हिंदी दिवस विशेष: जानिये इसका इतिहास, महत्‍व सहित सब कुछ

हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है. देश की राष्‍ट्र भाषा हिंदी के प्रति इस दिन सम्‍मान भाव प्रकट करने के ध्‍येय से कई आयोजन किए जाते हैं. सरकारी व निजी कार्यालयों में इस दिन सारे संवाद हिंदी में किए जाने की कोशिशों के बीच, अभिव्‍यक्ति के तमाम मंचों पर गद्य एवं पद्य में हिंदी की बातें की जाती हैं. लेकिन आपके मन में सवाल उठता होगा कि हिंदी तो एक भाषा है.

इसका कोई एक दिन कैसे हो सकता है. क्‍या इस दिन के पहले हिंदी का अस्तित्‍व नहीं था. ऐसे ही सारे सवालों एवं जिज्ञासाओं का हम यहां समाधान करने जा रहे हैं. जानिये हिंदी दिवस का अर्थ, इसका इतिहास, महत्‍व एवं इस दिन होने वाले आयोजनों के बारे में सब कुछ.

हिन्दी दिवस प्रत्येक वर्ष 14 सितम्बर को मनाया जाता है. 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी. इसी महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष हिन्दी-दिवस के रूप में मनाया जाता है.

यह भी पढ़ें -  क्रिप्टोकरेंसी पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बड़ा बयान, सरकार जल्द ही एक विधेयक करेगी पेश

एक तथ्य यह भी है कि 14 सितम्बर 1949 को हिन्दी के पुरोधा व्यौहार राजेन्द्र सिंहा का 50-वां जन्मदिन था, जिन्होंने हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाने के लिए बहुत लंबा संघर्ष किया. स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद हिन्दी को राष्ट्रभाषा के रूप में स्थापित करवाने के लिए काका कालेलकर, मैथिलीशरण गुप्त, हजारीप्रसाद द्विवेदी, सेठ गोविन्ददास आदि साहित्यकारों को साथ लेकर व्यौहार राजेन्द्र सिंह ने अथक प्रयास किए.

हिन्दी दिवस का इतिहास

वर्ष 1918 में गांधी जी ने हिन्दी साहित्य सम्मेलन में हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने को कहा था. इसे गांधी जी ने जनमानस की भाषा भी कहा था. वर्ष 1949 में स्वतंत्र भारत की राष्ट्रभाषा के प्रश्न पर 14 सितम्बर 1949 को काफी विचार-विमर्श के बाद यह निर्णय लिया गया जो भारतीय संविधान के भाग 17 के अध्याय की अनुच्छेद 343(1) में वर्णित है. इसके अनुसार संघ की राष्ट्रभाषा हिन्दी और लिपि देवनागरी होगी.

यह भी पढ़ें -  अमेरिका: मिशिगन के एक हाई स्कूल में अंधाधुंध गोलीबारी, तीन की मौत कई छात्र जख्मी

14 सितंबर को ही क्‍यों होता है हिंदी दिवस
संघ के राजकीय प्रयोजनों के लिए प्रयोग होने वाले अंकों का रूप अंतर्राष्ट्रीय रूप होगा. यह निर्णय 14 सितम्बर को लिया गया, इसी दिन हिन्दी के मूर्धन्य साहित्यकार व्यौहार राजेन्द्र सिंहा का 50-वां जन्मदिन था, इस कारण हिन्दी दिवस के लिए इस दिन को श्रेष्ठ माना गया था. हालांकि जब राष्ट्रभाषा के रूप में इसे चुना गया और लागू किया गया तो गैर-हिन्दी भाषी राज्य के लोग इसका विरोध करने लगे और अंग्रेज़ी को भी राजभाषा का दर्जा देना पड़ा.

