उमा भारती हुई मध्य प्रदेश की राजनीति में सक्रिय, क्या हैं सियासी मायने!

--Advertisement--

भोपाल| मध्यप्रदेश में एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती की सक्रियता बढ़ गई है और उन्होंने इसके लिए जनता से जुड़े शराबबंदी के मुद्दे को बड़ा हथियार बनाया है.

उमा भारती की इस सक्रियता के सियासी मायने भी खोजे जाने लगे हैं और कयास लगाया जा रहा है कि वह एक बार फिर मध्य प्रदेश की राजनीति में सक्रिय होने की तैयारी में तो नहीं है. राष्ट्रीय राजनीति के फलक पर उमा भारती की पहचान तेज-तर्रार नेता के तौर पर रही है और मध्य प्रदेश में भाजपा की जड़ों को जमाने में उनकी अहम भूमिका को कोई नकार नहीं सकता.

उन्होंने वर्ष 2003 में भाजपा को सत्ता में लाया था, मगर हुबली तिरंगा कांड के चलते उन्हें पद से इस्तीफा देना पड़ा था. उसके बाद वे राष्ट्रीय राजनीति में सक्रिय हुई और अपनी सियासी जमीन उत्तर प्रदेश में तैयार की. वर्तमान में वे तो ना तो भाजपा की सक्रिय राजनीति का हिस्सा है और न ही निर्वाचित जन प्रतिनिधि.

उमा भारती ने पिछले दिनों शराबबंदी का नारा बुलंद किया है और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा तक से भाजपा शासित राज्यों में शराबबंदी की मांग कर डाली. इतना ही नहीं वह शराबबंदी का नारा बुलंद करने के लिए मध्यप्रदेश पहुंची और यहां बेबाकी से अपनी बात रखी.

उमा भारती कहती हैं कि उनके पास शराबबंदी से होने वाले राजस्व की भरपाई का विकल्प भी है इस संदर्भ में वे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात भी करेंगी.

उमा भारती की मध्य प्रदेश में बढ़ती सक्रियता के सियासी मायने भी खोजे जाने लगे हैं. राज्य में उनके समर्थक बड़ी संख्या में हैं. उमा भारती के प्रभाव को वर्ष 2018 में हुए विधानसभा के उपचुनाव में देखा जा सकता है, जब उनके चार करीबियों को भाजपा ने उम्मीदवार नहीं बनाया तो चारों ने भाजपा का दामन छोड़कर कांग्रेस के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ा और जीत भी दर्ज की थी.

उनमें से दो बड़ा मलहरा से प्रद्युम्न सिंह लोधी और दमोह से राहुल लोधी कांग्रेस को छोड़कर फिर भाजपा में आ गए हैं. प्रद्युम्न लोधी तो मलहरा से निर्वाचित हो चुके हैं और अब दमोह से राहुल लोधी को उम्मीदवार बनाए जाने की कवायद जारी है. राहुल का विरोध भी हो रहा है.

राजनीतिक विश्लेषक शिव अनुराग पटेरिया भी उमा भारती के शराबबंदी वाले बयान को सियासी तौर पर महत्वपूर्ण मानते हैं. उनका कहना है कि उमा भारती ने शराबबंदी के बयान के जरिए आधी आबादी की आवाज उठाई है, वे हमेशा ही व्यवस्था के खिलाफ (एंटी स्टेबलिशमेंट) आवाज उठाने वाली नेता के तौर पर पहचानी जाती रही हैं.

आदर्श स्थिति में शराबबंदी होनी भी चाहिए. यह बात अलग है कि ये हो नहीं पाती. उन्होंने इस बयान के जरिए यह बता दिया है कि उनकी सक्रियता बनी हुई है और वे महिला की बड़ी पैरोकार बनकर सामने आई हैं.

