13 अप्रैल से शुरू होगा नया संवत्सर – 2078, राजा और मंत्री होंगे मंगल

चैत्र मास के शुक्ल पक्ष के प्रथम दिन ही सूर्योदय के समय ब्रह्मा जी ने पृथ्वी की रचना की थी. यही मुख्य कारण है कि, पंचांग अनुसार हर वर्ष चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा अर्थात प्रथम तिथि के साथ ही, हिन्दू नव वर्ष का प्रारंभ भी होता है और इसी दिन से नया संवत्सर लागू होता है.

वर्ष 2021 में दिनांक 13 अप्रैल, मंगलवार से नव संवत्सर 2078 आरंभ होगा. और इसी दिन गुड़ी पड़वा भी है. यह संवत्सर 2078 है, जिसका नाम राक्षस है.

परंतु मंगलवार से प्रारंभ हो रही प्रतिपदा के कारण इस संवत का राजा क्रूर ग्रह मंगल होगा. मंगल दंगल भी कराता है और मंगल भी करता है. पंचांग की गणना से देखें तो इस बार 13 अप्रैल मंगलवार को आनंद संवत्सर का आरंभ हो रहा है. चैत्र शुक्ल प्रतिपदा गुड़ी पड़वा पर 13 अप्रैल को अमृतसिद्धि योग में नव संवत्सर आनंद का आरंभ होगा. मंगलवार के दिन वर्ष का आरंभ होने से वर्ष के राजा मंगल होंगे. मंत्री का पद भी मंगल के पास रहेगा.

क्या होता है नवसंवत्सर-

नया वर्ष लगने पर नया संवत्सर भी प्रारंभ होता है. जैसे बारह माह होते हैं उसी तरह 60 संवत्सर होते हैं. संवत्सर अर्थात बारह महीने का कालविशेष. सूर्यसिद्धान्त अनुसार संवत्सर बृहस्पति ग्रह के आधार पर निर्धारित किए जाते हैं. 60 संवत्सरों में 20-20-20 के तीन हिस्से हैं जिनको ब्रह्माविंशति (1-20), विष्णुविंशति (21-40) और शिवविंशति (41-60) कहते हैं.

60 संवत्सर : संवत्सर को वर्ष कहते हैं: प्रत्येक वर्ष का अलग नाम होता है. कुल 60 वर्ष होते हैं तो एक चक्र पूरा हो जाता है. वर्तमान में प्रमादी नामक संवत्सर है. 13 अप्रैल से आनंद नामक संवत्सर शुरू होगा.

संवत्सर का नाम इस प्रकार हैं:- प्रभव, विभव, शुक्ल, प्रमोद, प्रजापति, अंगिरा, श्रीमुख, भाव, युवा, धाता, ईश्वर, बहुधान्य, प्रमाथी, विक्रम, वृषप्रजा, चित्रभानु, सुभानु, तारण, पार्थिव, अव्यय, सर्वजीत, सर्वधारी, विरोधी, विकृति, खर, नंदन, विजय, जय, मन्मथ, दुर्मुख, हेमलम्बी, विलम्बी, विकारी, शार्वरी, प्लव, शुभकृत, शोभकृत, क्रोधी, विश्वावसु, पराभव, प्ल्वंग, कीलक, सौम्य, साधारण, विरोधकृत, परिधावी, प्रमादी, आनंद, राक्षस, नल, पिंगल, काल, सिद्धार्थ, रौद्रि, दुर्मति, दुन्दुभी, रूधिरोद्गारी, रक्ताक्षी, क्रोधन और अक्षय.

जैसा कि मंगलवार से नया संवत्सर शुरू होने के कारण इस संवत्सर का राजा और मंत्री मंगल हैं.
मंगल को युद्ध का देवता कहा जाता जाता है. यह हिंसा, दुर्घटना, भूकंप, विनाश, शक्ति, सशस्त्र बलों, सेना, पुलिस, इंजीनियरिंग, अग्निशमन, शल्य चिकित्सा, कसाई, छिपकर हत्या करने वाला, दुर्घटना, अपहरण, बलात्कार, उपद्रव, सामाजिक और राजैनतिक अस्थिरता के कारक ग्रह हैं. विक्रम संवत 2078 के राजा मंगल होने से इस साल आंधी-तूफान का भी जोर रहेगा. मतलब लोग महामारी से मुक्त होंगे परंतु उपद्रव और प्राकृतिक घटनाओं से परेशान रहेंगे. यह वर्ष पूरी दुनिया को अच्छी और बुरी घटनाओं से प्रभावित करेगा तथा अप्रिय घटनाएं भी होंगी. कई देशों में तनाव और आपसी टकराव की बमबारी भूंकप पहाड़ों से आपदाएं आती हुई नजर आएंगी.

यह भी पढ़ें -  अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी की फ्लाइट में कुछ इस प्रकार हुई मुलाकात

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo - 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल - [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,109FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी की फ्लाइट में कुछ इस प्रकार हुई मुलाकात

0
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव, यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी की आज एक फ्लाइट में अचानक मुलाकात हुई....

सीएम धामी ने की अपने एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री ने राज्य में अक्तूबर...

…तो इस कारण नरसिम्हा राव सरकार नहीं लाई नेताजी की अस्थियां, हुआ बड़ा खुलासा

0
पीवी नरसिम्हा राव सरकार 1990 के दशक में जापान से नेताजी सुभाष चंद्र बोस की अस्थियां भारत लाने के करीब पहुंच गई थी,...

Covid19: बीते 24 घंटे में उत्तराखंड में मिले  12 नए मामले, एक भी मरीज...

0
उत्तराखंड में अब कोरोना संक्रमण काबू में आ गया है. बीते 24 घंटे में प्रदेश में 12 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत...

लौटे गृह राज्य: आलाकमान ने सुनी फरियाद, पंजाब प्रभारी पद से हरीश रावत मुक्त...

0
पंजाब की सियासत में पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बीच घमासान में फंसे पूर्व मुख्यमंत्री...

टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच रद्द टेस्ट मैच का आया नया शेड्यूल, जानें...

0
टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच रद्द हुए सीरीज के 5वें टेस्ट मैच (IND vs ENG) को अगले साल जुलाई महीने के लिए शेड्यूल...

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की चुनावी प्रतिज्ञा के अनुसार कल से शुरू होगी यूपी...

0
यूपी विधानसभा चुनाव लिए कांग्रेस पार्टी प्रदेश भर में 23 अक्तूबर से प्रतिज्ञा यात्रा निकालेगी. इसके लिए सभी तैयारिया पूरी हो चुकी है. पूरे...

सत्यपाल मलिक ने किया बड़ा खुलासा: “अंबानी से जुड़ी फाइल पास करने के लिए...

0
जम्मू-कश्मीर के पूर्व गवर्नर एवं मौजूदा मेघालय के उप राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक बड़ा खुलासा किया है. सत्यपाल मलिक नें दावा किया है...

बिगड़ा बजट: फिलहाल राहत नहीं, अभी पेट्रोल-डीजल के दामों में और हो सकती है...

0
यह भी कहा जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव 90 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकता है. ऐसे में...

देहरादून: डिफेन्स कॉलोनी में हुआ अनोखी रामलीला का मंचन, बच्चों ने निभाए सभी पात्र

0
उत्तराखंड में बुराई खत्म करने का प्रतीकात्मक पर्व विजय दशमी पर्व धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया गया. राजधानी दून के कई जगहों में दशहरे मेले...