स्कूल खोले जाने के फैसले को लेकर एम्स के निदेशक ने दिए ये सुझाव

कोरोना वायरस संक्रमण के कारण बच्चों की पढ़ाई पर भी असर पड़ा है. स्‍कूल बीते साल मार्च से ही बंद हैं. बीते साल नवंबर में कई राज्‍यो में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में कमी के बीच नौवीं से 12वीं कक्षा के स्‍कूलों को खोला गया था, लेकिन इस साल मार्च में संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी के बीच एक बार फिर स्‍कूलों को बंद करना पड़ा.

अब एक बार फिर संक्रमण के मामलों में कमी को देखते हुए कई राज्‍यों में 10वीं से 12वीं की कक्षाओं के लिए स्‍कूल खोलने की अनुमति दी गई है, लेकिन प्राथमिक स्‍कूलों को लेकर अब भी स्थिति स्‍पष्‍ट नहीं है.

यह भी पढ़ें -  दिल्‍ली: रोहिणी कोर्ट में पेशी के दौरान फायर‍िंग, गोगी गैंग का सरगना जितेंद्र गोगी का मर्डर-पुल‍िस की जवाबी कार्रवाई में 3 ढेर

इस बीच एम्स के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया का कहना है कि देश को एक बार फिर से स्कूलों को खोलने पर विचार करना चाहिए. उनका यह भी कहना है कि बच्‍चों की इम्‍युनिटी बेहतर है और वे बड़ों के मुकाबले अधिक बेहतर तरीके से वायरस के संक्रमण से उबरने में सक्षम हैं.

फिर कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर के दौरान भी बच्‍चों में बड़ों के मुकाबले संक्रमण कम देखा गया. जो बच्‍चे इस संक्रामक रोग की चपेट में आए, वे जल्‍द ठीक भी हुए. सीरो सर्वे में भी बच्‍चों में मौजूद एंटीबॉडी को वयस्‍कों के मुकाबले बेहतर पाया गया, इसलिए स्‍कूल खोले जा सकते हैं.

यह भी पढ़ें -  असम: अतिक्रमण हटाने पहुंची पुलिस और प्रदर्शनकारियों में हिंसक झड़प, 2 की मौत, 9 पुलिसकर्मी घायल
यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में झमाझम बारिश, बदरीनाथ-यमुनोत्री और गंगोत्री हाईवे बंद

डॉ. गुलेरिया ने यह भी स्‍पष्‍ट किया कि देश के उन जिलों में स्‍कूल खोले जाने पर विचार किया जा सकता है, जहां कोरोना वायरस संक्रमण के मामले कम हुए हैं. जहां पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत से कम है, वहां स्‍कूल खोलने की योजना बनाई जा सकती है.

एक अंग्रेजी अखबार को दिए एक इंटरव्‍यू में उन्‍होंने कहा कि अगर फिर से संक्रमण फैलने के संकेत मिलते हैं तो स्कूलों को तुरंत बंद किया जा सकता है. बच्चों को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ स्‍कूल बुलाया जा सकता है. स्‍कूलों को खोलने के अन्य तरीकों पर भी विचार किया जा सकता है और इस दिशा में योजना बनाई जानी चाहिए.

यह भी पढ़ें -  पेगासस केस की जांच के लिए एक तकनीकी जानकारों की टीम गठित करेगा सुप्रीम कोर्ट

स्‍कूल बंद होने के दौरान इंटरनेट से होने वाली पढ़ाई को बच्‍चों के लिए बहुत उपयोगी न मानते हुए डॉ. गुलेरिया ने यह भी कहा कि यह पढ़ाई न तो आसान है और न ही सभी बच्‍चों के लिए ऑनलाइन एजुकेशन आसान पहुंच वाला है. बच्‍चों के समग्र विकास के लिए स्‍कूली शिक्षा का अपना अलग महत्‍व है, जिसकी जगह ऑनलाइन एजुकेशन नहीं ले सकती.

उन्‍होंने बच्‍चों के लिए कोवैक्सिन के क्लीनिकल ट्रायल के शुरुआती आंकड़ों को ‘अच्‍छा बताते हुए उम्‍मीद जताई कि बच्‍चों को कोविड-19 का टीका लगवाने के लिए वैक्‍सीन सितंबर तक भारत में उपलब्‍ध हो जाएगी.

यह भी पढ़ें -  घुसपैठ कर रहे थे तीन आतंकियों को सेना ने किया ढेर, हथियारों का जखीरा बरामद

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,061FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--

Latest Articles

यूपीएससी की मुख्य परीक्षा का रिजल्ट घोषित, शुभम कुमार ने हासिल किया पहला स्थान

संघ लोक सेवा आयोग ने 2020 सिविल सेवा परीक्षा का अंतिम रिजल्ट घोषित कर दिया है. आयोग ने कुल 761 उम्मीदवारों की...

रोहिणी कोर्ट शूटआउट: कांग्रेस, आप ने सुरक्षा पर उठाए सवाल, वकीलों ने भी जताई...

शुक्रवार (24 सितम्बर) को दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में दिनदहाड़े हुए शूटआउट की घटना में पूरे देश को हिला कर रख दिया. अदालत...

27 सितंबर को किसानों का ‘भारत बंद’, जानें किसे मिलेगी छूट-क्या है समय

केंद्र सरकार की ओर से लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का धरना-प्रदर्शन बीते करीब 10 माह से जारी है. किसानों के प्रदर्शन...

बासी रोटी खाने के ये फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे आप

बासी रोटी को रोज दूध के साथ खाने से डायबिटिज और बीपी नियंत्रित रहता है. रोटी के बासी हो जाने से उनमें कुछ लाभकारी...

मुख्यमंत्री धामी की बड़ी घोषणा: उत्तराखंड पुलिस एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दी जाएगी प्रोत्साहन...

कोरोना काल में हर किसी को कठिन परिस्तिथि से गुजरना पड़ा. कई लोगो कि जाने चली गयी, कई लोग बेरोजगार होगये , लेकिन इन...

क्या आप जानते हैं भारतीय नदियों की ये रोचक बातें, दंग रह जाएंगे!

भारत को नदियों का देश माना जाता है. ऐसा भी मानना है कि सभ्यता के विकास में इन नदियों का अत्यंत महत्त्वपूर्ण योगदान है....

कपिल शर्मा शो के खिलाफ दर्ज हुई FIR, एपिसोड में शराब पीकर एक्ट करता...

मध्य प्रदेश के शिवपुरी कोर्ट में कपिल शर्मा शो के मेकर्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई है. मामला शो के उस एपिसोड जिसमे...

दिल्‍ली: रोहिणी कोर्ट में पेशी के दौरान फायर‍िंग, गोगी गैंग का सरगना जितेंद्र...

राजधानी दिल्‍ली से एक बड़ी खबर सामने आ रही है, यहां के रोहिणी कोर्ट में पेशी के दौरान फायर‍िंग में गोगी गैंग का...

क्‍वॉड के देश एकजुट: अमेरिकी धरती से चीन की दादागिरी पर लगेगी लगाम, पाक...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा से चीन, पाकिस्तान में जबरदस्त खलबली मची हुई है. यह दोनों देश पीएम मोदी के हर 'स्टेटमेंट' (बयान)...

विशेष: समुद्र में चीन की बढ़ती दादागिरी के खिलाफ क्‍वॉड की शुरुआत साल 2004...

यहां हम आपको बता दें कि अमेरिका की विस्तार वादी नीति से दुनिया के तमाम देश परेशान हैं. चीन का अड़ियल रवैया थल (जमीन)...