अगर धीमी रही वैक्सीनेशन की रफ्तार तो सितंबर-अक्टूबर में कोविड की तीसरी लहर की चेतावनी, प्रति दिन आ सकते है छह लाख मामले

केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत आने वाले एक संस्थान की ओर से गठित एक विशेषज्ञ समिति ने आशंका जताई है कि देश में सितंबर और अक्टूबर के बीच कभी भी कोविड-19 की तीसरी लहर आ सकती है. रिपोर्ट में टीकाकरण की रफ्तार को और तेज़ करने का सुझाव दिया है.

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन की ओर से गठित विशेषज्ञ समिति ने यह भी कहा है कि बच्चों को वयस्कों के समान जोखिम होगा क्योंकि बड़ी संख्या में बच्चों के संक्रमित होने की स्थिति में बाल चिकित्सा अस्पताल, डॉक्टर और उपकरण जैसे वेंटिलेटर, एम्बुलेंस आदि की उपलब्धता मांग के अनुरूप नहीं हो सकती है .

प्रधानमंत्री कार्यालय को सौंपी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में सिर्फ 7.6 फीसदी (10.4 करोड़) लोगों का ही पूर्ण टीकाकरण किया गया है और अगर वर्तमान टीकाकरण दर में वृद्धि नहीं की गई तो भारत में महामारी की अगली लहर में प्रति दिन छह लाख मामले आ सकते हैं.

रिपोर्ट कहती है, “प्रमुख विशेषज्ञों ने बार-बार भारत में कोविड-19 की आसन्न तीसरी लहर की चेतावनी दी है. महामारी विशेषज्ञों ने आशंका व्यक्त की है कि जब तक हममें टीकाकरण या संक्रमण के जरिए व्यापक रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित नहीं हो जाती, तब तक मामले बढ़ते रहेंगे.”

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में पीएम मोदी की चुनावी रैली: चार दिसंबर को दून के बाद 24 को कुमाऊं में होगी रैली

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन(NIDM) की रिपोर्ट में आईआईटी कानपुर के विशेषज्ञों के अनुमान का हवाला दिया गया है जो तीसरी लहर को लेकर तीन संभावित परिदृश्यों का सुझाव देता है. उसने कहा कि पहले परिदृश्य में, तीसरी लहर अक्टूबर में चरम पर पहुंच सकती है और रोज़ाना 3.2 लाख मामले आ सकते हैं. दूसरे परिदृश्य में, वायरस का नया और अधिक संक्रामक स्वरूप सामने आ सकता है और तीसरी लहर सितंबर में चरम स्थित पर पहुंच सकती है तथा प्रतिदिन पांच लाख मामले आने का अंदेशा है.

विशेषज्ञों ने तीसरे परिदृश्य में आशंका व्यक्त की है कि तीसरी लहर की चरम स्थिति अक्टूबर के अंत में आएगी और रोज़ दो लाख मामले आ सकते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, उसने प्रस्तावित किया था कि अगर 67 फीसदी आबादी में वायरस के खिलाफ रोग प्रतिरोधक क्षमता (कुछ में वायरस के जरिए और शेष में टीकाकरण के जरिए) विकसित हो जाती है तो बड़े पैमाने पर रोग प्रतिरोधक क्षमता को हासिल करने के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि इन व्यापक आशंकाओं का समर्थन करने के लिए पर्याप्त आंकड़े नहीं हैं कि महामारी की तीसरी लहर में बच्चे अधिक गंभीर रूप से प्रभावित होंगे. उसमें कहा गया है कि बच्चों के लिए बड़ी चुनौती हो सकती है, क्योंकि भारत में अब तक (अगस्त के पहले हफ्ते) बच्चों के लिए किसी टीके को मंजूरी नहीं दी गई है.

यह भी पढ़ें -  सोशल मीडिया पर छाया: टीजर के बाद '83' का ट्रेलर भी रिलीज, साल 1983 के वर्ल्ड कप की याद दिलाएगी फिल्म

व्यापक तौर पर बच्चों में कोरोना वायरस के संक्रमण का लक्षण दिखायी नहीं दिया या मामूली लक्षण दिखें हैं लेकिन यह उन बच्चों के लिए चिंता का सबब बन सकता है जिन्हें कोई बीमारी है या उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमज़ोर है. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक, कोविड-19 के कारण अस्पताल में भर्ती कराए गए कुल बच्चों में 60-70 फीसदी को पहले से कोई बीमारी थी या उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर थी. मंत्रालय के कोविड टीकाकरण डैशबोर्ड के मुताबिक, दो अगस्त 2021 तक 47 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड रोधी टीके की कम से कम एक खुराक लगा दी गई है.

