फिर चौंकाया: गुजरात में भी भाजपा का ‘सरप्राइज स्टाइल’, दिग्गजों को पीछे छोड़ भूपेंद्र पटेल पर मुहर

गुजरात में भी मुख्यमंत्री के नाम को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर से सभी को ‘चौंका’ दिया. पिछले कुछ वर्षों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का अचानक किसी चेहरे को ‘प्रकट’ कर देना, राजनीति के अच्छे-अच्छे जानकार भी भाजपा की इस ‘नई सियासी नीति’ को समझ नहीं पा रहे हैं.

ये कोई पहला मौका नहीं है इससे पहले भी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर मोदी-शाह ‘सरप्राइज’ दे चुके हैं. गुजरात में भी इसी तरह हुआ.

विजय रुपाणी के मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया, पुरुषोत्तम रुपाला, गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल, सीआर पाटिल और लक्षदीप के प्रशासक प्रफुल पटेल के नाम मुख्यमंत्री की रेस में सबसे अधिक चर्चा में चल रहे थे. लेकिन हाईकमान ने गुजरात में भी सभी अटकलों को पीछे छोड़ दिया.

साल 2017 में पहली बार विधायक चुने गए एक ऐसा साधारण चेहरा भूपेंद्र भाई पटेल को राज्य की ‘कमान’ सौंप दी, जिसके बारे में कोई सोच भी नहीं कर रहा था. ‌पीएम मोदी और अमित शाह ने इस ‘मिशन’ को इतना सीक्रेट रखा कि किसी को ‘हवा’ नहीं लगने दी. ‌सियासी मैदान में चौंकाने वाले नाम को अचानक सामने लाना, मोदी-शाह का ‘स्टाइल’ भी बन गया है.

यह भी पढ़ें -  ‘मुन्ना भाई’ बने अरुणाचल प्रदेश के ब्रांड एम्बेसडर

दोनों नेताओं के बीच कई सियासी फैसले उन्हीं तक सीमित रहते हैं. गुजरात में उम्‍मीद से बिल्‍कुल उलट भाजपा ने भूपेंद्र भाई पटेल के नाम पर मुहर लगाई. इस कदम से फिर पार्टी ने सभी को चौंकाया . न तो भूपेंद्र के नाम की कहीं अटकलें थीं, न उन्‍हें सीएम पद की दौड़ में कहीं दिखाया जा रहा था. लेकिन एनमौके पर भूपेंद्र भाई पटेल ने सभी दिग्गजों और अनुभवी नेताओं को पीछे छोड़ कर बाजी मार ली.

यह भी पढ़ें -  Covid19: देश में मिले कोरोना के 8,309 नए मामले, 236 की मौत

रेस में चलने वाले नेता पीछे रह जाते हैं अचानक कोई आकर संभालता है कुर्सी

जो रेस में आगे रहते हैं वह पीछे रह जाते हैं. और अचानक कोई आकर ‘कुर्सी’ संभाल लेता है. ‌साल 2014 में महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव के बाद देवेंद्र फडणवीस को अचानक मुख्यमंत्री की कुर्सी सौंप दी गई. ‌

2017 में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के बाद कई नामों पर मुख्यमंत्री पद को लेकर अटकलें लग रही थीं लेकिन ऐनमौके पर योगी आदित्यनाथ को राज्य की सत्ता सौंप दी गई . ऐसे ही कई दिग्गजों को पीछे छोड़ते हुए हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर, झारखंड में रघुवर दास, उत्तराखंड में तीरथ सिंह रावत और पुष्कर सिंह धामी को भी अचानक राज्य की कमान सौंप कर चौंकाया था .

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: देहरादून अनाथालय के नाबालिग के साथ हुआ दुष्कर्म, आरोपी भी नाबालिग

बता दें कि भूपेंद्र पटेल पाटीदार समाज से आते हैं. इसके साथ ही भूपेंद्र पटेल आरएसएस से लंबे समय से जुड़े रहे हैं. वे अहमदाबाद अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी के चेयरमैन रहे हैं. पटेल समुदाय में भी इनकी अच्छी पकड़ है.

भूपेंद्र पटेल 2017 में पहली बार अहमदाबाद की घाटलोडिया सीट से विधायक बने, उन्होंने 1 लाख से ज्यादा वोट से जीत दर्ज की थी. 59 वर्षीय भूपेंद्र पटेल ने सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया है. वह कडवा पाटीदार समाज के नेता हैं. साथ ही राज्य की मुख्यमंत्री रह चुकीं और अभी उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के करीबी माने जाते हैं. आनंदीबेन के कहने पर घाटलोडिया विधानसभा सीट पर भूपेंद्र को टिकट मिली थी.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,156FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

अमेरिका: मिशिगन के एक हाई स्कूल में अंधाधुंध गोलीबारी, तीन की मौत कई छात्र...

0
मिशिगन|... अमेरिका के मिशिगन में एक हाईस्कूल में गोलीबारी की घटना में कम से कम तीन छात्रों की मौत हो गई है जबकि कई...

ट्विटर ने की नए नियमों की शुरुआत, बिना सहमति के पर्सनल फोटो और वीडियो...

0
सैन फ्रांसिस्को|.... ट्विटर ने मंगलवार को नए नियमों की शुरुआत कर दी है. जिसमें यूजर्स की फोटो और वीडियो को उनकी सहमति के बिना...

राशिफल 01-12-2021: जानिए कैसा रहेगा सभी राशियों का महीने का पहला बुधवार

0
मेष: सोच सकारात्मक रखें. भविष्य को बेहतर बनाने की योजना बनाएं. परिवार वालों को मदद मिलेगी. वृष: आज का दिन सामान्य रहेगा. सेहत को...

1 दिसम्बर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो अगर आज के दिन यानी 1 दिसम्बर 2021 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

सिक्किम में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 5.4 मापी गई...

0
पूर्वोत्तर राज्य सिक्कम में मंगलवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 5.4 मापी गई है. भूकंप का...

IPL 2022 Players Retention: 8 टीमों ने किन खिलाड़‍ियों को किया रिटेन! फ्रेंचाइजी के...

0
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 का क्रेज अभी से फैंस के सिर-चढ़कर बोल रहा है. आज 8 टीमें घोषणा करेंगी कि वह किन खिलाड़‍ियों...

Covid19: उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले 28 नए कोरोना संक्रमित, एक भी मरीज...

0
उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 28 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. 19 मरीजों को ठीक होने के...
Uttarakhand News

उत्तराखंड सरकार ने ओमिक्रॉन को देखते हुए जारी की नई गाइडलाइंस

0
देहरादून| कोरोना का डर कुछ समय पहले तक लोगों के जेहन से निकल गया था. लेकिन नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते संक्रमण के बाद...

बिहार विधान भवन परिसर में शराब की खाली बोतलें मिलने के बाद नीतीश सरकार...

0
बिहार में शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन विधान भवन परिसर में शराब की खाली बोतलें मिलने के बाद राज्य की सियासत गरमा गई है....

कांग्रेस मुक्त विपक्ष! क्या आप और टीएमसी ने बदल दिया देश सबसे पुरानी पार्टी...

0
राज्य सभा के 12 सांसदों के निलंबन को लेकर कांग्रेस ने जो पत्र जारी किया है, वह पार्टी के अंदर के असमंजस को...