देश में पहली घटना ! ट्रेन गुजरने के दौरान ‘चांदनी’ स्टेशन भरभरा कर गिरा तो उठे सवाल, अब खोजे जा रहे कारण

हमारे देश में हादसे के बाद उसके कारण और जांच बिठाई जाती है. जबकि अधिकांश मामलों में जांच के बाद खानापूर्ति ही की जाती है. लेकिन ऐसी घटनाएं दोबारा न हो उस पर ‘पारदर्शिता’ नहीं अपनाई जाती. अब एक और घटना के होने के बाद सवाल उठने पर उसके कारण ‘खोजे’ जा रहे हैं. अब बात को आगे बढ़ाते हैं. ’26 मई को रेलवे के इतिहास में शायद यह पहला मौका होगा जब ट्रेन की स्पीड से स्टेशन की बिल्डिंग ही भरभरा कर गिर गई हो’.

हालांकि अच्छी बात यह रही कि कोई भी व्यक्ति चोटिल नहीं हुआ, हादसे के समय अगर भवन के अंदर कोई मौजूद भी होता तो बड़ा हादसा हो सकता था. लेकिन इस घटना ने रेलवे मंत्रालय तक होश उड़ा दिए. सबसे बड़ी बात यह है कि इस रेलवे स्टेशन की यह बिल्डिंग ज्यादा पुरानी नहीं थी. ‘इस घटना के बाद छोटा रेलवे स्टेशन देश की सुर्खियों में आ गया, हादसे के बाद स्टेशन की बिल्डिंग निर्माण में घटिया सामग्री प्रयोग करने पर सवाल भी उठ रहे हैं’.

यह भी पढ़ें -  राशिफल 21-10-2021: जानिए गुरुवार को क्या कहते आप के सितारे

पूरा घटनाक्रम इस प्रकार है. मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले के नेपानगर से असीगढ़ के बीच छोटा स्टेशन जिसका नाम ‘चांदनी’ है. यह दिल्ली मुंबई के रेल मार्ग पर स्थित है. बुधवार शाम करीब 4 बजे ‘पुष्पक’ एक्सप्रेस चांदनी को जब पार कर रही थी उसी दौरान इस रेलवे स्टेशन की बिल्डिंग भरभरा कर गिर पड़ी. ट्रेन की स्पीड 110 किलोमीटर प्रति घंटे थी.

हादसे के दौरान कंपन इतना तेज था कि स्टेशन सुप्रिटेंडेंट के कमरे की खिड़कियों के कांच टूट गए, बोर्ड नीचे गिर गए. मलबा प्लेटफाॅर्म पर बिखर गया. मौके पर तैनात सहायक स्टेशन मास्टर प्रदीप कुमार पवार ट्रेन को हरी झंडी दिखाने बाहर निकले लेकिन बिल्डिंग गिरती देख उन्हें वहां से ‘भागना’ पड़ा. आगे चलकर पुष्पक एक्सप्रेस एक घंटे तक खड़ी रही. इसके अलावा अन्य गाड़ियां करीब 30 मिनट तक प्रभावित हुईं.

चौंकने वाली बात यह है कि यह स्टेशन मात्र 14 साल पहले बना है. चांदनी रेलवे स्टेशन मुंबई-दिल्ली रेलवे का सबसे व्यस्ततम मार्ग है. इसलिए यहां से हाई स्पीड गाड़ियां पूरे दिन गुजरती हैं. हादसे के बाद करीब दो घंटे तक ट्रेनों को आउटर पर रोककर रखा गया. उसके बाद यहां से गाड़ियों को स्पीड कम कर निकाली गई है. भवन गिरने के बाद बिल्डिंग के निर्माण पर सवाल उठ रहे हैं क्योंकि रेलवे स्टेशनों के निर्माण में क्वालिटी से समझौता नहीं होता है.

