विश्व सोशल मीडिया डे: दुनिया के लोगों को आपस में जोड़ने का सशक्त माध्यम बनकर उभरा यह ‘प्लेटफार्म’

--Advertisement--

आज हम एक ऐसे माध्यम की बात करेंगे जिसने करोड़ों लोगों को अपने विचार प्रकट करने के साथ बोलने की आजादी भी दी. बहुत ही कम समय में यह लोगों को अपनी बात रखने और विरोध प्रकट करने का सबसे मजबूत ‘हथियार और गेम चेंजर’ बन गया. इसके साथ ‘राजनीतिक दलों के नेताओं का भी यह प्लेटफार्म ‘सियासी अखाड़ा’ बन चुका है’.

पिछले डेढ़ सालों से कोरोना वायरस संकटकाल के दौरान देश में ‘भाजपा, कांग्रेस समेत तमाम सियासी दलों के नेताओं ने एक दूसरे पर इसी के सहारे आरोप-प्रत्यारोप और हमले बोलते आ रहे हैं’. सियासी दलों के नेता पिछले काफी समय से ‘वर्चुअल’ के माध्यम से बैठक और रैली भी कर रहे हैं. इसके साथ व्यापार, शॉपिंग संदेश, ऑनलाइन पढ़ाई, जागरूकता आदि क्षेत्र में भी ये प्लेटफार्म करोड़ों यूजर्स का साथी बना हुआ है. जी हां हम बात कर रहे हैं ‘सोशल मीडिया प्लेटफार्म’ की.

यह भी पढ़ें -  सीबीएसई कक्षा 10 का परिणाम 2021 घोषित, ऐसे करें चेक

‘आज विश्व सोशल मीडिया दिवस है’ . हर साल 30 जून को विश्व सोशल मीडिया दिवस के रूप में मनाया जाता है. व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम, टि्वटर, यूट्यूब आदि ऐसे माध्यम हैं जो सोशल मीडिया के रूप में जाने जाते हैं. आज हम सोशल मीडिया की बढ़ती ताकत को लेकर बात करेंगे. ‘संचार माध्यम को लेकर करीब एक दशक पहले दुनिया क्या थी और आज क्या है, इन वर्षों में समूचे विश्व में अगर सबसे तेज ग्रोथ किसी की हुई है तो वह सोशल मीडिया ही है, हाल के वर्षों में मीडिया से भी ताकतवर सोशल मीडिया उभर कर सामने आया है’.

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी ने किया उत्तराखण्ड भूकम्प एलर्ट एप लांच, ऐसा एप बनाने वाला उत्तराखण्ड पहला राज्य
यह भी पढ़ें -  लालू प्रसाद यादव ने दिया सक्रिय राजनीति में लौटने का इशारा, 2024 के लिए दिए ये बड़े संकेत

बता दें कि सोशल मीडिया दिवस का मुख्य उद्देश्य यह है कि विश्व में सोशल मीडिया संचार के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण के रूप में कैसे उभरा इसके बारे में सभी को बताया जा सके. ‘गौरतलब है कि उस समय विश्व में सोशल मीडिया के प्रभाव और वैश्विक संचार में इसकी भूमिका पर जोर देने के लिए विश्व सोशल मीडिया दिवस को मनाया गया था’. दुनिया भर में सबसे पहले 1997 में पहला सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘सिक्स डिग्री’ लॉन्च किया गया था.

यह भी पढ़ें -  राकेश टिकैत ने किसानों के साथ किया धोखा, आंदोलन में पड़ी दरार!

वहीं साल 2001 में इसके दस लाख से अधिक यूजर्स होने के बाद इसे बंद कर दिया गया . लेकिन कुछ वर्षों के बाद सोशल मीडिया के कई प्लेटफार्म ने दुनिया में तेजी से विस्तार शुरू कर दिया. ‘पिछले एक दशक से सोशल मीडिया दुनिया के कोने-कोने से लोगों को आपस में जोड़ने का अहम साधन बनकर उभरा है’. इसके अलावा सोशल मीडिया प्रमुख प्रभावशाली लोगों को अपना ब्रांड बढ़ाने में मदद करता है.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

यह भी पढ़ें -  प्रदेश में उद्योगों को दिया जायेगा बढ़ावा, बनायी जायेगी उद्योगों के अनुकुल और अधिक कारगर नीतिः सीएम धामी

Ind Vs Eng 1 Test: पहले दिन का खेल खत्म, टीम इंडिया का स्कोर 21/0-रोहित-राहुल क्रीज पर

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,045FollowersFollow
474SubscribersSubscribe
--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

Ind Vs Eng 1 Test: पहले दिन का खेल खत्म, टीम इंडिया का स्कोर...

नॉटिंघम|....बुधवार को टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला खेला जा रहा है. दोनों टीमें नॉटिंघम...

यूपी चुनाव से पहले ओम प्रकाश राजभर की ‘ब्लैकमेलिंग’ से नतमस्तक भाजपा

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आते जा रहे हैं भाजपा, सपा, कांग्रेस और बसपा सियासी पिच पर अपनी 'बिसात' बिछाने में लगी हुई...

शर्तें लागू: राजभर ने एनडीए में लौटने के लिए भाजपा के सामने रख दी...

आखिरकार दो साल बाद भाजपा और ओमप्रकाश राजभर करीबी देखने को मिली. बता दें कि इसकी शुरुआत मंगलवार सुबह यूपी की राजधानी लखनऊ से...

सड़क पर भिड़े: कृषि बिल पर संसद के बाहर कांग्रेस-अकाली दल की सांसद के...

मानसून सत्र के दौरान संसद भवन में जारी हंगामे और शोर-शराबे का असर अब बाहर भी दिखने लगा है. जहां संसद के अंदर कांग्रेस...

राकेश टिकैत ने किसानों के साथ किया धोखा, आंदोलन में पड़ी दरार!

किसान आंदोलन के नाम पर आठ महीने से दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन चल रहा है. अब इस आंदोलन में बड़ी दरार पड़ गई...

Covid19: उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले 37 नए कोरोना संक्रमित, जानें अपने जिले का...

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 37 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. जबकि 42 मरीजों को ठीक होने...

सीएम धामी ने किया उत्तराखण्ड भूकम्प एलर्ट एप लांच, ऐसा एप बनाने वाला उत्तराखण्ड...

बुधवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में मोबाइल एप्लीकेशन ‘‘ उत्तराखण्ड भूकंप अलर्ट’’ एप का शुभारम्भ किया. उत्तराखण्ड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण,...

श्री राम मंदिर के निर्माण कार्य को शुरू हुए 1 साल पूरा, जानें कब...

पिछले साल 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण हेतु भूमिपूजन किया था. इसके पश्चात निर्माण का कार्य...

Tokyo Olympics: भारतीय महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल हारी, पर मेडल की उम्मीद अब भी...

टोक्‍यो|.... भारतीय महिला हॉकी टीम बुधवार को टोक्‍यो ओलंपिक्‍स में सेमीफाइनल मुकाबले में अर्जेंटीना से पार नहीं पा सकी. भारत को अर्जेंटीना के हाथों...

अब अल्मोड़ा से हल्द्वानी के बीच का सफर कुछ ही मिनटों में होगा पूरा,...

अब अल्मोड़ा से हल्द्वानी के बीच का सफर कुछ ही मिनटों में पूरा हो जाएगा. केंद्र सरकार ने अल्मोड़ा-हल्द्वानी-पिथौरागढ़ हेली सेवा शुरू करने को...