‘अखंड भारत’ पर मोहन भागवत ने दिया ये बड़ा बयान…

हैदराबाद| ‘अखंड भारत’ को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत ने बड़ा बयान दिया है. आरएसएस प्रमुख ने गुरुवार को ‘अखंड भारत’ (अविभाजित भारत) पर जोर देते हुए कहा कि यह अवधारणा हिंदुस्तान से अलग होने वाले पाकिस्तान जैसे देशों के लिए लाभकारी होगी. संस्कृत के एक पुस्तक के विमोचन मौके पर भागवत ने कहा कि ‘अखंड भारत’ का सपना हिंदू धर्म से साकार हो सकता है.

यह उपनिवेशवाद नहीं-आरएसएस प्रमुख

उन्होंने कहा, ‘हम पाकिस्तान एवं अफगानिस्तान जैसे देशों को अपना मानते हैं. एक समय वे हमारे साथ थे. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे किस धर्म का पालन करते हैं और वे क्या खाते हैं. यह उपनिवेशवाद नहीं है. भारत वसुधैव कुटुम्बकम (पूरा विश्व एक परिवार है) की अवधारणा में विश्वास करता है.’

‘हम आज भी उन्हें अपना मानते हैं’
समारोह में भागवत से पूछा गया कि क्या भारत से अलग होने के बाद पाकिस्तान और गंधार (अफगानिस्तान) में शांति हो पाई. इस पर उन्होंने कहा, ‘चूंकि वे जीवन की ऊर्जा (भारत) से अलग हुए. हम आज भी उन्हें पहले की तरह अपना मानकर अपनाने के लिए तैयार हैं.’ आरएसएस प्रमुख ने कहा कि ‘अखंड भारत’ संभव है. कुछ लोगों ने देश के बंटवारे से छह महीने पहले विभाजन पर आशंका जाहिर की थी. ‘जवाहललाल नेहरू ने इसे मूर्खों का सपना कहते हुए’ खारिज किया. इसी तरह से कुछ भी हो सकता है.’ भागवत के मुताबिक ब्रिटिश संसद में लॉर्ड वेभेल ने कहा था कि ‘ईश्वर ने भारत का निर्माण किया है और इसे कौन विभाजित करने जा रहा है.’

‘किसी पर उपनिवेशवाद थोपना नहीं’

भागवत ने आगे कहा कि ‘अखंड भारत’ की बात करना किसी पर उपनिवेशवाद थोपना नहीं है. उन्होंने कहा, ‘जब हम एकजुट होने की बात करते हैं तो हम ताकत की बात नहीं करते. यह लोगों के जुड़ने की बात होती है. लोग ‘सनातन धर्म’ से जुड़ते हैं जिसे हिंदू धर्म कहा जाता है.’ आरएसएस प्रमुख शुक्रवार को अदीलाबाद में एक कार्यक्रम को संबोधित करने वाले हैं.

भारत से जुड़कर सुलझेंगी समस्याएं-भागवत
उन्होंने कहा, ‘इन देशों ने वह सब कुछ किया, जो वह कर सकते थे, लेकिन उन्हें कोई समाधान नहीं मिला. इसका एक मात्र समाधान (भारत के साथ) फिर से जुड़ना है और इससे उनकी सभी समस्याएं सुलझ जाएंगी.’आरएसएस प्रमुख ने कहा कि लेकिन पुन: एकीकरण मानवीय धर्म के जरिए किया जाना चाहिए जो उनके अनुसार ‘हिंदू धर्म’ कहा जा जाता है. उन्होंने कहा कि वसुधैव कुटुम्बकम् के जरिए भारत दुनिया में फिर से खुशहाली और शांति ला सकता है.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: हरिद्वार के शांतिकुंज पहुंचे मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री धामी से की मुलाकात

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,158FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

आंध्र प्रदेश में चक्रवात जवाद का खौफ: सरकार ने दिया दो दिनों तक स्कूल...

0
आंध्र प्रदेश में चक्रवात जवाद के खौफ से सरकार ने विशाखापत्तनम और श्रीकाकुलम जिलों में स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया गया है....

पीएम मोदी ने किया इनफिनिटी फोरम का उद्घाटन, पढ़े पीएम का महत्वपूर्ण भाषण

0
शुक्रवार को पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फिनटेक पर एक विचारशील नेतृत्व मंच, इनफिनिटी फोरम का उद्घाटन किया है. पीएम मोदी...

निलंबित सांसदों के प्रदर्शन के विरोध में भाजपा सांसदों ने निकाला पैदल मार्च

0
गांधी प्रतिमा पर धरना दे रहे विपक्षी दलों के सांसदों के विरोध में शुक्रवार को भाजपा सांसदों ने गांधी प्रतिमा से लेकर बाबा साहेब...

विशेष: भोपाल गैस त्रासदी के 37 बरस-5 हजार से अधिक लोगों ने जहरीली गैस...

0
आज से 37 साल पहले विश्व की भीषणतम औद्योगिक त्रासदी यानी भोपाल गैस कांड ने पूरी दुनिया को झकझोर कर दिया था. इस घटना...

IND vs NZ 2nd Test: टीम इंडिया की पारी शुरू, मयंक-गिल क्रीज पर

0
भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का आज दूसरा और आखिरी मुकाबला है. इस सीरीज का पहला मैच ड्रॉ होने के...

फटाफट समाचार (3-12-2021) सुनिए अब तक की ख़ास खबरें

0
देश में 'ओमिक्रोन' की दस्तक से बढे कोरोना के मामले, बीते 24 घंटो में सामने आये 9,216 नए केस उत्तराखंड राज्य में गुरुवार...

उत्तराखंड में बदला मौसम का मिज़ाज, पहाड़ों में बर्फबारी -मैदानों में रिमझिम बारिश

0
देहरादून| उत्तराखंड में मौसम का मिज़ाज बदल गया है. पहाड़ी इलाकों में बर्फीली हवाएं शुरू हो गई हैं. मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक पहाड़ी...

उत्तराखंड: देहरादून में पीएम मोदी की रैली को लेकर चार दिसंबर को बदले रहेंगे...

0
कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उत्तराखंड दौरा है. देहरादून के परेड ग्राउंड में मोदी रैली में हिस्सा लेंगे. इसको देखते हुए पुलिस ने रूट...

नए साल 2022 से एटीएम से कैश निकालना पड़ेगा महंगा, जानिए डिटेल्स

0
अगले महीने यानी साल 2022 से एटीएम से कैश निकालना महंगा पड़ेगा. जी हां..अब कैश निकालना और महंगा होने वाला है. ग्राहक...

दिल्ली में प्रदूषण: सुनवाई से पहले केंद्र सरकार ने सुप्रीमकोर्ट में दाखिल किया हलफनामा

0
दिल्ली में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट के तेवर सख्त हैं. कागजी समाधानों से प्रदूषण कम न होता देख कोर्ट अपनी नाराजगी जता चुका...