सोशल मीडिया पर छाए: अफगानिस्तान के पूर्व आईटी मिनिस्टर सादात को जर्मनी में मिला पिज्जा डिलीवरी का काम

पिछले कुछ दिनों से अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे की खबर पूरे दुनिया भर में छाई हुई है. इसके साथ सोशल मीडिया पर अफगानिस्तान में हर रोज होने वाली नई-नई घटनाओं के फोटो और वीडियो खूब देखे जा रहे हैं. भारत समेत दुनिया के कई देश अपने नागरिकों को निकालने के लिए काबुल हवाई अड्डे पर अपने विमानों से स्वदेश लाने में लगे हुए हैं. आज हम बात करेंगे अफगानिस्तान के ‘पूर्व आईटी मिनिस्टर की’.

बात को आगे बढ़ाने से पहले यह भी जान लेते हैं कि ‘कोई काम छोटा-बड़ा नहीं होता है’. भले ही हमारे देश में छोटे काम करने वालों को अच्छी नजरों से नहीं देखा जाता लेकिन यूएस और यूरोप के देशों में सभी काम समान होते हैं. अब बात को आगे बढ़ाते हैं.

‘कुछ महीनों पहले तक अफगनिस्तान में राष्ट्रपति अशरफ गनी की सरकार में आईटी मंत्री रहे सैयद अहमद शाह सादात पिछले कुछ दिनों से अपने काम को लेकर दुनिया में सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं, पूर्व आईटी मंत्री सादात जर्मनी में इन दिनों एक पिज्जा बनाने वाली कंपनी के लिए साइकिल से घर-घर ‘डिलीवरी ब्वॉय’ की नौकरी कर रहे हैं’.

यह भी पढ़ें -  पर्यटन दिवस विशेष: देश की खूबसूरत वादियां और धार्मिक स्थल दुनिया के सैलानियों के बने आकर्षण का केंद्र

पिछले वर्ष तक ‘शान-ओ-शौकत’ की जिंदगी जीने वाले सादात इस काम में भी खुश हैं. उनके पास टेक्निकल के क्षेत्र में उच्च डिग्री भी है. सादात ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से कम्युनिकेशन में मास्टर डिग्री ली है, साथ ही वो इलेक्ट्रिकल इंजीनियर भी हैं. सैयद अहमद शाह ने दुनिया भर के 13 बड़े शहरों में 20 वर्षों तक बड़ी-बड़ी कंपनियों में काम भी किया है.

यह भी पढ़ें -  केंद्र सरकार सरकारी कर्मचारियों को इसी हफ्ते देगी डबल खुशखबरी, जानें कितना बढ़कर आएगा वेतन

पिछले साल तक जब वे अशरफ गनी सरकार में आईटी मिनिस्टर थे तब उन्हें देश में कम्युनिकेशन के क्षेत्र में अच्छे काम करने के लिए सराहा गया था. हालांकि वे अफगानिस्तान में मंत्री के तौर वे करीब दो साल तक ही रह सके.

अशरफ गनी से मनमुटाव के चलते सादात ने अपना वतन अफगानिस्तान छोड़ दिया था
यहां हम आपको बता दें कि सैयद अहमद शाह सादात को अफगानिस्तान में तत्कालीन राष्ट्रपति अशरफ गनी की सरकार में साल 2018 में आईटी और कम्युनिकेशन मिनिस्टर बनाया गया . नवंबर 2020 में अशरफ गनी के ‘मतभेदों’ के चलते सादात ने ‘इस्तीफा’ दे दिया था.

यह भी पढ़ें -  राकेश टिकैत की तालिबान से तुलना कर बोले भानु प्रताप, ‘भारत बंद’ से किसी का भला कैसे

जिसके बाद वे अपने परिवार के साथ जर्मनी में बस गए थे. ‌जर्मनी आकर सादात में कई जगह नौकरी तलाश की लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली. ‘इस देश में सबसे बड़ी समस्या उनकी भाषा की रही. उन्हें जर्मन भाषा न आने की वजह से यहां बड़ी कंपनियों में काम नहीं मिल सका’.

