उत्तराखंड बीजेपी हो सकता है एक और बड़ा बदलाव, मदन कौशिक की जगह नया चेहरा तलाश रही पार्टी

देहरादून| उत्तराखंड बीजेपी एक और बड़े बदलाव की ओर बढ़ रही है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक की जगह किसी और को जिम्मेदारी दे सकती है. साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि बीजेपी मदन कौशिक के साथ एक और कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त कर दे.

बीजेपी की इस रणनीति के पीछे तेजी से बदले सियासी घटनाक्रम को माना जा रहा है. बीजेपी के अंदर जहां दो-दो सीएम बदल दिए गए, तो वहीं कांग्रेस ने अप्रत्याशित रणनीति अपनाते हुए एक की जगह पांच-पांच अध्यक्ष बना डाले.

इसमें भी जातिगत और क्षेत्रीय समीकरणों का कांग्रेस ने बारिकी से ध्यान रखा है. तराई में पंजाबी समुदाय की बहुलता के चलते ऊधमसिंह नगर से कांग्रेस ने पूर्व कैबिनेट मंत्री तिलकराज बेहड़ को कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया.

वहीं, मुख्यमंत्री पुष्कर धामी की विधानसभा सीट खटीमा से युवा नेता भुवन कापड़ी जो कि ब्राहमण चेहरा हैं, को कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया गया.

इसी तरह कुमाऊं से ठाकुर चेहरा रणजीत रावत, गढ़वाल से एससी चेहरा प्रो.जीतराम को भी कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया गया. गढ़वाल से ब्राहमण चेहरा युवा गणेश गोदियाल को कांग्रेस ने अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंप दी. कांग्रेस की अपेक्षा अब बीजेपी में जातिगत और क्षेत्रीय संतुलन उतना सटीक नहीं दिखाई देता.

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी के साथ राजकीय शिक्षक संघ की बैठक में इन महत्वपूर्ण मांगों पर बनी सहमति

हरिद्वार सीट से विधायक और प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक मैदान से हैं, पहाड़ में उनकी उतनी स्वीकार्यता नहीं है. खुद बीजेपी संगठन के भीतर ये कमी महसूस की जाती रही है. इस बीच तीसरे सीएम पुष्कर धामी भी भले ही जन्मे पहाड़ में हों, लेकिन उनकी कर्मस्थली मैदान के तराई की खटीमा सीट ही रही है.

इस बीच हरिद्वार से सांसद रमेश पोखरियाल निशंक को भी केंद्रीय कैबिनेट से बाहर का रास्ता दिखाकर कुमाऊं के नैनीताल से सांसद अजय भटट को केंद्र में राज्य मंत्री बना दिया गया. इससे बीजेपी की सियासी परंपरा के तहत गढ़वाल , कुमाऊं, मैदान, पहाड़ में एक असंतुलन पैदा हो गया. कांग्रेस की रणनीति के बाद तो इस असंतुलन को इतनी हवा मिली कि बीजेपी में अध्यक्ष बदले जाने की चर्चा जोर पकड़ गई.

यह भी पढ़ें -  न्यूजीलैंड दौरा रद्द, बौखलाया पाक बोला-मुंबई से भेजा गया था धमकी भरा ई-मेल

उत्तराखंड में इस साल मार्च में जब बीजेपी ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को हटाया था, तो उनके साथ ही संगठन में भी बदलाव कर प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत को कैबिनेट मंत्री बना दिया गया था. उनकी जगह मदन कौशिक को प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया था. कौशिक को शहरी विकास जैसा महत्वपूर्ण मंत्रालय छोड़ना पड़ा था. हालांकि, कौशिक तब भी इस बदलाव से खुश नहीं थे, लेकिन पार्टी नेतृत्व ने उन्हें मना लिया था.

यह भी पढ़ें -  IPL 2021: दीपक हुड्डा बीसीसीआई के एंटी करप्शन यूनिट के रडार पर, जानें पूरा मामला

मदन कौशिक को अध्यक्ष बनाने के पीछे बीजेपी का मकसद मैदानी वोटर्स और खासकर किसान आंदोलन से उपजी एंटी इनकम्बैसी को कम करना था. लेकिन इस बीच त्रिवेंद्र को हटाकर लाए गए तीरथ सिंह रावत को भी चलता कर दिया गया और उनकी जगह मैदान की खटीमा सीट से पुष्कर धामी ने ले ली. अब संगठन और सरकार की कमान एक तरह से मैदान के प्रतिनिधियों के हाथ में है.

पहाड़ की उपेक्षा की इस हवा ने कहीं चुनावी रंग पकड़ लिया तो 2022 में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. बीजेपी के सामने हालात ऐसे बन गए हैं कि वो ये रिस्क नहीं उठा सकती. माना जा रहा है कि जातिगत समीकरणों में सीएम के ठाकुर होने के कारण गढ़वाल से ब्राहमण चेहरे को आगे किया जा सकता है.

