‘मिसाइल मैन’ की पुण्यतिथि पर विशेष : महान वैज्ञानिक कलाम ने देश को दी नई उर्जा, युवाओं के लिए उनके विचार रहेंगे प्रेरणा स्रोत

जिंदगी तो सभी जीते हैं लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो औरों के लिए जीते हैं. इनका सादगी भरा जीवन देश के लिए प्रेरणास्रोत रहा . ये राष्ट्रपति के पद पर रहते हुए भी आम लोगों की तरह ही रहे.

इनके विचार आज भी युवाओं के लिए ‘आदर्श’ बने हुए है. हम बात कर रहे हैं महान वैज्ञानिक, मिसाइल मैन और पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की. आज 27 जुलाई को डॉ कलाम की छठी पुण्यतिथि पर देश उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए उनके विचारों को याद कर रहा है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी समेत कई नेताओं ने कलाम को श्रद्धांजलि दी. बात शुरू करते हैं डॉक्टर कलाम के महान विचारों से.

‘सपने वो नहीं हैं जो आप नींद में देखते हैं, सपने वो हैं जो आपको नींद नहीं आने देते’, ‘इंतजार करने वालों को सिर्फ उतना ही मिलता है, जितना कोशिश करने वाले छोड़ देते हैं’, ‘अपने मिशन में कामयाब होने के लिए, आपको अपने लक्ष्य के प्रति एकचित्त निष्ठावान होना पड़ेगा’, ‘अगर आप सूरज की तरह चमकना चाहते हैं तो पहले आपको सूरज की तरह तपना होगा’.

उनके विचारों ने पूरे देश को एक नई ऊर्जा प्रदान की. बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम में हुआ था. इनका पूरा नाम अवुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम था. उन्होंने अपनी पढ़ाई सेंट जोसेफ कॉलेज, तिरुचिरापल्ली से की थी.

यह भी पढ़ें -  27 सितम्बर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

कलाम ने अर्श से फर्श तक का सफर तय करने के लिए काफी मेहनत की और कई मुश्किलों का डटकर सामना भी किया . ‘उन्हें जनता का राष्ट्रपति कहा जाता था’. जनवादी राष्ट्रपति, जिन्होंने विज्ञान से लेकर राजनीति तक कई क्षेत्रों में अमिट छाप छोड़ी’ . कलाम न सिर्फ एक राजनेता, एयरोस्पेस साइंटिस्ट थे, बल्कि एक शिक्षक भी थे.

वो चाहते थे कि दुनिया उन्हें एक शिक्षक के तौर पर याद करे. बता दें कि 1992 से 1999 तक कलाम रक्षामंत्री के रक्षा सलाहकार भी रहे. इस दौरान अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने पोखरण में दूसरी बार न्यूक्लियर टेस्ट भी किए और भारत परमाणु हथियार बनाने वाले देशों में शामिल हो गया. यही वजह है कि उन्हें ‘मिसाइल मैन’ कहा जाता है. पोखरण परमाणु परिक्षण में डॉ. कलाम ने अहम भूमिका निभाई थी. डॉ कलाम भारत सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार भी रहे.

कलाम को 1981 में भारत सरकार ने पद्म भूषण और फिर, 1990 में पद्म विभूषण और 1997 में देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न प्रदान किया. भारत के सर्वोच्च पद पर नियुक्ति से पहले भारत रत्न पाने वाले कलाम देश के केवल तीसरे राष्ट्रपति हैं. उनसे पहले यह मुकाम सर्वपल्ली राधाकृष्णन और जाकिर हुसैन ने हासिल किया था. ‘डॉ कलाम सभी पार्टियों सब धर्मों में लोकप्रिय रहे’. वह अग्नि और पृथ्वी मिसाइल के विकास और संचालन के प्रमुख थे.

यह भी पढ़ें -  डॉटर्स डे 2021: आज है डॉटर्स डे, जानें इसका इतिहास- महत्त्व
यह भी पढ़ें -  Covid19: उत्तराखंड में मिले 16 नए संक्रमित, एक भी मरीज की मौत नहीं

राष्ट्रपति रहते हुए भी डॉक्टर कलाम बेहद साधारण जिंदगी जीते थे
मिसाइल मैन डॉ एपीजे अब्दुल कलाम अपनी सादगी पूर्ण जीवन के लिए जाने जाते थे. वे बेहद साधारण पृष्ठभूमि से ताल्लुक रखते थे और जमीन और जड़ों से जुड़े रहकर उन्होंने ‘जनता के राष्ट्रपति’ के रूप में लोगों के दिलों में अपनी खास जगह बनाई .

