेपी हो सकता है एक और बड़ा बदलाव, मदन कौशिक की जगह...

देहरादून| उत्तराखंड बीजेपी एक और बड़े बदलाव की ओर बढ़ रही है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक की जगह किसी और को जिम्मेदारी...

रेप केस में सिविल जज को अवमानना का नोटिस, उत्तराखंड हाई कोर्ट ने चार...

नैनीताल| उत्तराखंड हाई कोर्ट ने एक निचली अदालत को कोर्ट की अवमानना का नोटिस जारी करते हुए जवाब तलब किया है. बलात्कार के...

एक अगस्त से बैंक-एटीएम के बदल जाएंगे नियम,जाने क्या फर्क पड़ेगा आप पर

केंद्र सरकार एक बार फिर बैंक और एटीएम में नई व्यवस्था लागू करने जा रही है. इन नए बदलाव को आप भी जान लीजिए....

श्रीलंका क्रिकेट ने गुणाथिलका, मेंडिस और डिकवेला पर लगाया बैन , लगाया एक करोड़...

शुक्रवार (30 जुलाई) को श्रीलंका क्रिकेट ने दनुष्का गुणाथिलका , कुसल मेंडिस और निरोशन डिकवेला के इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने पर एक साल का और...

महान फनकार: मोहम्मद रफी की एक बार मखमली आवाज सुन लेता वह कभी नहीं...

आज से 41 वर्ष पहले देश ने एक महान फनकार और मखमली आवाज को खो दिया था. आज 31 जुलाई है जब-जब यह तारीख...

1 अगस्त से यूएन सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालेगा भारत, आतंकवाद पर रहेगा विशेष...

संयुक्त राष्ट्र|.... भारत एक अगस्त को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालेगा और इस दौरान वह तीन प्रमुख क्षेत्रों समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षण और...