इनमें चमोली से विधायक और संगठन में कई पदों पर रह चुके महेंद्र भट्ट , उत्तराखंड आंदोलनकारी , पूर्व मेयर रह चुके धर्मपुर सीट से विधायक विनोद चमोली, पूर्व दायित्वधारी ज्योति गैरोला, यूपी के समय से संगठन में सक्रिय रहे और तीन बार के दायित्वधारी रह चुके बृज भूषण गैरोला का नाम सामने आ रहा है.

यह भी पढ़ें -  महिलाएं इसी साल दे पाएंगी एनडीए की परीक्षा, सुप्रीमकोर्ट का सरकार को और समय देने से इंकार
यह भी पढ़ें -  CBSE का बड़ा फैसला: कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को नहीं देनी होगी परीक्षा फीस

इसी हप्ते उत्तराखंड दौरे पर आए राष्ट्रीय महामंत्री बीएल संतोष, प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम, सह प्रभारी रेखा वर्मा के पीछे भी मुख्य कारण बदलाव की इसी पटकथा को माना जा रहा है. विधायक महेंद्र भट्ट ने इस दौरान राष्ट्रीय महामंत्री बीएल संतोष से मुलाकात भी की.

हालांकि, बीजेपी इन सारी चर्चाओं को निर्मूल करार दे रही है. संगठन और सरकार के बीच महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत का कहना है कि ऐसा कोई विचार नहीं है. कांग्रेस एक षडयंत्र के तहत इस बात को हवा दे रही है, तो दूसरी ओर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल का कहना है कि बीजेपी अध्यक्ष बदले न बदले कांग्रेस का इससे कोई मतलब नहीं है.

लेकिन, खुद बीजेपी के नेता इस बात को हवा दे रहे हैं. साढ़े चार साल में बीजेपी तीन सीएम बदल सकती है तो कुछ भी कर सकती है.

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,061FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--

Latest Articles

IPL 2021: आरसीबी और सीएसके का दमदार मुकाबला आज

आईपीएल 2021 के 35वें मैच में विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और एमएस धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स की टीमों के बीच दमदार...

मोदी-हैरिस की मुलाक़ात: हैरिस ने पाक को माना आतंकियों का ठिकाना

अमेरिका के तीन दिवसीय दौरे में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब तक कई लोगो से मिल चुके हैं. इसी दौरान उन्होंने गुरुवार को अमेरिकी...

Covid19: देश फिर कोरोना के मामले 30,000 के पार, 318 मरीजों की मौत

देश में बीते 24 घंटों में कोविड-19 संक्रमण के 31 हजार 382 नए मामले मिले हैं. इस दौरान 318 मरीजों की मौत हुई. फिलहाल,...

महंत नरेंद्र गिरि मौत मामले में सीबीआई तलाश रही है इन 12 सवालों के...

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मृत्यु के मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की यूपी सरकार की...

उत्तराखंड में झमाझम बारिश, बदरीनाथ-यमुनोत्री और गंगोत्री हाईवे बंद

गुरुवार को उत्तराखंड में एक बार मौसम का मिजाज बदल गया, जिसके चलते राजधानी देहरादून व आसपास के इलाकों में हुई मूसलाधार बारिश ने...

पीएम मोदी का अमेरिका दौरा: जानिए 5 सीईओ के साथ कैसे रही पीएम मोदी...

पीएम मोदी इन दिनों तीन दिवसीय अमेरिका दौरे पर है. पीएम मोदी ने अपने दौरे के पहले दिन 5 वैश्विक कंपनियों के सीईओ...

उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने गृहमंत्री अमित शाह से की मुलाकात

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने गुरुवार को राजधानी दिल्ली में गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की. अमित...

इस्लामिक सहयोग संगठन ने फिर उठाया कश्मीर का मसला,भारत ने दिया ये जवाब

इस्लामाबाद|..... संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र से इतर हुई बैठक में इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) के संपर्क समूह ने भारत से जम्मू-कश्मीर का...

सीएम धामी के साथ राजकीय शिक्षक संघ की बैठक में इन महत्वपूर्ण मांगों पर...

गुरुवार शाम मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के साथ राजकीय शिक्षक संघ की प्रांतीय कार्यकारिणी की महत्वपूर्ण बैठक आयोजित हुई.
यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: राज्य में कांग्रेस की गुटबाजी के बीच हरीश ने अचानक खेला दलित कार्ड
इस बैठक में मुख्यमंत्री धामी...

इस मंदिर में झूला झूलती हैं देवी दुर्गा, मां की रखवाली में पहरा देते...

झुला देवी मंदिर रानीखेत शहर से 7 कि.मी. की दुरी पर स्थित एक लोकप्रिय पवित्र एवम् धार्मिक मंदिर है. यह मंदिर माँ दुर्गा को...