अमेरिका बोला, गुड-बाय: यूएस सैनिकों ने भरी आखिरी उड़ान, तालिबान जश्न में तो अफगानी नागरिकों के आंखों में ‘आंसू’

अफगानिस्तान में तालिबान अब और मजबूत हो गया है. ‌अभी तक यह कट्टरपंथी अमेरिका के दबाव में थे. लेकिन मंगलवार की सुबह तालिबानों के चेहरों पर ‘मुस्कान’ बिखेर दी. सोमवार आधी रात 12 बजे बीस सालों से मौजूद अमेरिकी सैनिक वतन वापसी के लिए ‘आखिरी उड़ान’ भर रहे थे तो तालिबान जश्न मना रहा था वहीं अफगानी नागरिकों में ‘मायूसी’ छाई हुई थी.

अभी तक इस मुल्क के लाखों लोग अपनी सुरक्षा के लिए अमेरिका से उम्मीद लगाए हुए थे, लेकिन अब उन्हें इस बात की चिंता सता रही है कि तालिबान के जुल्मों से उन्हें कौन बचाएगा? बता दें कि ‘तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद काबुल एयरपोर्ट पर तैनात अमेरिकी सैनिक अफगानी नागरिकों के साथ महिलाओं और बच्चों की मदद करने में लगे हुए थे’.

यही नहीं सैनिकों ने छोटे-छोटे बच्चों की खूब सहायता की, चाहे खाने-पीने का सामान हो या आर्थिक मदद करने में भी पीछे नहीं रहे, ‘काबुल हवाई अड्डे पर गरीब और बेसहारा बच्चों के साथ खेलते, उन्हें बोतल से पानी पिलाते हुए फोटो विश्व भर में वायरल हुई तो अमेरिकी सैनिकों की जमकर प्रशंसा भी की गई’ . मालूम हो कि पिछले दो दशक से यूएस सैनिक इस मुल्क में तैनात थे.

यह भी पढ़ें -  जम्मू-कश्मीर: सुरक्षा बलों और पुलिस में मुठभेड़, एक वांछित आतंकी ढेर

जिसकी वजह से यहां हर वर्ग के लोगों से उनका लगाव हो गया था. ‘सैनिकों के अमेरिका वापसी पर लाखों लोगों के आंख में आंसू थे’. वहीं तालिबान का खुशी का ठिकाना नहीं रहा और काबुल एयरपोर्ट के पास इन कट्टरपंथियों के लड़ाकों ने बहुत देर तक सड़कों पर जश्न मनाते हुए फायरिंग शुरू कर दी. अब इन कट्टरपंथियों के ऊपर अमेरिकी सैनिकों का जो थोड़ा बहुत दबाव था वह भी अब हट गया है.

यह भी पढ़ें -  पीएम मोदी का अमेरिका दौरा: जानिए 5 सीईओ के साथ कैसे रही पीएम मोदी की बैठकें, जानें सबकुछ

इसी के साथ अफगानिस्तान में बीस साल पहले शुरू हुआ अमेरिका का युद्ध भी समाप्त हो गया. पिछले दिनों काबुल एयरपोर्ट पर हुए भीषण बम हमले के बाद 13 अमेरिकी सैनिकों समेत 170 लोगों की मौत हो गई थी. इस घटना के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ‘सख्त’ लहजे में तालिबान को संदेश दिया था. तब माना जा रहा था कि अमेरिकी सैनिक अफगानिस्तान में कुछ समय और रुक सकते हैं.

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी से औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने की भेंट

लेकिन राष्ट्रपति बाइडेन ने तालिबान नेताओं के साथ हुए समझौते को ध्यान में रखते हुए समय से एक दिन पहले ही अमेरिका ने अफगानिस्तान से वापसी कर ली है. समझौते के तहत अमेरिका को 31 अगस्त तक पूरी तरह अफगानिस्तान को छोड़ देना था.

अमेरिका ने अफगानिस्तान से राजनयिक संबंध भी खत्म किए
बता दें कि तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद यूएस सैनिक अमेरिकी और अफगान नागरिकों को वहां से निकालने के लिए ‘मिशन’ में लगे हुए थे. यह मिशन पूरा होते ही अमेरिकी सेनाओं ने इस देश से विदाई ले ली . इसके अलावा अमेरिका ने अफगानिस्तान में अपनी राजनयिक उपस्थिति को भी खत्म कर दिया और वह ‘कतर’ में शिफ्ट हो गया है.