उसने कहा कि सार्स कोव-2 के नए और अधिक संक्रामक स्वरूप सामने आने के बाद यह जटिल हो गया है, क्योंकि वायरस के इन स्वरूपों में पहले हुए संक्रमण से बनी रोग प्रतिरोधक क्षमता से बचने की क्षमता है, साथ में कुछ मामलों में यह मौजूदा टीकों से भी बच सकते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, इस वजह से 80-90 प्रतिशत आबादी में रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित होने पर ही बड़े पैमाने पर रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने का लक्ष्य हासिल किया सकता है.

यह भी पढ़ें -  देहरादून: मत्स्य पालन कर आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम, प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की दी गई जानकारी

रिपोर्ट में कहा गया है कि इन व्यापक आशंकाओं का समर्थन करने के लिए पर्याप्त आंकड़े नहीं हैं कि महामारी की तीसरी लहर में बच्चे अधिक गंभीर रूप से प्रभावित होंगे. उसमें कहा गया है कि बच्चों के लिए बड़ी चुनौती हो सकती है, क्योंकि भारत में अब तक (अगस्त के पहले हफ्ते) बच्चों के लिए किसी टीके को मंजूरी नहीं दी गई है.

व्यापक तौर पर बच्चों में कोरोना वायरस के संक्रमण का लक्षण दिखायी नहीं दिया या मामूली लक्षण दिखें हैं लेकिन यह उन बच्चों के लिए चिंता का सबब बन सकता है जिन्हें कोई बीमारी है या उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमज़ोर है.

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक, कोविड-19 के कारण अस्पताल में भर्ती कराए गए कुल बच्चों में 60-70 फीसदी को पहले से कोई बीमारी थी या उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर थी. मंत्रालय के कोविड टीकाकरण डैशबोर्ड के मुताबिक, दो अगस्त 2021 तक 47 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड रोधी टीके की कम से कम एक खुराक लगा दी गई है.

साभार -न्यूज 18

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,155FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

राशिफल 01-12-2021: जानिए कैसा रहेगा सभी राशियों का महीने का पहला बुधवार

0
मेष: सोच सकारात्मक रखें. भविष्य को बेहतर बनाने की योजना बनाएं. परिवार वालों को मदद मिलेगी. वृष: आज का दिन सामान्य रहेगा. सेहत को...

1 दिसम्बर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो अगर आज के दिन यानी 1 दिसम्बर 2021 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

सिक्किम में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 5.4 मापी गई...

0
पूर्वोत्तर राज्य सिक्कम में मंगलवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 5.4 मापी गई है. भूकंप का...

IPL 2022 Players Retention: 8 टीमों ने किन खिलाड़‍ियों को किया रिटेन! फ्रेंचाइजी के...

0
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 का क्रेज अभी से फैंस के सिर-चढ़कर बोल रहा है. आज 8 टीमें घोषणा करेंगी कि वह किन खिलाड़‍ियों...

Covid19: उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले 28 नए कोरोना संक्रमित, एक भी मरीज...

0
उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 28 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. 19 मरीजों को ठीक होने के...
Uttarakhand News

उत्तराखंड सरकार ने ओमिक्रॉन को देखते हुए जारी की नई गाइडलाइंस

0
देहरादून| कोरोना का डर कुछ समय पहले तक लोगों के जेहन से निकल गया था. लेकिन नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते संक्रमण के बाद...

बिहार विधान भवन परिसर में शराब की खाली बोतलें मिलने के बाद नीतीश सरकार...

0
बिहार में शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन विधान भवन परिसर में शराब की खाली बोतलें मिलने के बाद राज्य की सियासत गरमा गई है....

कांग्रेस मुक्त विपक्ष! क्या आप और टीएमसी ने बदल दिया देश सबसे पुरानी पार्टी...

0
राज्य सभा के 12 सांसदों के निलंबन को लेकर कांग्रेस ने जो पत्र जारी किया है, वह पार्टी के अंदर के असमंजस को...

सुप्रीम कोर्ट की अहम घोषणा: 18 जनवरी 2022 को होगी विजय माल्या मामले की...

0
भगोड़े व्यवसायी विजय माल्या के खिलाफ अवमानना के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को अहम घोषणा की. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि "जिस मामले में भगोड़े...

पाकिस्‍तान ने पहले टेस्‍ट में बांग्‍लादेश को 9 विकेट से हराया, दो मैचों की...

0
चटगांव|.... सलामी बल्लेबाज आबिद अली लगातार दूसरा शतक नौ रन से चूक गए लेकिन पाकिस्तान ने 202 रन के लक्ष्य का आसानी से पीछा...