इस दिन होते हैं ये कार्यक्रम
हिन्दी दिवस के दौरान कई कार्यक्रम होते हैं. इस दिन छात्र-छात्राओं को हिन्दी के प्रति सम्मान और दैनिक व्यवहार में हिन्दी के उपयोग करने आदि की शिक्षा दी जाती है. जिसमें हिन्दी निबंध लेखन, वाद-विवाद प्रतियोगिता आदि होती है. हिन्दी दिवस पर हिन्दी के प्रति लोगों को प्रेरित करने हेतु भाषा सम्मान की शुरुआत की गई है. यह सम्मान प्रतिवर्ष देश के ऐसे व्यक्तित्व को दिया जाएगा जिसने जन-जन में हिन्दी भाषा के प्रयोग एवं उत्थान के लिए विशेष योगदान दिया है. इसके लिए सम्मान स्वरूप एक लाख एक हजार रुपये दिये जाते हैं. हिन्दी में निबंध लेखन प्रतियोगिता के द्वारा कई जगह पर हिन्दी भाषा के विकास और विस्तार हेतु कई सुझाव भी प्राप्त किए जाते हैं.

यह भी पढ़ें -  Covid19: उत्तराखंड में मिले 8 नए कोरोना संक्रमित, एक मरीज की मौत

यहां बोली जाती है हिंदी
भारत के साथ ही नेपाल, अमेरिका, मॉरिशस, फिजी, द.अफ्रीका, सूरीनाम, युगांडा सहित दुनिया के कई देश ऐसे हैं जहां पर हिंदी बोली जाती है. नेपाल में करीब 80 लाख हिंदी बोलने वाले रहते हैं. वहीं अमेरिका में हिंदी बोलने वालों की संख्या करीब साढ़े छह लाख है.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,156FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

अमेरिका: मिशिगन के एक हाई स्कूल में अंधाधुंध गोलीबारी, तीन की मौत कई छात्र...

0
मिशिगन|... अमेरिका के मिशिगन में एक हाईस्कूल में गोलीबारी की घटना में कम से कम तीन छात्रों की मौत हो गई है जबकि कई...

ट्विटर ने की नए नियमों की शुरुआत, बिना सहमति के पर्सनल फोटो और वीडियो...

0
सैन फ्रांसिस्को|.... ट्विटर ने मंगलवार को नए नियमों की शुरुआत कर दी है. जिसमें यूजर्स की फोटो और वीडियो को उनकी सहमति के बिना...

राशिफल 01-12-2021: जानिए कैसा रहेगा सभी राशियों का महीने का पहला बुधवार

0
मेष: सोच सकारात्मक रखें. भविष्य को बेहतर बनाने की योजना बनाएं. परिवार वालों को मदद मिलेगी. वृष: आज का दिन सामान्य रहेगा. सेहत को...

1 दिसम्बर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो अगर आज के दिन यानी 1 दिसम्बर 2021 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

सिक्किम में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 5.4 मापी गई...

0
पूर्वोत्तर राज्य सिक्कम में मंगलवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 5.4 मापी गई है. भूकंप का...

IPL 2022 Players Retention: 8 टीमों ने किन खिलाड़‍ियों को किया रिटेन! फ्रेंचाइजी के...

0
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 का क्रेज अभी से फैंस के सिर-चढ़कर बोल रहा है. आज 8 टीमें घोषणा करेंगी कि वह किन खिलाड़‍ियों...

Covid19: उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले 28 नए कोरोना संक्रमित, एक भी मरीज...

0
उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 28 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. 19 मरीजों को ठीक होने के...
Uttarakhand News

उत्तराखंड सरकार ने ओमिक्रॉन को देखते हुए जारी की नई गाइडलाइंस

0
देहरादून| कोरोना का डर कुछ समय पहले तक लोगों के जेहन से निकल गया था. लेकिन नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते संक्रमण के बाद...

बिहार विधान भवन परिसर में शराब की खाली बोतलें मिलने के बाद नीतीश सरकार...

0
बिहार में शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन विधान भवन परिसर में शराब की खाली बोतलें मिलने के बाद राज्य की सियासत गरमा गई है....

कांग्रेस मुक्त विपक्ष! क्या आप और टीएमसी ने बदल दिया देश सबसे पुरानी पार्टी...

0
राज्य सभा के 12 सांसदों के निलंबन को लेकर कांग्रेस ने जो पत्र जारी किया है, वह पार्टी के अंदर के असमंजस को...