पूर्वी लद्दाख में टकराव पर जनरल एम एम नरवणे ने कही बात

शुक्रवार को चीन को स्पष्ट संदेश देते हुए सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में टकराव के सभी बिंदुओं से सैनिकों की पूरी तरह वापसी हुए बिना तनाव में कमी नहीं आ सकती और भारतीय सेना क्षेत्र में हर तरह की आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए तैयार है.

जनरल नरवणे ने एक साक्षात्कार में कहा कि भारत दृढ़ता से और बिना उकसावे वाले तरीके से चीन के साथ इस मामले से निपट रहा है ताकि पूर्वी लद्दाख में उसके दावों की शुचिता सुनिश्चित हो और वह विश्वास बहाली के कदम उठाने को भी तैयार है. उन्होंने पैंगोंग झील क्षेत्र में सैनिकों की पूरी तरह वापसी की दिशा में सीमित प्रगति की है, वहीं अन्य बिंदुओं पर इन कदमों के लिए बातचीत में गतिरोध बना हुआ है.

जनरल नरवणे ने कहा कि इस समय भारतीय सेना ऊंचाई वाले क्षेत्र में सभी महत्वपूर्ण इलाकों में नियंत्रण बनाकर रख रही है तथा किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए उसके पर्याप्त जवान हैं जिन्हें ‘आरक्षित’ रखा गया है.उन्होंने कहा, ‘‘हमारा रुख बहुत स्पष्ट है कि टकराव के सभी बिंदुओं से सैनिकों की वापसी हुए बिना टकराव की स्थिति कम नहीं हो सकती. भारत और चीन ने सीमा संबंधी कई समझौतों पर दस्तखत किये हैं, जिनका चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने एकपक्षीय तरीके से उल्लंघन किया है.’’

यह भी पढ़ें -  पश्चिम बंगाल: दुर्गापुर में 'दुर्गा प्रतिमा विसर्जन' से लौट रही भीड़ बम से हमला, मची अफरा-तफरी

सेना प्रमुख ने कहा, ‘हम वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अमन-चैन चाहते हैं और विश्वास बहाली के कदम उठाने के लिए तैयार हैं, लेकिन हम हर तरह की आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं.’ उन्होंने कहा कि उत्तरी सीमा पर हालात नियंत्रण में हैं और चीन के साथ अगले दौर की सैन्य वार्ता में अप्रैल 2020 से पहले की स्थिति को बहाल करने पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में भारी बारिश के अलर्ट के मद्देनजर सीएम धामी ने आपदा प्रबंधन की समीक्षा की
यह भी पढ़ें -  18 अक्टूबर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

जनरल नरवणे ने कहा, ‘भारतीय सेना का रुख पूरी तरह स्पष्ट है कि क्षेत्र का किसी तरह का नुकसान या यथास्थिति में एकपक्षीय बदलाव की इजाजत नहीं दी जाएगी. हम चीन के साथ दृढ़ता से और बिना उकसावे वाले तरीके से निपट रहे हैं ताकि पूर्वी लद्दाख में हमारे दावों की शुचिता बनी रहे.’ हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और डेपसांग जैसे क्षेत्रों में गतिरोध का समाधान कब तक संभव है, इस प्रश्न के उत्तर में सेना प्रमुख ने कहा कि समय-सीमा का आकलन करना मुश्किल है.

उन्होंने पिछले साल जून में गलवान घाटी में हुए संघर्ष का जिक्र करते हुए कहा, ‘भारतीय सेना दोनों देशों के बीच सभी प्रोटोकॉलों तथा समझौतों का पालन करती है, वहीं पीएलए ने गैर-परंपरागत हथियारों का इस्तेमाल करके तथा बड़ी संख्या में सैनिकों को जुटाकर हालात को तनावपूर्ण बनाया.’ गलवान घाटी में संघर्ष के बाद भारत और चीन के संबंधों में तनाव बढ़ गया था. संघर्ष के बाद दोनों पक्षों ने हजारों की संख्या में सैनिकों को और युद्ध टैंकों तथा अन्य बड़े हथियारों को इलाके में पहुंचा दिया.

