म्यूजिक डे विशेष: सुख-दुख का साथी है संगीत, हर वर्ग में साथ निभाता है इसका जादू

--Advertisement--

आज डिप्रेशन, तनाव और स्ट्रेस कम करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण दिन है. एक ओर दुनिया में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है दूसरी ओर वर्ल्ड म्यूजिक डे भी पर विश्व झूम रहा है. बता दें कि संगीत ऐसा माध्यम है जो लोगों को स्फूर्ति और ताजगी देता है.

संगीत करोड़ों लोगों की जिंदगी का हिस्सा भी बना हुआ है. आज संगीत प्रेमियों के लिए यह दिन किसी उत्सव से कम नहीं होता या कहें उनके लिए यह सबसे बड़ा ‘त्योहार’ माना जाता है.म्यूजिक हमारी जिंदगी में तनाव को कम करता है और बेहतर नींद देने में भी मदद करता है. संगीत की भी एक अलग भाषा और दुनिया होती है जो इसमें रम गया वह ताउम्र इसी के साथ अपना जीवन भी जीता है. संगीत एक जादू, नशा है जो हर वर्ग के आयु को आकर्षित करता रहा है.

यह भी पढ़ें -  सीबीएसई कक्षा 10 का परिणाम 2021 घोषित, ऐसे करें चेक

कई बार लोग संगीत की धुन पर थिरकने को मजबूर हो जाते हैं तो कई बार संगीत आंखों में आंसू भी ला देता है. भारत के संगीत की पूरे विश्व में एक अलग पहचान रही है. जिसकी वजह से दुनिया के लाखों लोग खिंचे चले आते हैं. यह दिमाग और दिलों को तरोताजा भी कर देता है. दुनिया भर में हर साल 21 जून को वर्ल्ड म्यूजिक डे के तौर पर मनाया जाता है. 120 से ज्यादा देश वर्ल्ड म्यूजिक डे मनाते हैं. इसका एक उद्देश्य उभरते हुए युवा और प्रोफेशनल म्यूजिशियन की आर्ट को आगे लाना भी है. संगीतकारों और गायकों के सम्मान के साथ-साथ आम आदमी की जिंदगी में म्यूजिक के असर को सेलिब्रेट करने के लिए इस दिन को मनाया जाता हैै.

यह भी पढ़ें -  राशिफल 03-08-2021: आज ये राशि वाले धन के व्यय में बरतें सावधानी
यह भी पढ़ें -  शर्तें लागू: राजभर ने एनडीए में लौटने के लिए भाजपा के सामने रख दी कई बड़ी शर्तें

आइए जानते हैं कि पूरी दुनिया में संगीत को पहुंचाने के लिए पहला आयोजन कब और कहां हुआ था. फ्रांस में पहला म्यूजिक जलसा आयोजित हुआ था. अब संगीत प्रेमी तो इस बात को ज्यादा अच्छी तरह समझ सकते हैं कि फ्रांस किस तरह अपनी संस्कृति और परंपरा को आगे बढ़ाता है. फ्रांस में यह साल 1982 में मनाया गया और तब से यह सिलसिला अनवरत जारी है. फ्रांस में इस जलसे को Fete de la Musique के नाम से जाना जाता है. इस जलसे से जुड़ी दूसरी थ्योरी भी है.

इस जलसे से एक और थ्योरी भी जुड़ती है. साल 1976 में अमेरिका के मशहूर संगीतकार जोएल कोहेन ने फ्रांस में संगीत पर आधारित एक जलसे का आयोजन किया. तब से 21 जून की तारीख में हर साल वर्ल्ड म्यूजिक डे मनाया जाता है. अब यह जलसा दुनिया के 32 से अधिक देशों में आयोजित किया जाता है. अलग-अलग देशों के संगीतकार अपने-अपने वाद्ययंत्रों के साथ रात भर कार्यक्रम पेश करते हैं और संगीत को समृद्ध करते हैं.