‘राष्ट्रपति रहते हुए भी उन्होंने अपने जीवन में बदलाव नहीं किया, यही उनको महान बनाता था . उन्होंने 2002 से 2007 तक भारत के 11वें राष्ट्रपति के रूप में देश की सेवा की. समाज के सभी वर्गो और विशेषकर युवाओं के बीच प्रेरणा स्रोत बने डॉ. कलाम ने राष्ट्राध्यक्ष रहते हुए राष्ट्रपति भवन के दरवाजे आम जन के लिए खोल दिए जहां बच्चे उनके विशेष अतिथि होते थे. वह भारत के पहले राष्ट्रपति थे जो अविवाहित और शाकाहारी थे.

यह भी पढ़ें -  IPL2021: सीएसके ने रोमांचक मैच में आखिरी गेंद पर केकेआर को दी मात, दिखा जडेजा का 'तूफान'
यह भी पढ़ें -  IPL 2021, DC vs RR: दिल्ली का प्ले ऑफ में पहुंचना तय, राजस्थान को 33 रनों से हराया

‘कलाम को सूट पहनना पसंद नहीं था, इसलिए वो औपचारिक कार्यक्रमों में जाने से बचते थे’. उन्हें जनता का राष्ट्रपति कहा जाता था. उन्हें ऐसे कपड़े नहीं पसंद थे, जिसमें खुद को सहज नहीं पाते थे. पूर्व राष्ट्रपति डॉ कलाम को भारत और विदेश के 48 विश्वविद्यालयों और संस्थानों से मानद डॉक्टरेट से सम्मानित किया गया था. पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम अपने आखिरी समय तक देश के लिए सोचते रहे.

अब्दुल कलाम का 27 जुलाई, 2015 को शिलॉन्ग में निधन हो गया, वे आईआईएम में लेक्चर देने गए थे. यहां हम आपको बता दें कि उनकी अंतिम यात्रा (जनाजे) में मुस्लिमों से अधिक हिंदुओं की संख्या थी.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,065FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--

Latest Articles

महत्वपूर्ण: पीएम मोदी ने की आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत की. इस बात की जानकारी प्रधानमंत्री...

उत्तराखंड: राज्य में भी दिख रहा भारत बंद का असर, रुद्रपुर सहित कई जगह...

तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आज किसानों के भारत बंद को लेकर उत्तराखंड राज्य में भी इसका असर दिख रहा है. सोमवार सुबह से...

वर्ल्ड टूरिज्म डे विशेष: सैर-सपाटा के साथ देश की अर्थव्यवस्था को भी मजबूत करने...

घूमने-फिरने के शौकीनों के लिए आज का दिन किसी 'पर्व' (त्योहार) से कम नहीं है. धार्मिक, पौराणिक, दर्शनीय स्थलों, हरे भरे पहाड़, झरने, वादियां...

कृषि कानून के खिलाफ किसानों का भारत बंद शुरू

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानून के विरोध में किसान संगठनों का भारत बंद अभियान सुबह 6 बजे से शुरू हो गया है....

कोरोना से राहत: बीते 24 घंटों में सामने आए 26 हजार नए मामले

देश में अब कोरोना से राहत के आसार दिख रहे है. बीते दिन देश में कोरोना के 26 हजार नए मामले सामने आए हैं....

राशिफल 27-09-2021: जानिए क्या कहते है आप के आज के सितारे

मेष-: दिन बेहतरीन रहने वाला है. बिजनेस मे बढ़ोत्तरी के लिये आपके दिमाग में जो भी उपाय आयेगा वो कारगर साबित होगा. मान-सम्मान में...

27 सितम्बर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 27 सितम्बर 2021 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

Covid19: उत्तराखंड में मिले 16 नए संक्रमित, एक भी मरीज की मौत नहीं

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 16 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. जबकि 16 मरीजों को ठीक होने...

IPL2021: सीएसके ने रोमांचक मैच में आखिरी गेंद पर केकेआर को दी मात, दिखा...

अबुधाबी|... रविवार को तीन बार की चैंपियन टीम चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल -2021 के बेहद रोमांचक मुकाबले में कोलकाता नाइटराइडर्स को अंतिम गेंद...

सीएम योगी ने किया अपने मंत्रिमंडल का विस्तार, 7 नए मंत्रियों ने ली...

रविवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर दिया है. 7 नए मंत्रियों ने शपथ ली है. इनमें कांग्रेस...