हैलो उत्तराखंड!

कृषि कानूनों पर जारी रहेगा घमासान या कुछ निकलेगा समाधान? किसानों-सरकार में आज दसवें दौर की बातचीत

दिल्ली की सीमाओं पर नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों का हल्लाबोल जारी है। प्रदर्शनकारी किसान कृषि कानूनों की वापसी की मांग पर अड़े हैं। आज यानी कि 20 जनवरी को एक बार फिर से किसान संगठनों और सरकार के बीच दसवें दौर की वार्ता होगी। अब तक किसानों और सरकार के बीच नौ दौर की बैठक हो चुकी है, मगर सभी बेनतीजा ही रहे हैं।

न तो सरकार इस मसले पर झुकना चाहती है और न ही किसान अपनी मांगों से पीछे हटने को तैयार हैं। केंद्र ने कहा है कि दोनों पक्ष जल्द से जल्द गतिरोध सुलझाना चाहते हैं लेकिन अलग विचारधारा के लोगों की संलिप्तता की वजह से इसमें देरी हो रही है। यह बैठक मंगलवार को होनी थी, मगर इसे आज के लिए अंतिम वक्त में टाल दिया गया। बता दें कि आज सुप्रीम कोर्ट में किसानों की ट्रैक्टर रैली के मसले पर भी सुनवाई है।

यह भी पढ़ें -  नीरव मोदी मामले में बड़ी सफलता, ब्रिटेन की अदालत ने दिया भारत प्रत्यर्पण का आदेश

सरकार ने यह दावा किया कि नये कृषि कानून किसानों के हित में हैं और कहा कि जब भी कोई अच्छा कदम उठाया जाता है तो इसमें अड़चनें आती हैं। सरकार ने कहा कि मामले को सुलझाने में देरी इसलिए हो रही है क्योंकि किसान नेता अपने हिसाब से समाधान चाहते हैं।

यह भी पढ़ें -  27 फरवरी 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

कृषि मंत्रालय के एक बयान में सोमवार को कहा गया कि विज्ञान भवन में किसान संगठनों के साथ सरकार के मंत्रियों की वार्ता 19 जनवरी के बजाए 20 जनवरी को दोपहर दो बजे होगी। उच्चतम न्यायालय द्वारा इस मामले को सुलझाने के मकसद से गठित समिति ने मंगलवार को अपनी पहली बैठक की।

यह भी पढ़ें -  पीएम मोदी के नाम पर दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम, क्रिकेटर के नाम पर एक भी स्टेडियम नहीं

कृषि सचिव संजय अग्रवाल ने 40 किसान संगठनों को एक पत्र में कहा कि प्रदर्शनकारी किसान संगठनों के साथ सरकार के मंत्रियों की वार्ता 19 जनवरी को होने वाली थी। अपरिहार्य कारणों से बैठक को टालना आवश्यक हो गया। उन्होंने कहा था कि अब बैठक विज्ञान भवन में 20 जनवरी को दोपहर दो बजे से होगी। आपसे बैठक में भागीदारी करने का आग्रह किया जाता है।

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री पुरषोत्तम रूपाला ने का कहना है कि जब किसान हमसे सीधी बात करते हैं तो अलग बात होती है लेकिन जब इसमें नेता शामिल हो जाते हैं, अड़चनें सामने आती हैं। अगर किसानों से सीधी वार्ता होती तो जल्दी समाधान हो सकता था। उन्होंने कहा कि चूंकि विभिन्न विचारधारा के लोग इस आंदोलन में प्रवेश कर गए हैं, इसलिए वे अपने तरीके से समाधान चाहते हैं।

यह भी पढ़ें -  फटाफट समाचार (26 -02- 2021) सुनिए उत्तराखंड की खास खबरें

पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों के किसान दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर पिछले करीब दो महीनों से तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने इस बीच डिजिटल माध्यम से एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए दोहराया कि तीनों कृषि कानून किसानों के लिए लाभकारी होंगे।

यह भी पढ़ें -  IND vs ENG - जब विराट ने अक्षर पटेल को कहा- बापू तारी बोलिंग कमाल छे, देखे विडियो

उन्होंने कहा था कि पिछली सरकारें भी ये कानून लागू करना चाहती थीं लेकिन दबाव के कारण वे ऐसा नहीं कर सकीं। मोदी सरकार ने कड़े निर्णय लिए और ये कानून लेकर आई। जब भी कोई अच्छी चीज होती है तो अड़चने भी आती हैं।

Related Articles

Stay Connected

57,888FansLike
2,849FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

Latest Articles

27 फरवरी 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 27 फरवरी 2021 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

सीटेट परीक्षा का रिजल्ट हुआ घोषित, कुल 6,54,299 उम्मीदवार सफल

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) 2021 का रिजल्ट घोषित कर दिया गया है. सीटेट 2021 परीक्षा में कुल 6,54,299...

आठ चरणों में चुनाव कराए जाने पर ममता बनर्जी खफा, बोलीं- गृहमंत्री ताकत का...

शुक्रवार को चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल के लिए चुनावी तारीखों का ऐलान कर दिया है. बंगाल में आठ चरणों में चुनाव होंगे और...

विशेष: पांच राज्यों में चुनावी शंखनाद के साथ फिर शुरू हुआ लोकतंत्र का उत्सव,...

विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र देश भारत में एक बार फिर चुनावी उत्सव शुरू हो गया. कुछ समय पहले ही अक्टूबर-नवंबर महीने में बिहार...

उत्तराखंड: 5400 करोड़ लागत से 250 किमी राष्ट्रीय राजमार्गों का हुआ लोकार्पण व शिलान्यास

शुक्रवार को केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नीतिन गडकरी ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में उत्तराखण्ड...

पांच राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान, 2 मई को आएंगे नतीजे

शुक्रवार को चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल,असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में चुनावी तारीखों का ऐलान कर दिया है. पश्चिम बंगाल में आठ चरणों...

‘अखंड भारत’ पर मोहन भागवत ने दिया ये बड़ा बयान…

हैदराबाद| 'अखंड भारत' को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत ने बड़ा बयान दिया है. आरएसएस प्रमुख ने गुरुवार को 'अखंड...

यूसुफ पठान ने अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट से लिया संन्यास, कहा- दो वर्ल्ड कप...

टीम इंडिया के ऑलराउंडर यूसुफ पठान ने अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. दाएं हाथ के इस विस्फोटक बल्लेबाज ने भारत...
फटाफट समाचार

फटाफट समाचार (26 -02- 2021) सुनिए उत्तराखंड की खास खबरें

01 - शनिवार 27 फरवरी को होने वाले माघ पूर्णिमा स्नान को लेकर मेला पुलिस ने ट्रैफिक प्लान जारी कर दिया है। दिल्ली से...

चंद्रशेखर ने किया उत्तराखंड की सभी सीटों पर चुनाव लगने का ऐलान

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर रावण ने उत्तराखंड की सभी सीटों पर अपनी आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) के उम्मीदवार उतारने का ऐलान किया है। उन्होंने...