यह भी पढ़ें -  CBSE10th:10 प्रतिशत बढ़ा देहरादून रीजन का रिजल्ट, 99.23 फीसदी छात्रों ने मारी बाजी

यहां हम आपको बता दें कि इस मौके पर अलग-अलग देशों के मशहूर संगीतकार लोगों के लिए पार्क, म्यूजियम, रेलवे स्टेशन और आम जगहों पर लोगों के लिए गीत-संगीत बजाते हैं. वे इसके एवज में कोई पैसा भी नहीं लेते, वे ऐसा करके जनता और म्यूजिक के बीच पुल का काम करते हैं. आइए आज वर्ल्ड म्यूजिक डे पर संगीत के साथ गुनगुना लिया जाए.

यह भी पढ़ें -  बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतकर भारत लौटी, एयरपोर्ट पर हुआ जोरदार स्वागत

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,045FollowersFollow
474SubscribersSubscribe
--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

Ind Vs Eng 1 Test: पहले दिन का खेल खत्म, टीम इंडिया का स्कोर...

नॉटिंघम|....बुधवार को टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला खेला जा रहा है. दोनों टीमें नॉटिंघम...

यूपी चुनाव से पहले ओम प्रकाश राजभर की ‘ब्लैकमेलिंग’ से नतमस्तक भाजपा

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आते जा रहे हैं भाजपा, सपा, कांग्रेस और बसपा सियासी पिच पर अपनी 'बिसात' बिछाने में लगी हुई...

शर्तें लागू: राजभर ने एनडीए में लौटने के लिए भाजपा के सामने रख दी...

आखिरकार दो साल बाद भाजपा और ओमप्रकाश राजभर करीबी देखने को मिली. बता दें कि इसकी शुरुआत मंगलवार सुबह यूपी की राजधानी लखनऊ से...

सड़क पर भिड़े: कृषि बिल पर संसद के बाहर कांग्रेस-अकाली दल की सांसद के...

मानसून सत्र के दौरान संसद भवन में जारी हंगामे और शोर-शराबे का असर अब बाहर भी दिखने लगा है. जहां संसद के अंदर कांग्रेस...

राकेश टिकैत ने किसानों के साथ किया धोखा, आंदोलन में पड़ी दरार!

किसान आंदोलन के नाम पर आठ महीने से दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन चल रहा है. अब इस आंदोलन में बड़ी दरार पड़ गई...

Covid19: उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले 37 नए कोरोना संक्रमित, जानें अपने जिले का...

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 37 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. जबकि 42 मरीजों को ठीक होने...

सीएम धामी ने किया उत्तराखण्ड भूकम्प एलर्ट एप लांच, ऐसा एप बनाने वाला उत्तराखण्ड...

बुधवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में मोबाइल एप्लीकेशन ‘‘ उत्तराखण्ड भूकंप अलर्ट’’ एप का शुभारम्भ किया. उत्तराखण्ड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण,...

श्री राम मंदिर के निर्माण कार्य को शुरू हुए 1 साल पूरा, जानें कब...

पिछले साल 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण हेतु भूमिपूजन किया था. इसके पश्चात निर्माण का कार्य...

Tokyo Olympics: भारतीय महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल हारी, पर मेडल की उम्मीद अब भी...

टोक्‍यो|.... भारतीय महिला हॉकी टीम बुधवार को टोक्‍यो ओलंपिक्‍स में सेमीफाइनल मुकाबले में अर्जेंटीना से पार नहीं पा सकी. भारत को अर्जेंटीना के हाथों...

अब अल्मोड़ा से हल्द्वानी के बीच का सफर कुछ ही मिनटों में होगा पूरा,...

अब अल्मोड़ा से हल्द्वानी के बीच का सफर कुछ ही मिनटों में पूरा हो जाएगा. केंद्र सरकार ने अल्मोड़ा-हल्द्वानी-पिथौरागढ़ हेली सेवा शुरू करने को...