जनरल नरवणे ने कहा, ‘जब दो देशों के बीच बड़े गतिरोध की स्थिति में दोनों पक्षों के सैनिक हताहत हों तो विश्वास का स्तर कम होता ही है. हालांकि, हमारा प्रयास हमेशा से रहा है कि विश्वास कम होने से बातचीत की प्रक्रिया बाधित नहीं होनी चाहिए.’ क्षेत्र में किसी भी तरह का तनाव बढ़ने की आशंका के बारे में पूछे जाने पर सेना प्रमुख ने कहा कि पैंगोंग झील क्षेत्र में से सैनिकों की वापसी पर समझौते के बाद चीनी पक्ष ने कोई उल्लंघन नहीं किया है और किसी अप्रिय घटना के आसार कम हैं.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखण्ड पूर्ण रूप से पात्र लाभार्थियों को कोविड-19 वैक्सीन की प्रथम डोज लगाये जाने वाला राज्य बना
यह भी पढ़ें -  पश्चिम बंगाल: दुर्गापुर में 'दुर्गा प्रतिमा विसर्जन' से लौट रही भीड़ बम से हमला, मची अफरा-तफरी

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,086FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

राशिफल 19-10-2021: मेष से मीन राशि तक कैसा रहेगा आज का आर्थिक राशिफल, जानिए

मेष- आय से अधिक धन का व्यय, मानसिक परेशानी का कारण बन सकता है. आज का दिन धन के मामले में मिला जुला रहेगा. वृषभ-...

शरद पूर्णिमा 2021: क्यों विशेष है इस बार यह व्रत! जानें पूजा तिथि,...

हिन्दू पंचांग में हर माह आने वाली प्रत्येक पूर्णिमा का अपना महत्व होता है, लेकिन सभी पूर्णिमाओं में सर्वाधिक महत्वपूर्ण एवं कल्याणकारी होती हैं...

19 अक्टूबर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

आपके लिए आज का दिन शुभ हो अगर आज के दिन यानी 19 अक्टूबर 2021 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

Covid19: उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले तीन नए कोरोना संक्रमित, एक भी मरीज...

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में तीन नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. जबकि चार मरीजों को ठीक होने...

ब्रेकिंग: सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं का टर्म-1 परीक्षा की डेटशीट की जारी

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई ने सोमवार शाम 10वीं-12वीं कक्षा की टर्म 1 बोर्ड परीक्षा 2022 की डेट शीट जारी दी है. डेटशीट...

सीएम धामी ने किया मुख्यमंत्री कार्यालय तथा घोषणा अनुभाग का आकस्मिक निरीक्षण

सोमवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में सीएम कार्यालय एवं घोषणा अनुभाग का आकस्मिक निरीक्षण किया. सीएम ने घोषणा अनुभाग के...

बारिश-बर्फबारी का कहर: उत्तराखंड का जनजीवन अस्त-व्यस्त, चारधाम यात्री और सैकड़ों वाहन सड़कों पर...

भारी बारिश और बर्फबारी के बाद दो दिनों से उत्तराखंड का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. चार धाम यात्रा पर धामी सरकार ने रोक...

उत्तराखंड: तीन माह पहले ही पूरा हुआ कोरोना वैक्सीन की पहली डोज का लक्ष्य,...

कोरोना महामारी से बचाव के लिए देशभर में टीकाकरण अभियान को तेजी से चलाया जा रहा है. इसी बीच उत्तराखंड सरकार भी इसको पूरा...

रंजीत सिंह मर्डर केस में गुरमीत राम रहीम सहित पांच आरोपियों को उम्रकैद की...

डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक रंजीत सिंह हत्याकांड के मामले में सोमवार को 19 साल बाद फैसला आया है. जिसमे गुरमीत राम रहीम और अन्य...

उत्तराखंड: मुख्यमंत्री धामी ने राज्य आपदा कन्ट्रोल रूम से हो रही वर्षा के लिए...

उत्तराखंड राज्य में बारिश ने फिर से दस्तक दे दी है. मौसम विभाग ने भारी बारिश को देखते हुए रेड अलर्ट जारी कर दिया...