फीका रहा स्टारडम: फिल्म अभिनेताओं का राजनीति मैदान में नहीं चला जादू, जनता ने नेताओं पर ही किया भरोसा

आज बात करेंगे अभिनेता और नेता की. अभिनेता फिल्मी पर्दे पर अपनी एक्टिंग से दर्शकों को अपना प्रशंसक बनाता है. वहीं नेता जमीनी स्तर पर जनता के बीच लोकप्रिय होता है. लेकिन यह सच है कि नेता और अभिनेता दोनों ही अपने-अपने क्षेत्र में माहिर होते हैं. नेता जनता के बीच तो अभिनेता दर्शकों में अपना ‘जादू’ चलाते हैं. आज हम बात करेंगे पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव की.

तमिलनाडु से लेकर बंगाल तक सियासत के मैदान में उतरे फिल्म अभिनेताओं के बारे में. जनता ने एक बार फिर फिल्म स्टार को राजनीति से ‘नकार’ दिया है. लोगों ने इन चुनावों में अपने नेताओं पर ही ‘भरोसा’ जताया. पहले हम बात करेंगे तमिलनाडु से.

हिंदी और तमिल फिल्मों के सुपरस्टार कमल हासन की. तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता और एम करुणानिधि के निधन के बाद कमल हासन ने ‘सक्रिय राजनीति’ शुरू की थी. बता दें कि अभिनेता कमल ने तीन साल पहले अपनी पार्टी ‘मक्कल नीडि मैम’ बनाई थी. उसके बाद में लगातार तमिल राजनीति में अपनी पार्टी का विस्तार करते चले गए.

यह भी पढ़ें -  कैंची धाम: बिगड़ी तकदीर बनाने वाला हनुमान मंदिर

2020 के आखिरी महीनों में कमल ने हिंदी-तमिल सिनेमा के सुपरस्टार और अपने मित्र रजनीकांत को अपने ‘पाले’ में लाने के लिए पूरा जोर लगा दिया था. लेकिन खराब स्वास्थ्य के चलते रजनीकांत ने कमल हासन के साथ चुनाव प्रचार करने से मना कर दिया.

(बता दें कि रजनीकांत ने भी विधानसभा चुनाव से पहले अपनी पार्टी बनाने का एलान कर दिया था लेकिन ऐनमौके पर उनकी बिगड़ी तबीयत ने उन्हें इसकी इजाजत नहीं दी). अब रजनीकांत सोच रहे होंगे, जो हुआ वह अच्छा ही हुआ. अब चर्चा को आगे बढ़ाते हैं. इन विधानसभा चुनाव में अभिनेता कमल तमिलनाडु के कोयंबटूर दक्षिण से मैदान में उतरे थे. भाजपा की उम्मीदवार वनति श्रीनिवासन ने उन्हें हरा दिया. कोयंबटूर की जनता ने कमल को पूरी तरह ‘नकार’ दिया. कमल की हार यह साबित करती है कि फिल्मों को पसंद करने वाले लोगों ने भी उन्हें राजनेता के रूप में पसंद नहीं किया.

यह भी पढ़ें -  राशिफल 28-11-2021: आज का दिन इन राशियों के लिए रहने वाला है बेहतर

मोदी सरकार के सबसे ‘मुखर विरोधी’ रहे कमल को भाजपा की उम्मीदवार ने ही हरा दिया. जबकि तमिलनाडु में भाजपा का कोई खास जनाधार भी नहीं है. दूसरी ओर भाजपा में ही कुछ महीने पहले शामिल हुईं हिंदी और तमिल फिल्मों की अभिनेत्री खुशबू सुंदर भी चुनाव हार गईं. अपने जमाने की लोकप्रिय खुशबू ने 2010 में डीएमके के साथ अपना राजनीतिक सफर शुरू किया था. वर्ष 2014 से लेकर 2020 तक कांग्रेस पार्टी के साथ रहीं. अक्टूबर 2020 में कांग्रेस छोड़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं. खुशबू चेन्नई के ‘हजार लाइट्स’ निर्वाचन क्षेत्र से उम्मीदवार थीं. लेकिन जनता ने अभिनेत्री खुशबू को भी नकार दिया.

