Chaitra Navratri 2021: नवरात्रि के पहले‌ दिन करें मां शैलपुत्री की पूजा, जानें मां शैलपुत्री की आरती-पूजा विधि

सनातन धर्म के प्रमुख पर्वों में से एक नवरात्रि का पर्व 13 अप्रैल से प्रारंभ हो रहा है. नवरात्रि का शुभ शुरुआत घटस्थापना के साथ होता है. इसी दिन अखंड ज्योत जलाया जाता है तथा माता शैलपुत्री की पूजा की जाती है. नवरात्र का पहला दिन मां दुर्गा के पहले स्वरूप मां शैलपुत्री को समर्पित है.

पौराणिक कथाओं के अनुसार, माता शैलपुत्री का जन्म पर्वतराज हिमालय के पुत्री के रूप में हुआ था इसीलिए उन्हें शैलपुत्री कहा जाता है. शैलपुत्री माता पार्वती तथा उमा के नाम से भी जानी जाती हैं. माता शैलपुत्री बेहद शुभ मानी जाती हैं जिनके एक हाथ में त्रिशूल और दूसरे हाथ में कमल मौजूद रहता है.

माता शैलपुत्री वृषभ पर विराजमान रहती हैं. संपूर्ण हिमालय पर्वत माता शैलपुत्री को समर्पित है. कहा जाता है कि माता शैलपुत्री अत्यंत सौम्य स्वभाव की हैं और अपने भक्तों को वरदान देती हैं.

माता शैलपुत्री को प्रसन्न करने के लिए विधिवत तरीके से पूजा करें तथा आरती, मंत्र, कथा और भोग के साथ उनकी आराधना करें.

मां शैलपुत्री की आरती
शैलपुत्री मां बैल असवार. करें देवता जय जयकार.
शिव शंकर की प्रिय भवानी. तेरी महिमा किसी ने ना जानी.

पार्वती तू उमा कहलावे. ‌ जो तुझे सिमरे सो सुख पावे.
ऋद्धि-सिद्धि परवान करे तू. दया करे धनवान करे तू.

सोमवार को शिव संग प्यारी. आरती तेरी जिसने उतारी. ‌
उसकी सगरी आस पुजा दो. सगरे दुख तकलीफ मिला दो.

घी का सुंदर दीप जला‌ के. गोला गरी का भोग लगा के.
श्रद्धा भाव से मंत्र गाएं. प्रेम सहित फिर शीश झुकाएं.

जय गिरिराज किशोरी अंबे. शिव मुख चंद्र चकोरी अंबे.
मनोकामना पूर्ण कर दो. भक्त सदा सुख संपत्ति भर दो.

मां शैलपुत्री मंत्र
वन्दे वाच्छितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम्.
वृषारुढां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम्..

मां शैलपुत्री की कथा
मां शैलपुत्री की यह कथा बहुत प्राचीन और प्रसिद्ध है, जानकार बताते हैं कि बहुत समय पहले प्रजापति दक्ष ने एक यज्ञ का आयोजन किया था जिसमें उन्होंने सभी देवी-देवताओं को आमंत्रित किया था. लेकिन प्रजापति दक्ष ने भगवान शिव को इस यज्ञ के बारे में कुछ नहीं बताया और ना ही आमंत्रित किया. जब यह बात देवी सती ने सुनी तब उन्हें इस यज्ञ में जाने का बहुत मन हुआ जिसके बाद वह भगवान शिव से आग्रह करने लगीं.

भगवान शिव के कहने पर भी नहीं रुकीं देवी सती
भगवान शिव ने कहा की अगर प्रजापति दक्ष ने हमें इस यज्ञ में आमंत्रित नहीं किया है तो इसके पीछे कोई ना कोई बड़ी वजह जरूर होगी. शायद वह हमसे किसी बात पर नाराज हैं इसीलिए उन्होंने हमें इस यज्ञ में आमंत्रित नहीं किया है. यह बात सुनकर देवी सती भगवान शिव से आग्रह करने लगी कि वह उस यज्ञ में शामिल होना चाहती हैं. भगवान शिव ने उन्हें मना किया लेकिन देवी सती की इच्छा को देखकर भगवान शिव मान गए और देवी सती को यज्ञ में शामिल होने की अनुमति दे दिए.

योगाग्नि में भस्म हो गई थीं देवी सती

जब देवी सती उस यज्ञ में पहुंची तब उन्होंने देखा कि यज्ञ में मौजूद सभी परिवारजन उनसे प्रेम से बात नहीं कर रहे थे. यह सब देखकर देवी सती को बहुत बुरा लगा और वह भगवान शिव की बात ना मन कर पछताने लगीं. अपने द्वारा अपने पति का किया हुआ अपमान उन्हें सहन नहीं हुआ और वह योगाग्नि में भस्म हो गईं. जब भगवान शंकर को इस बात का पता चला तब उन्होंने इस यज्ञ को विध्वंस करने का आदेश दिया.

