हरियाली तीज विशेष: पति की लंबी आयु, सुख-समृद्धि के साथ महिलाओं के सौंदर्य-प्रेम का उपासक है यह पर्व

बारिश और रिमझिम फुहारों के साथ सावन का महीना सभी को लुभा रहा है. चारों ओर हरियाली छाई हुई है. ऐसे में अगर तीज-त्योहार का भी आगमन हो जाए, तो क्या बात है. वैसे सावन से त्योहारों की शुरुआत भी होती है. शुक्रवार, 13 अगस्त को नाग पंचमी है उसके बाद 22 अगस्त को भाई और बहन का पवित्र त्योहार रक्षाबंधन है. ‌लेकिन आज हम आपसे जो बात करेंगे वह पर्व महिलाओं को समर्पित है.

जी हां हम बात कर रहे हैं ‘हरियाली तीज’ की. आज देश में हरियाली तीज धूमधाम के साथ मनाई जा रही है. महिलाओं ने इसके लिए विशेष तैयारी कर रखी है. घरों में पकवान बनाए जा रहे हैं. महिलाएं सोलह सिंगार करने में व्यस्त हैं. खैर, महिलाओं का सिंगार और स्वादिष्ट पकवान बनाना शाम तक चलता रहेगा. जब तक आइए हरियाली तीज को लेकर चर्चा कर लिया जाए. हरियाली तीज पर वर्षा ऋतु प्रसन्न होती है और वर्षा ऋतु की प्रसन्नता धरा पर हरियाली के रूप में दिखाई देती हैं.

हरियाली तीज सावन महीने के सबसे महत्वपूर्ण पर्व में से एक है. सौंदर्य और प्रेम के इस पर्व को ‘श्रावणी तीज’ भी कहते हैं. त्याग-समर्पण के साथ सौंदर्य और प्रेम न जाने कितने रूपों में भारतीय नारियों का वर्णन किया गया है. तीज का पर्व सुहागिन महिलाओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है.

यह भी पढ़ें -  यूपी: कांग्रेस- बीजेपी कार्यकर्ता भिड़े, जान बचाकर भागे बीजेपी सांसद संगम लाल गुप्ता

‘हरियाली तीज पति की लंबी आयु, सुख और समृद्धि के साथ महिलाओं के सौंदर्य-प्रेम का भी उपासक है, सुहागिन महिलाओं के लिए करवा चौथ और हरियाली तीज ऐसे त्योहार है जो कि पति की लंबी आयु के साथ व्रत रखने और सोलह श्रृंगार सिंगार करने के लिए जाने जाते हैं’. हरियाली तीज के दिन स्त्रियां सोलह श्रृंगार करती हैं. सोलह श्रृंगार अखंड सौभाग्य की निशानी होती है, इसलिए हरियाली तीज का स्त्रियां साल भर इंतजार करती हैं. इस दिन परंपरा रही है कि महिलाएं हाथों में मेहंदी लगाकर झूला भी झूलती हैं.‌ घरों में पूजा के लिए पकवान भी बनाए जाते हैं.

यह भी पढ़ें -  फारुक अब्दुल्ला ने सरकार को दी निवेश का हवाला देकर तालिबान से संबंध रखने की सलाह

सुहागिन स्त्रियों के लिए यह पर्व सुखद दांपत्य जीवन के लिए प्रेरित करता है
हरियाली तीज के दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और सुख समृद्धि के लिए व्रत रखती हैं. सुहागिन स्त्रियों के लिए यह पर्व सुखद दांपत्य जीवन के लिए प्रेरित करता है. इस दिन महिलाएं श्रद्धा से भगवान शिव-पार्वती की पूजा करती हैं. हरियाली तीज पर सुहागिन महिलाएं इस प्रकार करें पूजा. घर को तोरण-मंडप से सजाएं मिट्टी में गंगाजल मिलाकर शिवलिंग, भगवान गणेश और माता पार्वती की प्रतिमा बनाएं और इसे चौकी पर स्थापित करें. मिट्टी की प्रतिमा बनाने के बाद देवताओं का आह्वान करते हुए षोडशोपचार पूजन करें. तीज व्रत का पूजन रातभर चलता है, इस दौरान महिलाएं जागरण और कीर्तन भी करती हैं. मान्यता है कि इस दिन विवाहित महिलाओं को अपने मायके से आए कपड़े पहनने चाहिए और श्रृंगार में भी वहीं से आई वस्तुओं का इस्तेमाल करना चाहिए. पंचांग के अनुसार, सावन माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि का प्रारंभ 10 अगस्त दिन मंगलवार को शाम 06 बजकर 05 मिनट से बुधवार शाम 04 बजकर 53 मिनट तक रहेगी.