यह भी पढ़ें -  Covid19: देश में मिले कोरोना के 8,309 नए मामले, 236 की मौत

भाजपा में शामिल होने के समय खुशबू अपनी राजनीति की लंबी पारी खेलना चाहती थी लेकिन उन्हें जनता ने मौका नहीं दिया. सही मायने में इस बार तमिलनाडु में फिल्म स्टारों का जादू नहीं चल पाया. जबकि पूरे देश में तमिलनाडु ही ऐसा राज्य है जहां अभिनेता और अभिनेत्रियों की ‘दीवानगी’ सबसे अधिक देखी जाती है. एमजी रामचंद्रन, एम करुणानिधि, जयललिता ने फिल्मी पर्दे से राजनीति की पारी शुरू की थी. शुरुआत से ही तमिलनाडु की राजनीति इन्हीं तीनों के इर्द-गिर्द ही घूमती रही.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,152FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

पराग अग्रवाल होंगे ट्विटर के नए सीईओ, जैक डॉर्सी ने दिया इस्तीफा

0
माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जैक डॉर्सी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय मूल...

उत्तराखंड: सीएम पुष्कर सिंह धामी ने की ‘ओमीक्रोन’पर हाई-लेवल मीटिंग, दिए ये...

0
सोमवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कोविड सैम्पलिंग को बढ़ाने और कान्टैक्ट ट्रेसिंग को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. कोविड के बढ़ते...

Covid19: उत्तराखंड में मिले 8 नए कोरोना संक्रमित, एक मरीज की मौत

0
उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में आठ नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक मरीज की मौत हुई है. 18 मरीजों को ठीक होने के बाद घर...

देहरादून: मत्स्य पालन कर आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम, प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना...

0
प्रधानमंत्री मत्स्यसम्पदा योजना एक दिवसीय जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम द्वारा आज 29 नवम्बर को IRDT,ऑडिटोरियम, देहरादून...

पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने लॉन्च किया ट्रांजिट कार्ड, जानें कैसे और कहां होगा इस्‍तेमाल

0
देश की सबसे बड़ी ई-वॉलेट कंपनी पेटीएम ने हाल में एक प्रीपेड रुपे कार्ड पेटीएम वॉलेट ट्रांजिट कार्ड पेश किया है. इस कार्ड...

दिल्ली में डेंगू का कहर जारी: अब तक सामने आए 8276 मामले, इस महीने...

0
कोरोना संक्रमण के साथ साथ डेंगू भी खतरे की घंटी बजा रहा है. अगर बात करे दिल्ली की तो इस सीजन में डेंगू के...

उत्तराखंड: देहरादून अनाथालय के नाबालिग के साथ हुआ दुष्कर्म, आरोपी भी नाबालिग

0
राजधानी देहरादून के एक अनाथ आश्रम में एक नाबालिग के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है. यह अनाथालय खुड़बुड़ा पुलिस चौकी इलाके में...

Kanpur Test-5th Day: जीत के करीब पहुंचकर चूकी टीम इंडिया, न्यूजीलैंड खिलाफ ...

0
टीम इंडिया और न्यूजीलैंड के बीच कानपुर में खेला गया टेस्ट ड्रॉ हो गया है. टीम इंडिया गेंदबाजों ने पांचवें और आखिरी दिन शानदार...

जल्द लगेगा कोरोना टीके का बूस्टर डोज और किशोरों को टीका, कोविड-19 टास्क फोर्स...

0
कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमिक्रॉन ने खतरे की घंटी बजा दी है. इसको ध्यान में रखते हुए कोविड-19 टास्क फोर्स के अध्यक्ष डा....

राज्यसभा के 12 सांसद निलंबित, कांग्रेस के 6, शिवसेना-टीएमसी के 2-2

0
सदन में हंगामे को लेकर राज्यसभा के 12 सांसदों को निलंबित कर दिया गया है. शीतकालीन सत्र के पहले दिन ही इन 12 सांसदों...