सोशल मीडिया पर छाए: अफगानिस्तान के पूर्व आईटी मिनिस्टर सादात को जर्मनी में मिला पिज्जा डिलीवरी का काम

पिछले कुछ दिनों से अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे की खबर पूरे दुनिया भर में छाई हुई है. इसके साथ सोशल मीडिया पर अफगानिस्तान में हर रोज होने वाली नई-नई घटनाओं के फोटो और वीडियो खूब देखे जा रहे हैं. भारत समेत दुनिया के कई देश अपने नागरिकों को निकालने के लिए काबुल हवाई अड्डे पर अपने विमानों से स्वदेश लाने में लगे हुए हैं. आज हम बात करेंगे अफगानिस्तान के ‘पूर्व आईटी मिनिस्टर की’.

बात को आगे बढ़ाने से पहले यह भी जान लेते हैं कि ‘कोई काम छोटा-बड़ा नहीं होता है’. भले ही हमारे देश में छोटे काम करने वालों को अच्छी नजरों से नहीं देखा जाता लेकिन यूएस और यूरोप के देशों में सभी काम समान होते हैं. अब बात को आगे बढ़ाते हैं.

‘कुछ महीनों पहले तक अफगनिस्तान में राष्ट्रपति अशरफ गनी की सरकार में आईटी मंत्री रहे सैयद अहमद शाह सादात पिछले कुछ दिनों से अपने काम को लेकर दुनिया में सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं, पूर्व आईटी मंत्री सादात जर्मनी में इन दिनों एक पिज्जा बनाने वाली कंपनी के लिए साइकिल से घर-घर ‘डिलीवरी ब्वॉय’ की नौकरी कर रहे हैं’.

यह भी पढ़ें -  राशिफल 19-01-2022: आज भाग्य देगा इस राशि का साथ, इन्हें होगी आकस्मिक धन की प्राप्ति

पिछले वर्ष तक ‘शान-ओ-शौकत’ की जिंदगी जीने वाले सादात इस काम में भी खुश हैं. उनके पास टेक्निकल के क्षेत्र में उच्च डिग्री भी है. सादात ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से कम्युनिकेशन में मास्टर डिग्री ली है, साथ ही वो इलेक्ट्रिकल इंजीनियर भी हैं. सैयद अहमद शाह ने दुनिया भर के 13 बड़े शहरों में 20 वर्षों तक बड़ी-बड़ी कंपनियों में काम भी किया है.

पिछले साल तक जब वे अशरफ गनी सरकार में आईटी मिनिस्टर थे तब उन्हें देश में कम्युनिकेशन के क्षेत्र में अच्छे काम करने के लिए सराहा गया था. हालांकि वे अफगानिस्तान में मंत्री के तौर वे करीब दो साल तक ही रह सके.

अशरफ गनी से मनमुटाव के चलते सादात ने अपना वतन अफगानिस्तान छोड़ दिया था
यहां हम आपको बता दें कि सैयद अहमद शाह सादात को अफगानिस्तान में तत्कालीन राष्ट्रपति अशरफ गनी की सरकार में साल 2018 में आईटी और कम्युनिकेशन मिनिस्टर बनाया गया . नवंबर 2020 में अशरफ गनी के ‘मतभेदों’ के चलते सादात ने ‘इस्तीफा’ दे दिया था.

यह भी पढ़ें -  नीट यूजी काउंसलिंग 19 जनवरी से, जान लें शेड्यूल, रजिस्ट्रेशन प्रॉसेस और नए नियम

जिसके बाद वे अपने परिवार के साथ जर्मनी में बस गए थे. ‌जर्मनी आकर सादात में कई जगह नौकरी तलाश की लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली. ‘इस देश में सबसे बड़ी समस्या उनकी भाषा की रही. उन्हें जर्मन भाषा न आने की वजह से यहां बड़ी कंपनियों में काम नहीं मिल सका’.

