विशेष: मंगल ग्रह पर ‘रोवर’ के सफल अभियान के पीछे भारत की बेटी स्वाति की रही अहम भूमिका

भारतीयों ने बता दिया कि हम दुनिया में सर्वश्रेष्ठ क्यों है. एक बार फिर से भारत की प्रतिभा का लोहा माना. दुनिया के तमाम विकसित देशों में हमारे देश के वैज्ञानिक, डॉक्टर और इंजीनियर सभी बड़े पोस्ट पर काबिज है. कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद एक और भारतीय बेटी ने अंतरिक्ष में फिर से देश का गौरव बढ़ा दिया.

आज हम बात करेंगे ‘नासा’ की.अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा में जश्न मनाया जा रहा है, क्योंकि उसका एक और अंतरिक्ष मिशन सफलता की ओर तेजी के साथ बढ़ रहा है. लेकिन इस कामयाबी के पीछे अहम भूमिका भारत-अमेरिकी मूल की वैज्ञानिक डॉ स्वाति मोहन की रही. देश में भी खुशी का माहौल है वहीं दूसरी ओर भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो के वैज्ञानिकों ने स्वाति मोहन को बधाई दी है.

भारतीय मूल की एक और अंतरिक्ष वैज्ञानिक स्वाति पर दुनिया गर्व कर रही है. हम आपको बता दें कि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ‘नासा’ द्वारा भेजा गया रोवर बृहस्पतिवार को मंगल ग्रह पर उतरने की दिशा में चल पड़ा. रोवर को किसी ग्रह की सतह पर उतारना अंतरिक्ष विज्ञान में सबसे जोखिम भरा कार्य होता है.

इस ऐतिहासिक मिशन का हिस्सा बनने वाले वैज्ञानिकों में भारतीय-अमेरिकी डॉ स्वाति मोहन की कड़ी मेहनत का नतीजा रहा. नासा ने गुरुवार देर रात करीब 2.30 बजे अपने मार्स पर्सिवरेंस रोवर को जेजेरो क्रेटर में सफलतापूर्वक लैंड कराया.

छह पहिए वाला यह रोवर मंगल ग्रह पर उतरकर वहां पर कई तरह की जानकारी जुटाएगा और ऐसी चट्टानें लेकर आएगा, जिनसे इन सवालों का जवाब मिल सकेगा कि क्या कभी लाल ग्रह पर जीवन था. इस ऐतिहासिक मिशन का हिस्सा बनने वाले वैज्ञानिकों में भारतीय-अमेरिकी डॉ. स्वाति मोहन ने कहा कि मंगल ग्रह पर टचडाउन की पुष्टि हो गई है.अब यह जीवन के संकेतों की तलाश शुरू करने के लिए तैयार है.

स्वाति मोहन का जन्म कर्नाटक के बेंगलुरु में हुआ था। स्वाति जब एक साल की थी तब उनके माता-पिता भारत से अमेरिका चले गए थे.उनका बचपन उत्तरी वर्जीनिया-वाशिंगटन डीसी मेट्रो क्षेत्र में बीता। स्वाति ने अपनी शुरुआती पढ़ाई के दौरान ठान लिया था कि उन्हें अंतरिक्ष के क्षेत्र में अपना करियर बनाना है. 9 साल की उम्र में पहली बार उन्होंने ‘स्टार ट्रेक’ देखी जिसके बाद वह ब्रह्मांड के नए क्षेत्रों के सुंदर चित्रों को देखकर आश्चर्य से भर गई थीं.

तब से वह ऐसा ही कुछ करना चाहती थीं. उनका सपना था कि वह ब्रह्मांड में ऐसे स्थान खोजें जो नए हों और अचरज से भरे हों. स्वाति ने मैकेनिकल और एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में विज्ञान में स्नातक की डिग्री हासिल की और एयरोनॉटिक्स /एस्ट्रोनॉटिक्स में एमआईटी से एमएस और पीएचडी पूरी की.