यह भी पढ़ें -  राशिफल 24-09-2021: जानिए सभी राशियों का आज का आर्थिक राशिफल

इस बार हरियाली तीज व्रत पर ‘शिवयोग’ का शुभ संयोग
यहां हम आपको बता दें कि इस बार हरियाली तीज व्रत के दिन ‘शिव योग’ बन रहा है. ऐसे अवसर पर ऐसा संयोग बनना बहुत ही अनूठा होता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, शिव योग को प्रमुख 27 योगों में सबसे प्रमुख और कल्याणकारी योग माना गया है. इस योग में शिव की पूजा करने से पुण्य फल कई गुना बढ़ जाता है. इसके अलावा शिव योग में भगवान शिव व माता पार्वती की पूजा दांपत्य जीवन को खुशियों से भर देता है. सभी मनोकामनाएं पूरी कर देता है. संतान सुख में वृद्धि करता है. घर परिवार धन-धान्य से भर जाता है. हरियाली तीज व्रत के अवसर पर ऐसा संयोग लंबे समय के बाद बन रहा है. बता देंं कि सावन मास की शुक्ल पक्ष की तृत्यी को हरियाली तीज का पर्व मनाया जाता है. कहा जाता हैै कि इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की प्रथम मिलन हुआ था. हरियाली तीज पर शिव-पार्वती जी की पूजा और व्रत किया जाता है. उत्तर भारतीय राज्यों में तीज का त्योहार धूमधाम से मनाया जाता है.

यह भी पढ़ें -  PM Modi UNGA Speech: कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में मतभेद और मनभेद से परे काम करने की जरूरत
यह भी पढ़ें -  [Video]रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले, योगी का नाम लेते ही अपराधियों का दिल धड़कने लगता है

हरियाली तीज का संबंध भगवान शिव और पार्वती से जुड़ा हुआ है
हरियाली तीज पर्व का संबंध भगवान शिव और माता पार्वती से है. मान्यता है कि पार्वती की तपस्या से शिव प्रसन्न हुए थे और इसी दिन ही पार्वती को उनके पूर्व जन्म की कथा भी सुनाई थी. कथा के अनुसार, भगवान शिव ने माता पार्वती को उनके पिछले जन्मों का स्मरण कराने के लिए तीज की कथा सुनाई थी. एक बार की बात है माता पार्वती अपने पूर्वजन्म के बारे में याद करने में असमर्थ थीं तब भोलेनाथ माता से कहते हैं कि हे पार्वती, तुमने मुझे प्राप्त करने के लिए 107 बार जन्म लिया था लेकिन तुम मुझे पति रूप में न पा सकीं लेकिन 108वें जन्म में तुमने पर्वतराज हिमालय के घर जन्म लिया और मुझे वर रूप में प्राप्त करने के लिए घोर तपस्या की. माना जाता है कि इस दिन भगवान शिव और मां पार्वती का पुनर्मिलन हुआ था.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,063FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--

Latest Articles

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका का दौरा खत्म कर न्यूयॉर्क से स्वदेश के लिए रवाना

प्रधानमंत्री अमेरिका का महत्वपूर्ण दौरा शनिवार रात को खत्म हो गया. प्रधानमंत्री न्यूयॉर्क से भारत के लिए रवाना हो गए हैं. अमेरिका ने...

कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज का फिर चढ़ा पारा, डॉक्टर को लगाई फटकार

उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज सरकारी महकमें में खामियों और लापरवाही मिलने पर कई बार सार्वजनिक तौर पर जिम्मेदार अधिकारी और कर्मचारियों को...

सिविल सेवा परीक्षा पास करने वालों में रानीखेत के तुषार भी शामिल, हासिल की...

संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सेवा परीक्षा-2020 का फाइनल रिजल्ट जारी कर दिया है. जिसमें हर बार की तरह इस बार भी प्रदेश...

अल्मोड़ा: रानीखेत की मीना बाजार में भीषण अग्निकांड, नौ दुकानें पूरी तरह तबाह

अल्मोड़ा| शनिवार की तड़के रानीखेत में राजकीय अस्पताल के समीप मीना बाजार की दुकानें भीषण आग की चपेट में आ गईं. देखते ही देखते...

दुनिया को संदेश: 22 मिनट की स्पीच में पीएम मोदी ने विकास के साथ...

प्रधानमंत्री के अंतरराष्ट्रीय मंच से संबोधन के दौरान न ललकार थी, न तड़क-भड़क न किसी भी देश का नाम. पीएम मोदी बड़ी-बड़ी बातें भी...

PM Modi UNGA Speech: कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में मतभेद और मनभेद से...

न्यूयॉर्क|... शनिवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित में कहा कि आज हम मुश्किल के दौर से भले ही गुजर...

IPL 2021, DC vs RR: दिल्ली का प्ले ऑफ में पहुंचना तय, राजस्थान...

अबु धाबी|…. गत उप-विजेता दिल्ली कैपिटल्स ने दमदार प्रदर्शन की बदौलत IPL-2021 के मुकाबले में शनिवार को राजस्थान रॉयल्स को 33 रन से हरा...

यूपी: कांग्रेस- बीजेपी कार्यकर्ता भिड़े, जान बचाकर भागे बीजेपी सांसद संगम लाल गुप्ता

लखनऊ|प्रतापगढ़ जिले के संगीपुर में 'गरीब कल्याण मेला' में कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी और बीजेपी सांसद संगम लाल गुप्ता के समर्थकों के बीच झड़प...

घर पर रखें लौंग का ऐसे करें इस्तेमाल, कई बीमारियां रहेंगी दूर

भारतीय मसालों का राजा कहे जाने वाले लौंग आपने कई बार खाया होगा और इसका इस्तेमाल भी किया होगा. लौंग का इस्तेमाल खाने के...

जानिए एलोवेरा के बेहतरीन गुण के बारे में

एलोवेरा में कई औषधीय गुण होते हैं, जो हमारी खूबसूरती को बढ़ाने के साथ-साथ हमारी सेहत का भी खासा ख्याल रखते हैं. ये एक...