अब वह जर्मनी के लीपजिग शहर में डिलीवरी ब्वॉय का काम कर रहे हैं. ‘सैयद अहमद शाह सादात ने बताया कि शुरुआत में मुझे इस शहर में रहने के लिए कोई काम नहीं मिल रहा था क्योंकि मुझे जर्मन भाषा नहीं आती है, पिज्जा डिलीवर का काम फिलहाल मैं सिर्फ जर्मन भाषा सीखने के लिए भी कर रहा हूं’. सादात ने कहा कि वह जर्मनी में खुश हैं और सुरक्षित महसूस कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें -  यूपी चुनाव 2022: बीजेपी का गठबंधन फाइनल, अपना दल और निषाद पार्टी के साथ लड़ेगी चुनाव

यहां वे अपने परिवार के साथ ‘सादा जीवन’ बीता रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह एक जर्मन कोर्स करना चाहते हैं और आगे पढ़ना चाहते हैं. उन्होंने बताया कि उन्होंने कई नौकरियों के लिए आवेदन किया है, लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया है.

वे भविष्य में जर्मन टेलीकॉम कंपनी में काम करना चाहते हैं. ‘फिलहाल अच्छा हुआ सादात मौजूदा समय में जर्मनी में रहकर पिज्जा डिलीवरी का काम कर रहे हैं क्योंकि उनके मुल्क तालिबान के कब्जे के बाद दहशत के मारे लोग देश छोड़कर भाग रहे हैं, बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी सहित कई बड़े नेता अफगानिस्तान छोड़कर अलग-अलग देशों में शरण ले चुके हैं’.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,183FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

राशिफल 20-01-2022: कैसा रहेगा आप का आज का दिन, जानिए

0
मेष:- आज का दिन मिला-जुला रहेगा. कठिन परिश्रम से कार्यों में सफलता मिलेगी. जिससे मन में उत्साह रहेगा. मित्रों से मुलाकात अच्छी रहेगी. वृषभ:- आज...

20 जनवरी 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 20 जनवरी 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

हरिद्वार नगर निगम के 33 कर्मचारी निकले कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

0
देश के साथ कुछ दिनों से उत्तराखंड में भी कोरोना के संक्रमित मरीज हर रोज तेजी के साथ बढ़ रहे हैं. हर रोज 4000...

Ind Vs SA: अपनी पहली वनडे कप्तानी में राहुल फेल, टीम इंडिया को मिली...

0
बोलैंड पार्क|.... केएल राहुल के टेस्ट क्रिकेट की तरह वनडे कप्तानी की शुरुआत हार के साथ हुई. मेजबान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैच...

यूपी चुनाव 2022: बीजेपी का गठबंधन फाइनल, अपना दल और निषाद पार्टी के साथ...

0
बीजेपी ने बुधवार को 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए अपना गठबंधन फाइनल कर दिया. बीजेपी राज्य में अपना दल और निषाद...

Covid19: उत्तराखंड में मिले 4400 से ज्यादा नए-छह की मौत-एक्टिव केस 22000 से ज्यादा

0
उत्तराखंड में बुधवार को 4402 नए मामले सामने आए हैं. वहीं छह लोगों की मौत भी हुई है. पिछले 24 घंटे में 1956 मरीज...

भारतीय महिला टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने किया संन्यास का ऐलान

0
मेलबर्न|..... ऑस्ट्रेलियन ओपन में भाग ले रही भारतीय महिला टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने संन्यास का ऐलान कर दिया है. सानिया ने कहा है...

सीडीएस जनरल बिपिन रावत के भाई कर्नल विजय रावत बीजेपी में शामिल

0
हेलिकॉप्टर हादसे में जान गंवाने वाले देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत के भाई कर्नल विजय रावत (सेवानिवृत्त) बीजेपी में शामिल हो गये...

यूपी चुनाव के लिए पीएम मोदी-शाह समेत 30 बीजेपी स्टार प्रचारकों की सूची...

0
निर्वाचन आयोग के रैलियों और सभाओं पर फिलहाल 22 जनवरी तक रोक लगा रखी है. इसी को देखते हुए आज भारतीय जनता पार्टी ने...

देहरादून: त्रिवेंद्र सिंह रावत नहीं लड़ना चाहते विधानसभा चुनाव, नड्डा को खत लिख कर...

0
देहरादून| उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है. उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के दिग्गज...
%d bloggers like this: