उपग्रह ईओएस-03 लॉन्च कर इतिहास बनाने से चूक गया इसरो, मिशन फेल

श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश)| GSLV- F 10 रॉकेट के जरिए भू्-अवलोकन उपग्रह EOS-03 को लॉन्च कर इतिहास बनाने से चूक गया. लॉन्च के कुछ समय बाद ही क्रायोजेनिक इंजन से आंकड़े मिलने बंद हो गए.

GSLV-F10 रॉकेट ने उड़ान तो भरी लेकिन मिशन समय से कुछ सेकेंड पहले ही खराब हो गया और आंकड़े मिलने बंद हो गए. इसके बाद इसरो के कंट्रोल रूम में बैठे वैज्ञानिकों के चेहरे पर तनाव साफ देखने को मिल रहा था. इसरो के चेयरमैन के सिवन ने मिशन के फेल होने पर जानकारी देते हुए कहा, ‘मिशन पूरा नहीं हो सका. इसका मुख्य कारण क्रायोजेनिक चरण में आई तकनीकी खराबी रही.’

इसरो ने इस संबंध में बयान जारी करते हुए कहा, ‘GSLV-F10 का प्रक्षेपण आज निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक, भारतीय समनुसार 0543 बजे हुआ. पहले और दूसरे चरण का प्रदर्शन सामान्य रहा. हालांकि, क्रायोजेनिक अपर स्टेज इग्निशन तकनीकी खराबी के कारण नहीं हुआ. उद्देश्य के अनुसार मिशन को पूरा नहीं किया जा सका.’ फरवरी में ब्राजील के भू-अवलोकन उपग्रह एमेजोनिया-1 और 18 अन्य छोटे उपग्रहों के प्रक्षेपण के बाद 2021 में इसरो का यह दूसरा प्रक्षेपण था.

यह भी पढ़ें -  इस मंदिर में झूला झूलती हैं देवी दुर्गा, मां की रखवाली में पहरा देते हैं शेर

क्या थी विशेषताएं

अत्याधुनिक भू-अवलोकन उपग्रह ईओएस-03 को जीएसएलवी-एफ 10 के जरिए भूसमकालिक स्थानांतरण कक्षा (जीटीओ) में स्थापित किया जाना था. इसके बाद, उपग्रह अपनी प्रणोदक प्रणाली का इस्तेमाल कर अंतिम भू-स्थिर कक्षा में पहुंचना था.
इसे जीएसएलवी-एफ10 द्वारा जियोसिंक्रोनस ट्रांसफर ऑर्बिट में स्थापित किया जाएगा. इसके बाद, उपग्रह अपने ऑन-बोर्ड प्रपल्शन प्रणाली का इस्तेमाल करके भूस्थिर कक्षा में पहुंचना था.
अर्थ ऑब्ज़र्वेशन सैटेलाइट (ईओएस) की मुख्य विशेषता यह है कि, यह चिन्हित किये गए किसी बड़े क्षेत्र क्षेत्र की वास्तविक समय की छवियां लगातार अंतराल पर भेजता रहेगा. उयह प्राकृतिक आपदाओं, प्रासंगिक घटनाओं के साथ-साथ किसी भी तरह की अल्पकालिक घटनाओं की त्वरित निगरानी में मदद करने का काम करता
इसके माध्यम से प्राकृतिक आपदाओं की त्वरित निगरानी करने के साथ कृषि, वनीकरण, जल संसाधनों तथा आपदा चेतावनी प्रदान करना, चक्रवात की निगरानी करना, बादल फटने आदि के बारे में जानकारी प्राप्त होनी थी.
इस प्रक्षेपण से पहले केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा, जहां तक अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का संबंध है, जीवन के हर क्षेत्र में अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के विविध अनुप्रयोगों को आज दुनिया भर में स्वीकार किया जा रहा है. अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी में हमारे निष्कर्ष तथा अनुभव दुनिया के कुछ प्रमुख अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी संस्थानों द्वारा साझा किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि जब से श्री नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री के रूप में पदभार संभाला है, हर मंत्रालय और हर ढांचागत विकास प्रक्रिया में भारत की स्वदेशी तकनीकों को लागू करने का निरंतर प्रयास किया गया है.

यह भी पढ़ें -  आर्थर रोड जेल में बंद बेटे आर्यन खान से मिलने पहुंचे शाहरुख खान

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo - 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल - [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,109FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी की फ्लाइट में कुछ इस प्रकार हुई मुलाकात

0
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव, यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी की आज एक फ्लाइट में अचानक मुलाकात हुई....

सीएम धामी ने की अपने एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री ने राज्य में अक्तूबर...

…तो इस कारण नरसिम्हा राव सरकार नहीं लाई नेताजी की अस्थियां, हुआ बड़ा खुलासा

0
पीवी नरसिम्हा राव सरकार 1990 के दशक में जापान से नेताजी सुभाष चंद्र बोस की अस्थियां भारत लाने के करीब पहुंच गई थी,...

Covid19: बीते 24 घंटे में उत्तराखंड में मिले  12 नए मामले, एक भी मरीज...

0
उत्तराखंड में अब कोरोना संक्रमण काबू में आ गया है. बीते 24 घंटे में प्रदेश में 12 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत...

लौटे गृह राज्य: आलाकमान ने सुनी फरियाद, पंजाब प्रभारी पद से हरीश रावत मुक्त...

0
पंजाब की सियासत में पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बीच घमासान में फंसे पूर्व मुख्यमंत्री...

टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच रद्द टेस्ट मैच का आया नया शेड्यूल, जानें...

0
टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच रद्द हुए सीरीज के 5वें टेस्ट मैच (IND vs ENG) को अगले साल जुलाई महीने के लिए शेड्यूल...

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की चुनावी प्रतिज्ञा के अनुसार कल से शुरू होगी यूपी...

0
यूपी विधानसभा चुनाव लिए कांग्रेस पार्टी प्रदेश भर में 23 अक्तूबर से प्रतिज्ञा यात्रा निकालेगी. इसके लिए सभी तैयारिया पूरी हो चुकी है. पूरे...

सत्यपाल मलिक ने किया बड़ा खुलासा: “अंबानी से जुड़ी फाइल पास करने के लिए...

0
जम्मू-कश्मीर के पूर्व गवर्नर एवं मौजूदा मेघालय के उप राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक बड़ा खुलासा किया है. सत्यपाल मलिक नें दावा किया है...

बिगड़ा बजट: फिलहाल राहत नहीं, अभी पेट्रोल-डीजल के दामों में और हो सकती है...

0
यह भी कहा जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव 90 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकता है. ऐसे में...

देहरादून: डिफेन्स कॉलोनी में हुआ अनोखी रामलीला का मंचन, बच्चों ने निभाए सभी पात्र

0
उत्तराखंड में बुराई खत्म करने का प्रतीकात्मक पर्व विजय दशमी पर्व धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया गया. राजधानी दून के कई जगहों में दशहरे मेले...