यही कारण है कि मध्य प्रदेश सरकार को दो कदम आगे बढ़ाकर पीछे करना पड़ा है. वहीं वे असहमति के स्वर का भी नेतृत्व कर रही हैं. इतना ही नहीं अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश में हुआ हाथरस प्रकरण हो या किसान आंदोलन, दोनों ही मामलों में उन्होंने अपनी आवाज बुलंद की थी.

यह भी पढ़ें -  Tokyo Olympics 2021: भारत की कमलप्रीत कौर ने डिस्कस थ्रो के फाइनल के लिए किया क्वालिफाई
यह भी पढ़ें -  महान फनकार: मोहम्मद रफी की एक बार मखमली आवाज सुन लेता वह कभी नहीं भूलता

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

यह भी पढ़ें -  राशिफल 31-07-2021: आज इन राशियों पर रहेगी शनि देव की विशेष कृपा

Stay Connected

58,944FansLike
3,041FollowersFollow
474SubscribersSubscribe
--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

जम्‍मू-कश्मीर: पुलवामा हमले के साजिशकर्ताओं में शामिल मोहम्‍मद इस्‍माल अल्‍वी मुठभेड़ में ढेर

श्रीनगर| जम्‍मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षा बलों ने शनिवार को एक मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया, जिनका संबंध पाकिस्‍तान स्थित आतंकी...

बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो ने किया राजनीति से संन्यास का ऐलान

बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास का ऐलान कर दिया है. सुप्रियो ने सोशल मीडिया के जरिए संन्यास का ऐलान किया है. हालांकि...

Tokyo Olympics 2020: भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु सेमीफाइनल में हारी, अब ब्रॉन्ज...

भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु टोक्यो ओलंपिक में बैडमिंटन सिंगल्स के सेमीफाइनल में हार गईं. चीनी ताइपे की खिलाड़ी ताई जु यिंग ने...

यूपी बोर्ड 10वीं, 12वीं का रिजल्‍ट घोषित, ऐसे करें चेक

यूपी बोर्ड के 10वीं व 12वीं के रिजल्‍ट (शनिवार, 31 जुलाई) जारी कर दिए गए हैं. शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए यूपी बोर्ड का...

उत्तराखंड बीजेपी हो सकता है एक और बड़ा बदलाव, मदन कौशिक की जगह...

देहरादून| उत्तराखंड बीजेपी एक और बड़े बदलाव की ओर बढ़ रही है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक की जगह किसी और को जिम्मेदारी...

रेप केस में सिविल जज को अवमानना का नोटिस, उत्तराखंड हाई कोर्ट ने चार...

नैनीताल| उत्तराखंड हाई कोर्ट ने एक निचली अदालत को कोर्ट की अवमानना का नोटिस जारी करते हुए जवाब तलब किया है. बलात्कार के...

एक अगस्त से बैंक-एटीएम के बदल जाएंगे नियम,जाने क्या फर्क पड़ेगा आप पर

केंद्र सरकार एक बार फिर बैंक और एटीएम में नई व्यवस्था लागू करने जा रही है. इन नए बदलाव को आप भी जान लीजिए....

श्रीलंका क्रिकेट ने गुणाथिलका, मेंडिस और डिकवेला पर लगाया बैन , लगाया एक करोड़...

शुक्रवार (30 जुलाई) को श्रीलंका क्रिकेट ने दनुष्का गुणाथिलका , कुसल मेंडिस और निरोशन डिकवेला के इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने पर एक साल का और...

महान फनकार: मोहम्मद रफी की एक बार मखमली आवाज सुन लेता वह कभी नहीं...

आज से 41 वर्ष पहले देश ने एक महान फनकार और मखमली आवाज को खो दिया था. आज 31 जुलाई है जब-जब यह तारीख...

1 अगस्त से यूएन सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालेगा भारत, आतंकवाद पर रहेगा विशेष...

संयुक्त राष्ट्र|.... भारत एक अगस्त को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालेगा और इस दौरान वह तीन प्रमुख क्षेत्रों समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षण और...