अगले जन्म ‌में देवी सती शैलराज हिमालय की पुत्री के रूप में जन्मी. इसलिए उनका नाम शैलपुत्री रखा गया.

मां शैलपुत्री का भोग
कहा जाता है कि मां शैलपुत्री को घी अर्पित करना चाहिए क्योंकि ऐसा करना बेहद मंगलकारी होता है. जो भक्त नवरात्र के पहले दिन मां शैलपुत्री के चरणों में गाय का घी अर्पित करता है उसे आरोग्य जीवन प्राप्त होता है.

यह भी पढ़ें -  ज्ञानदेव ने की जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग
यह भी पढ़ें -  अभिनेता सोनू सूद 20 करोड़ रुपये की कर चोरी में शामिल: आयकर विभाग

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

यह भी पढ़ें -  सीएम की कुर्सी पर संकट! अमिंदर-सिद्धू की सियासी लड़ाई का फाइनल मुकाबला आज, हरीश ने फिर संभाली कमान

Stay Connected

58,944FansLike
3,058FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

आईसीएआई सीए इंटर परीक्षा 2021 का परिणाम जारी, ऐसे करें चेक

आईसीएआई ने आईसीएआई सीए इंटर जारी कर दिया है. उम्मीदवार इन वेबसाइट्स icaiexam.icai.org, caresult.icai.org, icai.nic.in पर जाकर रिजल्ट चेक कर सकते हैं.टॉपर के नामइस...

हल्द्वानी में केजरीवाल का एक और ऐलान, सरकार आने पर राज्य के युवाओं को...

रविवार को आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने उत्तराखंड के तीसरे दौरे पर हल्द्वानी पहुंचे. यहां पर केजरीवाल...

पंजाब: सुखजिंदर सिंह रंधावा होंगे अगले सीएम, पर्यवेक्षकों ने लगाई मुहर

कैप्टन अमरिंदर सिंह के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे के बाद अब पंजाब कांग्रेस में इस पद के लिए हलचल और जोड़तोड तेज हो गई...

पंजाब: सिद्धू के सलाहकार मोहम्मद मुस्तफा का कैप्टन पर हमला, बोले- मैं पूरी किताब...

पंजाब को आज नया मुख्यमंत्री मिलने वाला है जिसके लिए दिल्ली से लेकर चंडीगढ़ तक में राजनीतिक गतिविधियां जारी हैं.
यह भी पढ़ें -  आईपीएल का दूसरा फेज़ 19 सितंबर से शुरू, चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला जाएगा पहला मुकाबला
इन सबके...

11वें सीएम हैं कैप्टन अमरिंदर सिंह , जो अपना कार्यकाल पूरा करने में विफल...

जब से 1966 में पंजाब का पुनर्गठन हुआ तब से कैप्टन अमरिंदर सिंह 11वें मुख्यमंत्री हैं, जो अपना कार्यकाल पूरा करने में विफल...

उत्तराखंड में केजरीवाल का बड़ा चुनावी वादा, 6 महीने के अंदर 1 लाख...

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल रविवार 15 सितम्बर को उत्तराखंड के एक दिनी दौरे पर हैं. वहीं कहा जा...

अमित मालवीय ने नवजोत सिंह सिद्धू पर साधा निशाना- कहा पाकिस्तान सीमा से सटा...

इन दिनों पंजाब में राजनीतिक उथल-पुथल चल रही है. इन सबके के बीच पाकिस्तान की एंट्री से स्थिति और गंभीर दिख रही है. राज्य...

स्पेसएक्स का मिशन सफल, अंतरिक्ष की सैर कर आम नागरिक धरती पर वापस...

स्पेसएक्स का मिशन सफल रहा है. इस मिशन के तहत तीन दिन तक पृथ्वी की कक्षा में चक्कर लगाने के लिए चार लोगों को...

योगी सरकार ने अपने 4.5 साल के कार्यकाल का रिपोर्ट कार्ड किया पेश, गिनाई...

अगले साल होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव से पहले योगी सरकार ने जनता के सामने अपना रिपोर्ट कार्ड पेश कर रही है. सीएम ...

पंजाब में नए सीएम पर सस्पेंस गहराया, अंबिका सोनी ने मुख्यमंत्री बनने से किया...

अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद पंजाब में नए सीएम पर सस्पेंस गहराता जा रहा है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब में नए सीएम...