बता दें कि डॉ. स्वाति मोहन अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा में विकास प्रक्रिया के दौरान प्रमुख सिस्टम इंजीनियर होने के अलावा, टीम की देखभाल भी करती हैं और गाइडेंस, नेविगेशन और कंट्रोल के लिए मिशन कंट्रोल स्टाफिंग का शेड्यूल करती हैं. स्वाति पासाडेना, सीए में नासा के जेट प्रोपल्शन प्रयोगशाला में शुरुआत से ही मार्स रोवर मिशन की सदस्य रही हैं, इसके साथ ही डॉ. स्वाति नासा के विभिन्न महत्वपूर्ण मिशनों का हिस्सा भी रही हैं.

स्वाति ने कैसिनी (शनि के लिए एक मिशन) और ग्रेल (चंद्रमा पर अंतरिक्ष यान उड़ाए जाने की एक जोड़ी) परियोजनाओं पर भी काम किया है. आज जब रोवर मंगल पर लैंड कर गया है तो स्वाति की खुशी का ठिकाना नहीं रहा.

यह भी पढ़ें -  फिर बदलेगा उत्तराखंड के मौसम का मिजाज, रविवार और सोमवार को भारी बारिश के आसार

यह भी पढ़ें -  Covid19: उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले आठ नए कोरोना संक्रमित

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

यह भी पढ़ें -  17 अक्टूबर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

Stay Connected

58,944FansLike
3,082FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

उत्तराखण्ड पूर्ण रूप से पात्र लाभार्थियों को कोविड-19 वैक्सीन की प्रथम डोज लगाये जाने...

उत्तराखण्ड राज्य, पूर्ण रूप से पात्र लाभार्थियों को कोविड-19 वैक्सीन की प्रथम डोज लगाये जाने वाला राज्य बन गया है. मीडिया सेंटर सचिवालय में...

उत्तराखंड: दो-तीन दिन तक भारी बारिश की चेतावनी जारी, 18 अक्टूबर को सभी जिलों...

मौसम विभाग ने उत्तराखंड में दो-तीन दिन तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. इसे देखते हुए एहतियातन प्रदेश के सभी जिलों...

आसान नहीं होगी सोनिया की अगुवाई में कांग्रेस की राह, सामने है ये चुनौतियां

शनिवार को (16अक्टूबर ) सोनिया गांधी ने हुई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बेहद अहम बैठक में इस बात पर खासा जोर दिया...

बीसीसीआई ने हेड कोच सहित 5 पदों के लिए निकाला विज्ञापन

पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ को मुख्य कोच बनने के लिये मनाने के दो दिन बाद बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) ने लोढा समिति की...

गूगल ने किया किस बारे में खुलासा जो है खतरे की घंटी, आप भी...

गूगल की एक रिपोर्ट का कहना है कि रैंसमवेयर की मुसीबत झेल रहे दुनिया के 140 देशों की लिस्ट में भारत छठवें नंबर...

पश्चिम बंगाल: दुर्गापुर में ‘दुर्गा प्रतिमा विसर्जन’ से लौट रही भीड़...

शनिवार रात पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में 'दुर्गा प्रतिमा विसर्जन' से लौट रही भीड़ पर कुछ लोगों ने देशी बम...

सिद्धू ने सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी, इन 13 मुद्दों का किया जिक्र

एक बार फिर पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने चिट्ठी लिखी है. कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को चार पेज की...

लौटा मानसून: संडे सुबह लोगों का बारिश से हुआ ‘सामना’, कई राज्यों में तीन...

आज संडे छुट्टी के दिन कई राज्यों में जब लोग सुबह उठे तब उनका 'स्वागत' बारिश ने किया. अचानक हुई बारिश से लोग 'सहम'...

उत्तराखंड के स्कूलों से लगातार आ रही कोरोना की खबर, दून स्कूल में...

देहरादून से एक बड़ी खबर सामने आ रही यहां के दून स्कूल में दो छात्रों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है. दोनों छात्रों...

Covid 19: देश में कोरोना के नए मामलों में आ रही कमी, 24 घंटे...

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में लगातार कमी देखी जा रही है. रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार...