यूपी के बाद भाजपा के लिए एमपी की शिवराज सरकार में भी बढ़ रही गुटबाजी

अब बात करते हैं भाजपा हाईकमान की ‘नए सिरदर्द’ की. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के बाद अब ‘मध्यप्रदेश शिवराज सरकार में भी गुटबाजी के स्वर खुलकर उभरने लगे हैं, शिवराज सरकार में नेतृत्व परिवर्तन की हलचल शुरू हो गई है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राज्य के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के बीच ‘टकराव’ बढ़ता जा रहा है.

‘इसका कारण यह है कि पिछले एक वर्ष से पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय भारतीय जनता पार्टी की बंगाल में सरकार बनाने के लिए कोलकाता की सियासी गलियारों में डेरा जमाए हुए थे, लेकिन भाजपा की हुई बंगाल में हार के बाद विजयवर्गीय अपने गृह राज्य मध्यप्रदेश लौट आए. पिछले कई दिनों से वह भोपाल में शिवराज सरकार का ‘आत्ममंथन’ करने में लगे हुए हैं. वैसे भी इन दिनों कैलाश विजयवर्गीय के पास कोई खास काम भी नहीं है.

यह भी पढ़ें -  नए साल 2022 से एटीएम से कैश निकालना पड़ेगा महंगा, जानिए डिटेल्स

इन चर्चाओं की शुरुआत पिछले दिनों भोपाल में विजयवर्गीय की मौजूदगी से हुई है . वे भोपाल में पार्टी के अलग-अलग नेताओं से मिल रहे थे. इसके साथ ही आरएसएस और संगठन के बड़े नेता भी भोपाल में मीटिंग कर रहे थे . इसके साथ ही भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी भोपाल में अलग-अलग नेताओं से चर्चा करने के बाद सीएम शिवराज से मुलाकात की थी. इसके साथ ही सह संगठन मंत्री शिव प्रकाश ने भी भोपाल में कई नेताओं से मिले, इस दौरान केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल भी मौजूद रहे . इसके साथ ही पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रभात झा ने भी पिछले दिनों ने नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात की थी.

वहीं दिल्ली में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के आवास पर भी बीजेपी नेताओं की बैठक हुई. इसके बाद एमपी शिवराज चौहान सरकार में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर ‘अटकलेें तेज हो गई. हालांकि कैलाश विजयवर्गीय ने अटकलों को भले ही खारिज कर दिया है लेकिन इतना जरूर है कि राजधानी भोपाल में इन दिनों ‘सियासी पारा’ चढ़ा हुआ है. बुधवार को एक बार फिर भोपाल में कैबिनेट बैठक के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के बीच तनातनी सामने आ गई. कैबिनेट के दौरान नर्मदा नदी के जल बंटवारे को लेकर नरोत्तम मिश्रा की राज्य के मुख्य सचिव से सवाल किए और नाराजगी जताई.

यह भी पढ़ें -  राशिफल 02-12-2021: आज इस राशि को होगा अपेक्षा से अधिक लाभ

बता दें कि नर्मदा घाटी विकास मंत्रालय मुख्यमंत्री के पास है और मीटिंग में शिवराज की मौजूदगी में ही गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपनी आपत्ति जताई. बैठक के बाद नरोत्तम मिश्रा सीधे ही वहां से ‘नाराज’ होकर निकल गए. ‘नरोत्तम और शिवराज का पिछले साल से ही 36 का आंकड़ा चल रहा है. मध्य प्रदेश भाजपा के ब्राह्मण लॉबी में मिश्रा की अच्छी पकड़ मानी जाती है. इसके साथ वे संघ के भी करीबी हैं.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में बिगड़ा मौसम का मिजाज, अगले तीन दिन तक बारिश-बर्फबारी के आसार

‘साल 2020 के मार्च महीने में भाजपा ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ मिलकर कमलनाथ सरकार गिरा दी थी. उसके बाद नरोत्तम मिश्रा भी मुख्यमंत्री पद की रेस में शामिल थे. लेकिन शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री पद के पर काबिज हो गए थे, तभी से दोनों के बीच मनमुटाव चला रहा हैै. अब भाजपा हाईकमान के लिए आने वाले दिनों में एमपी की शिवराज सरकार में तालमेल बिठाना बड़ी चुनौती हो सकती है.

वैसे अब सच्चाई यह है कि राज्य सरकारें अपने-अपने पार्टी हाईकमान के फरमान को दरकिनार करने में लगी हुई हैं. इसका उदाहरण हम राजस्थान, पंजाब और उत्तर प्रदेश में देख रहे हैं.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,158FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

पीएम मोदी ने किया इनफिनिटी फोरम का उद्घाटन, पढ़े पीएम का महत्वपूर्ण भाषण

0
शुक्रवार को पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फिनटेक पर एक विचारशील नेतृत्व मंच, इनफिनिटी फोरम का उद्घाटन किया है. पीएम मोदी...

निलंबित सांसदों के प्रदर्शन के विरोध में भाजपा सांसदों ने निकाला पैदल मार्च

0
गांधी प्रतिमा पर धरना दे रहे विपक्षी दलों के सांसदों के विरोध में शुक्रवार को भाजपा सांसदों ने गांधी प्रतिमा से लेकर बाबा साहेब...

विशेष: भोपाल गैस त्रासदी के 37 बरस-5 हजार से अधिक लोगों ने जहरीली गैस...

0
आज से 37 साल पहले विश्व की भीषणतम औद्योगिक त्रासदी यानी भोपाल गैस कांड ने पूरी दुनिया को झकझोर कर दिया था. इस घटना...

IND vs NZ 2nd Test: टीम इंडिया की पारी शुरू, मयंक-गिल क्रीज पर

0
भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का आज दूसरा और आखिरी मुकाबला है. इस सीरीज का पहला मैच ड्रॉ होने के...

फटाफट समाचार (3-12-2021) सुनिए अब तक की ख़ास खबरें

0
देश में 'ओमिक्रोन' की दस्तक से बढे कोरोना के मामले, बीते 24 घंटो में सामने आये 9,216 नए केस उत्तराखंड राज्य में गुरुवार...

उत्तराखंड में बदला मौसम का मिज़ाज, पहाड़ों में बर्फबारी -मैदानों में रिमझिम बारिश

0
देहरादून| उत्तराखंड में मौसम का मिज़ाज बदल गया है. पहाड़ी इलाकों में बर्फीली हवाएं शुरू हो गई हैं. मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक पहाड़ी...

उत्तराखंड: देहरादून में पीएम मोदी की रैली को लेकर चार दिसंबर को बदले रहेंगे...

0
कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उत्तराखंड दौरा है. देहरादून के परेड ग्राउंड में मोदी रैली में हिस्सा लेंगे. इसको देखते हुए पुलिस ने रूट...

नए साल 2022 से एटीएम से कैश निकालना पड़ेगा महंगा, जानिए डिटेल्स

0
अगले महीने यानी साल 2022 से एटीएम से कैश निकालना महंगा पड़ेगा. जी हां..अब कैश निकालना और महंगा होने वाला है. ग्राहक...

दिल्ली में प्रदूषण: सुनवाई से पहले केंद्र सरकार ने सुप्रीमकोर्ट में दाखिल किया हलफनामा

0
दिल्ली में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट के तेवर सख्त हैं. कागजी समाधानों से प्रदूषण कम न होता देख कोर्ट अपनी नाराजगी जता चुका...

Covid19: देश में ‘ओमिक्रोन’ की दस्तक से बढे कोरोना के मामले, जानें ताजा स्थिति

0
कोरोना के नए वेरिएंट 'ओमिक्रोन' को लेकर देश में दहशत का माहौल पैदा हो गया है तो वहीं देश में पिछले 24 घंटों में...