अब वह जर्मनी के लीपजिग शहर में डिलीवरी ब्वॉय का काम कर रहे हैं. ‘सैयद अहमद शाह सादात ने बताया कि शुरुआत में मुझे इस शहर में रहने के लिए कोई काम नहीं मिल रहा था क्योंकि मुझे जर्मन भाषा नहीं आती है, पिज्जा डिलीवर का काम फिलहाल मैं सिर्फ जर्मन भाषा सीखने के लिए भी कर रहा हूं’. सादात ने कहा कि वह जर्मनी में खुश हैं और सुरक्षित महसूस कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें -  केंद्र सरकार सरकारी कर्मचारियों को इसी हफ्ते देगी डबल खुशखबरी, जानें कितना बढ़कर आएगा वेतन

यहां वे अपने परिवार के साथ ‘सादा जीवन’ बीता रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह एक जर्मन कोर्स करना चाहते हैं और आगे पढ़ना चाहते हैं. उन्होंने बताया कि उन्होंने कई नौकरियों के लिए आवेदन किया है, लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया है.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड मौसम अपडेट: प्रदेश के पर्वतीय इलाकों में अगले 24 घंटे में भारी बारिश के आसार

वे भविष्य में जर्मन टेलीकॉम कंपनी में काम करना चाहते हैं. ‘फिलहाल अच्छा हुआ सादात मौजूदा समय में जर्मनी में रहकर पिज्जा डिलीवरी का काम कर रहे हैं क्योंकि उनके मुल्क तालिबान के कब्जे के बाद दहशत के मारे लोग देश छोड़कर भाग रहे हैं, बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी सहित कई बड़े नेता अफगानिस्तान छोड़कर अलग-अलग देशों में शरण ले चुके हैं’.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,067FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--

Latest Articles

IPL 2021-KKR Vs DC: कोलकाता ने तोड़ा दिल्‍ली का विजयी रथ, 3 विकेट...

शारजाह|.... नितिश राणा (36*) की उम्‍दा पारी की बदौलत कोलकाता नाइटराइडर्स ने सोमवार को आईपीएल 2021 के 41वें मैच में दिल्‍ली कैपिटल्‍स को...

धामी सरकार ने प्रदेश के लोक निर्माण विभाग में कई इंजीनियरों के किए ट्रांसफर,...

विधानसभा चुनाव से पहले उत्तराखंड में तकरीबन हर एक विभाग में ट्रांसफर का दौर जारी है. मंगलवार को उत्तराखंड शासन ने प्रदेश के लोक...

कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवानी कांग्रेस में शामिल, बताया क्यों ज्वाइन की पार्टी

मंगलवार को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी कांग्रेस में शामिल...

उत्तराखंड: बाड़ाहोती में चीनी घुसपैठ की कोशिश! सीएम धामी ने कहा...

देहरादून| चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी द्वारा उत्तराखंड के बाड़ाहोती इलाके में पिछले महीने घुसपैठ की कोशिश की खबरों के बाद हंगामा बरपा है....

देहरादून: सीएम धामी ने किया मेगा स्वरोजगार शिविर का शुभारम्भ

सीएम धामी ने सर्वे चौक स्थित महिला आई.टी.आई. परिसर में मेगा स्वरोजगार शिविर का शुभारम्भ किया. उन्होंने विभिन्न विभागों द्वारा चलाई जा रही स्वरोजगार...

चीन के डबल इंजन वाले CH-6 ड्रोन से भारत की चिंता बड़ी, निशाने पर...

चीन ने झुहाई इंटरनेशनल एयर शो के शुरू होने से पहले ही दुनिया को अपने डबल इंजन वाले सैन्‍य ड्रोन की पहली झलक दिखाई है....

महंत नरेंद्र गिरि मौत की गुत्थी सुलझाने में जुटी सीबीआई, तीनों आरोपियों को लिया...

सीबीआई ने महंत नरेंद्र गिरि मौत मामले में अपनी जांच तेज कर दी है, सीबीआई की टीम प्रयागराज भारी सुरक्षा के बीच नैनी सेंट्रल...

नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष से दिया इस्तीफा

नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष से इस्तीफा दे दिया है. सिद्धू ने सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया है. सिद्धू ने...

पंजाब: नवजोत सिंह सिद्धू ने दिया कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा, जानिए वजह

पिछले कई दिनों से पंजाब में राजनीतिक बवाल चल रहा है. आज कांग्रेस पार्टी को एक बड़ा झटका लगा है. पंजाब कांग्रेस के...

विशेष: नाराज अमरिंदर आरपार के मूड में, अपमान का बदला लेने के लिए कर...

पंजाब की सियासत में एक बार फिर से हलचल है. राज्य में चंद महीनों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दल...