‘सेना वापसी पर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि अब अफगानिस्तान में हमारी 20 साल की सैन्य उपस्थिति समाप्त हो गई है, मैं अपने कमांडरों को अफगानिस्तान में खतरनाक जगहों पर अपनी सेवा के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं’. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि जैसा कि 31 अगस्त काबुल समय की सुबह के समय में निर्धारित किया गया था और इस मिशन में और किसी सैनिक की जान नहीं गई.

यह भी पढ़ें -  CBSE का बड़ा फैसला: कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को नहीं देनी होगी परीक्षा फीस

दूसरी ओर यूएस सैनिकों के अफगानिस्तान छोड़ने के बाद ‘अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि अफगानिस्तान से 1,23,000 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है, इसमें करीब 6,000 अमेरिकी नागरिक शामिल हैं. अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि हमारे देश के इतिहास में यह सबसे कठिन और बड़ा सैन्य, राजनयिक और मानवीय उपक्रम रहा है’.

यह भी पढ़ें -  23 सितम्बर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

दूसरी ओर अमेरिका की वापसी के बाद ‘तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने कहा कि अमेरिकी सैनिकों ने काबुल हवाई अड्डे को छोड़ दिया है, जिसके बाद हमारे देश को पूर्ण स्वतंत्रता मिल गई है’. यहां हम आपको बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने 14 अप्रैल 2021 को एलान किया था कि 11 सितंबर 2021 को 9/11 हमले की 20वीं बरसी तक अफगानिस्तान से अमेरिका और नाटो सेनाएं वापस हो चुकी होंगी. फिलहाल राष्ट्रपति जो बाइडेन के इस फैसले के बाद अफगानिस्तान में तालिबान कट्टरपंथियों को और बढ़ावा मिल गया है.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,060FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--

Latest Articles

उत्तराखंड : अगले माह संभव है पीएम मोदी के केदारनाथ धाम का दौरा

उत्तराखंड में 10 अक्टूबर से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ धाम का दौरा कर सकते हैं. अपने उत्तराखंड दौरे के दौरान प्रधानमंत्री प्रदेश के...

यमन में ‘नरक के गड्ढे’ में पहली बार उतरे वैज्ञानिक, खुल गया ‘भूत-पिशाचों’ का...

यमन (Yemen) के रेगिस्तान के बीच एक ऐसा 'कुआं' है, जो लंबे वक्त से रहस्यमयी बना हुआ है. यमन के बरहूत में स्थित इस...

औवैसी ने अपने आधिकारिक आवास पर तोड़फोड़ मामले में लोकसभा अध्यक्ष को ...

शुक्रवार को एआईएमआईएम चीफ और सांसद असदुद्दीन औवैसी ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला में अपने आधिकारिक आवास पर तोड़फोड़ के मामले में...

सोनू सूद जल्द ले सकते है आप की सदस्यता

लंबे समय से चली आ रही बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद के आम आदमी पार्टी में शामिल होने की खबरों पर जल्दी विराम लग...

IPL 2021: आरसीबी और सीएसके का दमदार मुकाबला आज

आईपीएल 2021 के 35वें मैच में विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और एमएस धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स की टीमों के बीच दमदार...

मोदी-हैरिस की मुलाक़ात: हैरिस ने पाक को माना आतंकियों का ठिकाना

अमेरिका के तीन दिवसीय दौरे में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब तक कई लोगो से मिल चुके हैं. इसी दौरान उन्होंने गुरुवार को अमेरिकी...

Covid19: देश फिर कोरोना के मामले 30,000 के पार, 318 मरीजों की मौत

देश में बीते 24 घंटों में कोविड-19 संक्रमण के 31 हजार 382 नए मामले मिले हैं. इस दौरान 318 मरीजों की मौत हुई. फिलहाल,...

महंत नरेंद्र गिरि मौत मामले में सीबीआई तलाश रही है इन 12 सवालों के...

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मृत्यु के मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की यूपी सरकार की...

उत्तराखंड में झमाझम बारिश, बदरीनाथ-यमुनोत्री और गंगोत्री हाईवे बंद

गुरुवार को उत्तराखंड में एक बार मौसम का मिजाज बदल गया, जिसके चलते राजधानी देहरादून व आसपास के इलाकों में हुई मूसलाधार बारिश ने...

पीएम मोदी का अमेरिका दौरा: जानिए 5 सीईओ के साथ कैसे रही पीएम मोदी...

पीएम मोदी इन दिनों तीन दिवसीय अमेरिका दौरे पर है. पीएम मोदी ने अपने दौरे के पहले दिन 5 वैश्विक कंपनियों के सीईओ...