तंबाकू निषेध डे विशेष: देर होने से पहले बनें समझदार, अच्छी सेहत के लिए तंबाकू छोड़ने और छुड़ाने का लें ‘संकल्प’

आज 31 मई है. महीने की आखिरी तारीख हमेशा से बदलाव और संकल्पों की साक्षी रही है. इसके बाद नए महीने की शुरुआत होती है. पिछले महीनों की कमियों को भूलकर ‘नए इरादों’ के साथ मनुष्य आगे बढ़ता है. कल मंगलवार को एक जून शुरू हो रहा है. यानी नया करने की शुरुआत. आज मई के आखिरी दिन कुछ ऐसा करें जिससे आपका स्वास्थ्य भी सही रहे. आइए अब बात को आगे बढ़ाते हैं. 31 मई को ‘विश्व तंबाकू निषेध दिवस’ मनाया जाता है.

इस मौके पर तंबाकू से होने वाली हानियों के बारे में चर्चा करेंगे.भागदौड़ भरे जीवन में ऐसे ही तमाम बीमारियां लोगों को घेरती जा रही हैं. मनुष्य को एक जीवन मिला हैै, इसको भरपूर हर दिन हर पल खूब ‘इंजॉय’ कर के जियो. कोई भी मादक व्यसन का उपयोग न करें, यह हमारे शरीर को बहुत तेजी से नुकसान पहुंचाते हैं, जब तक हम उसके बारे में जान पाते हैं तब तक बहुत देर हो जाती है. तंबाकू यह ऐसा नशा है जिसको ‘धीमा जहर’ भी कहा जाता है.

यह भी पढ़ें -  बांग्लादेश में दुर्गा पंडालों पर कट्टरपंथियों का हमला, तीन हिंदुओं की मौत पर देश में आक्रोश

वैसे यह भी सच है कि कोरोना महामारी के दौरान देश और दुनिया के लोग अपनी सेहत के प्रति बहुत सचेत हुए हैं. अगर आप तंबाकू के आदी हैं तो आज अच्छे जीवन और स्वस्थ शरीर के लिए ‘संकल्प’ लीजिए कि इसका सेवन कभी नहीं करेंगे. यहां हम आपको बता दें कि विश्व स्वास्थ संगठन के द्वारा हर वर्ष वर्ल्ड नो टोबैको डे के लिए एक विशेष ‘थीम’ तय की जाती है. इस वर्ष यानी 2021 के लिए इस दिन की थीम ‘छोड़ने के लिए प्रतिबद्ध’ रखी गई है.

यह भी पढ़ें -  सियासी दांव: यशपाल आर्य की भरपाई में जुटी भाजपा, मिशन 22 के लिए धामी तलाश रहे दलित 'चेहरा'

हर वर्ष वर्ल्ड नो टोबैको डे पर जो कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं वो इसी विशेष थीम पर आधारित होते हैं. कोरोना के चलते इस वर्ष ज्यादातर कार्यक्रम ऑनलाइन माध्यम से आयोजित होंगे. इसी क्रम में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा ‘तम्बाकू छोड़ने के लिए प्रतिबद्ध’ विषय पर पोस्टर एवं स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन बीती 20 मई से किया गया है जो 10 जून, 2021 तक डिजिटल माध्यम से आयोजित होगी.

तो आइए इस बार संकल्प लें कि तंबाकू रूपी जहर को हमेशा के लिए अलविदा कह देंगे. विश्व तंबाकू निषेध दिवस के मौके पर तंबाकू या इसके उत्पादों के उपभोग पर रोक लगाने या इस्तेमाल को कम करने के लिए लोगों को जागरूक किया जाता है. इस दिन का मुख्य उद्देश्य लोगों को तंबाकू से होने वाले स्वस्थ्य नुकसान के विषय में सचेत करना है.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले 10 नए कोरोना संक्रमित, एक भी मरीज की मौत नहीं

इसमें सिगरेट, बीड़ी, गुटखा और खैनी जैसे तंबाकू उत्पादों का सेवन करने वाले लोग शामिल हैं. तंबाकू के प्रति के युवा वर्ग भी बहुत तेजी के साथ आकर्षित होते जा रहे हैं.‌ आप भी तंबाकू छोड़िए और जो लोग इसका सेवन कर रहे हैं उनको भी इसकी आदत छुड़वाइए.

वर्ष 1987 में पहला विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाने की हुई थी शुरुआत
साल 1987 में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने तंबाकू के सेवन से होने वाले रोगों की वजह से मृत्युदर में वृद्धि को देखते हुए इसे एक महामारी माना. इसके बाद पहली बार 7 अप्रैल 1988 को डब्ल्यूएचओ की वर्षगांठ पर मनाया गया और जिसके बाद हर साल 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.

यह भी पढ़ें -  हल्द्वानी: हड़ताल के चलते नलकूप बंद, ढाई लाख से ज्यादा आबादी प्रभावित

गौरतलब हैै कि भारत समेत दुनिया भर के तमाम देशों में युवाओं में इसकी लत तेजी के साथ लगती जा रही है. यहां हम आपको बता रहेे हैं कि तंबाकू के सेवन करने से यह बीमारियां होती हैं. कैंसर-फेफड़ों और मुंह का कैंसर होना, फेफड़ों का खराब होना, दिल की बीमारी, आंखों से कम दिखना, मुंह से दुर्गंध आदि.

यह भी पढ़ें -  विजयादशमी पर संघचालक मोहन भागवत ने देश को तोड़ने नहीं बल्कि जोड़ने वाली संस्कृति का पुरजोर समर्थन किया

एक ओर भारत समेत दुनियाभर के देशों में इसके खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है, तो दूसरी ओर कंपनियां तंबाकू उत्पादों को युवाओं और महिलाओं में लोकप्रिय करने की कोशिश कर रही हैं.

तंबाकू विरोधी अभियानों पर दुनिया के देश जितना खर्च करते हैं, उससे पांच गुना ज्यादा वे तंबाकू पर टैक्स लगाकर कमाते हैं. आज इस मौके पर आइए हम सब लोग समाज के जिम्मेदार नागरिक बने और उसको छोड़ने और छुड़ाने का संकल्प लें.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,082FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

सिंघु बॉर्डर पर युवक की हत्या के 15 घंटे बाद निहंग का सरेंडर

सिंघु बॉर्डर पर युवक की हत्या के 15 घंटे बाद एक निहंग ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है. कुंडली थाने से पुलिस...

वरिष्ठ पत्रकार हरीश कोठारी मुख्यमंत्री धामी के बने मीडिया कोऑर्डिनेटर, शासनादेश जारी

साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपनी टीम में एक और नियुक्ति की. सीनियर रिपोर्टर हरीश...

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले 10 नए कोरोना संक्रमित, एक भी मरीज की मौत...

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 10 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. जबकि पांच मरीजों को ठीक होने...

आईपीएल का फाइनल शुरू, चेन्नई सुपरकिंग और कोलकाता नाइटराइडर्स आमने-सामने

चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स और कोलकाता नाइटराइडर्स के बीच आज दुबई इंटरनेशनल स्‍टेडियम में आईपीएल 2021 का फाइनल मुकाबला शुरू हो गया है. सीएसके ने पहले...

छाई रौनक: मैसूर और कुल्लू का दशहरा रहा है आकर्षण का केंद्र, देश-दुनिया से...

देश में दशहरा पर्व की रौनक छाई हुई है. सभी लोग शाम को होने वाले दशहरा उत्सव की तैयारी में जुटे हैं. मैदानों...

हल्द्वानी: हड़ताल के चलते नलकूप बंद, ढाई लाख से ज्यादा आबादी प्रभावित

जल संस्थान संविदा श्रमिक संघ के आह्वान पर आउटसोर्स कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं. जिससे हल्द्वानी में जल संकट पैदा हो गया...

20 नवंबर को शीतकाल के लिए बंद होंगे बद्रीनाथ के कपाट, विजयदशमी के खास...

15 अक्टूबर विजयदशमी के खास मौके पर श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद होने की तारीख का ऐलान कर दिया गया है. 20 नवंबर...

केंद्रीय कर्मचारियों को इस साल दिवाली से पहले मिल सकती है ये तीन सौगातें,...

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए इस साल दिवाली बेहद खास होने वाला है. इस साल दिवाली से पहले सरकारी कर्मचारियों को तीन सौगातें मिलने...

पुंछ एकाउंटर में घायल दो जवानों ने भी दम तोड़ा, अब तक कुल...

जम्मू-कश्मीर के पुंछ में जारी एकाउंटर में गुरुवार से अब तक कुल चार जवान शहीद हो चुके हैं. घायल हुए दो राइफलमैन भी इलाज...

विजयदशमी विशेष: बुराई पर अच्छाई का प्रतीक और शुभ कार्यों के साथ पूजन उत्सव...

आज देशवासियों में विजय उत्सव के साथ हर्षोल्लास का माहौल है. देश में रौनक छाई है. बाजारों में चहल-पहल है. घरों में सभी छुट्टी...