हादसे की जानकारी पर रेलवे के आला अधिकारियों में हड़कंप मच गया और इसे पहले तो साधारण घटना बताने में लगे रहे. बाद में रेलवे के अधिकारी मौके पर मुआयना के लिए पहुंचे. भुसावल डीआरएम विवेक कुमार गुप्ता के मुताबिक चांदनी स्टेशन के भवन के एक हिस्से का छज्जा टूटा है. उन्होंने कहा कि चांदनी स्टेशन की यह बिल्डिंग साल 2007 में बनी थी. इसलिए इस बिल्डिंग का इतनी जल्दी गिर जाना सवालिया निशान लगा रहा है.

यह भी पढ़ें -  पढ़े पीएम मोदी के संबोधन की 10 बड़ी बातें

दूसरी ओर स्टेशन गिरने की घटना सोशल मीडिया पर भी छाई हुई है. यूजर इस पर अपने कमेंट के साथ सवाल भी उठा रहे हैं. अब आपको बताते हैं के इस घटना की जल्द ही पूरी जांच बिठा दी जाएगी. पूरी जांच धीरे-धीरे आगे बढ़ेगी. आखिर में जांच अधिकारी पूरे मामले की गोपनीय रिपोर्ट रेलवे मंत्रालय को सौंप देंगे. उसके बाद इस रेलवे स्टेशन के निर्माण में शामिल ठेकेदार की भूमिका को आगे लाया जाएगा और उसी को दोषी ठहराया जाएगा.

यह भी पढ़ें -  पुलिस स्मृति दिवस पर मुख्यमंत्री धामी ने सिपाहियों को 4600 ग्रेड पे की दी सौगात


Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo - 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल - [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,109FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी की फ्लाइट में कुछ इस प्रकार हुई मुलाकात

0
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव, यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी की आज एक फ्लाइट में अचानक मुलाकात हुई....

सीएम धामी ने की अपने एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री ने राज्य में अक्तूबर...

…तो इस कारण नरसिम्हा राव सरकार नहीं लाई नेताजी की अस्थियां, हुआ बड़ा खुलासा

0
पीवी नरसिम्हा राव सरकार 1990 के दशक में जापान से नेताजी सुभाष चंद्र बोस की अस्थियां भारत लाने के करीब पहुंच गई थी,...

Covid19: बीते 24 घंटे में उत्तराखंड में मिले  12 नए मामले, एक भी मरीज...

0
उत्तराखंड में अब कोरोना संक्रमण काबू में आ गया है. बीते 24 घंटे में प्रदेश में 12 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत...

लौटे गृह राज्य: आलाकमान ने सुनी फरियाद, पंजाब प्रभारी पद से हरीश रावत मुक्त...

0
पंजाब की सियासत में पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बीच घमासान में फंसे पूर्व मुख्यमंत्री...

टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच रद्द टेस्ट मैच का आया नया शेड्यूल, जानें...

0
टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच रद्द हुए सीरीज के 5वें टेस्ट मैच (IND vs ENG) को अगले साल जुलाई महीने के लिए शेड्यूल...

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की चुनावी प्रतिज्ञा के अनुसार कल से शुरू होगी यूपी...

0
यूपी विधानसभा चुनाव लिए कांग्रेस पार्टी प्रदेश भर में 23 अक्तूबर से प्रतिज्ञा यात्रा निकालेगी. इसके लिए सभी तैयारिया पूरी हो चुकी है. पूरे...

सत्यपाल मलिक ने किया बड़ा खुलासा: “अंबानी से जुड़ी फाइल पास करने के लिए...

0
जम्मू-कश्मीर के पूर्व गवर्नर एवं मौजूदा मेघालय के उप राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक बड़ा खुलासा किया है. सत्यपाल मलिक नें दावा किया है...

बिगड़ा बजट: फिलहाल राहत नहीं, अभी पेट्रोल-डीजल के दामों में और हो सकती है...

0
यह भी कहा जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव 90 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकता है. ऐसे में...

देहरादून: डिफेन्स कॉलोनी में हुआ अनोखी रामलीला का मंचन, बच्चों ने निभाए सभी पात्र

0
उत्तराखंड में बुराई खत्म करने का प्रतीकात्मक पर्व विजय दशमी पर्व धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया गया. राजधानी दून के कई जगहों में दशहरे मेले...