हिंदी दिवस पर आइए जानते हैं, राष्ट्रभाषा और राजभाषा में क्या अंतर है

आज हिंदी दिवस पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है. लेकिन आज भी लोगों में राष्ट्रभाषा और राजभाषा को लेकर असमंजस की स्थिति रहती है. कई बार लोग राजभाषा के स्थान पर राष्ट्रभाषा तो राष्ट्र भाषा के स्थान पर राजभाषा का प्रयोग करते हैं.

कई बार परीक्षाओं में भी यह प्रश्न पूछा जाता है. हालांकि दोनों शब्द हमारी हिंदी भाषा से जुड़े हुए हैं. आइए जानते हैं पहले राष्ट्रभाषा को लेकर. ऐसी भाषा जो समस्त राष्ट्र का प्रतिनिधित्व करती हो तथा देश की अधिकांश जनता के द्वारा बोली और समझी जाती हो, ‘राष्ट्रभाषा कहलाती है. एक तरह से देखा जाय तो किसी देश की राजभाषा ही राष्ट्रभाषा होती है. लेकिन यह हमेशा और पूर्ण रूप से सत्य नहीं है.

यह भी पढ़ें -  चन्नी सरकार का कैबिनेट विस्तार आज, जानिए किसको मिलेगी जगह और किन का होगा पत्ता साफ

वास्तव में राष्ट्रभाषा का शाब्दिक अर्थ ही है समस्त राष्ट्र में प्रयुक्त होने वाली भाषा. अतः राष्ट्रभाषा आमजन की भाषा होती है और किसी राष्ट्र के प्रायः अधिकांश या बड़े भूभाग और जनसंख्या के द्वारा बोली और समझी जाती है. एक राष्ट्रभाषा किसी राष्ट्र की बहुसंख्य आबादी की न केवल रोजमर्रा की भाषा होती है बल्कि यह समूचे राष्ट्र में संपर्क भाषा का भी काम करती है.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में शुरू की जाएगी मुख्यमंत्री नारी सशक्तिकरण योजना, सीएम धामी ने की घोषणा
यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में शुरू की जाएगी मुख्यमंत्री नारी सशक्तिकरण योजना, सीएम धामी ने की घोषणा

देश की भाषा की जब भी बात होती है तो अकसर कुछ बाते चर्चा में आ जाती हैं जैसे राजभाषा क्या है, राष्ट्रभाषा किसे कहते हैं ? क्या राजभाषा और राष्ट्र भाषा एक ही चीज है ? यदि नहीं तो राजभाषा और राष्ट्रभाषा में क्या अंतर है ? हिंदी राजभाषा है या राष्ट्रभाषा, यदि राजभाषा है तो हिंदी राष्ट्रभाषा क्यों नहीं है आदि.

दूसरी ओर वास्तव में राजभाषा का शाब्दिक अर्थ ही होता है राजकाज की भाषा. अतः वह भाषा जो देश के राजकीय कार्यों के लिए प्रयोग की जाती है “राजभाषा” कहलाती है. राजभाषा किसी देश या राज्य की मुख्य आधिकारिक भाषा होती है जो समस्त राजकीय तथा प्रशासनिक कार्यों के लिए प्रयुक्त होती है. राजाओं और नवाबों के ज़माने में इसे दरबारी भाषा भी कहा जाता था.

यह भी पढ़ें -  [Video]रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले, योगी का नाम लेते ही अपराधियों का दिल धड़कने लगता है

राजभाषा का एक निश्चित मानक और स्वरुप होता है और इसके साथ छेड़छाड़ नहीं किया जा सकता. राजभाषा एक संवैधानिक शब्द है. राजभाषा किसी राज्य के आम जनमानस की भाषा होती है जिसे राज्य या देश की अधिकांश जनता समझती है और सामान्य बोलचाल में प्रयोग करती है.

Related Articles

यह भी पढ़ें -  भारत का कड़ा संदेश: यूएन में कश्मीर राग और आतंकवाद पर इमरान खान को करारा जवाब देकर छा गईं स्नेहा दुबे

उत्तराखंड मौसम अपडेट: प्रदेश के पर्वतीय इलाकों में अगले 24 घंटे में भारी बारिश के आसार

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo – 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल – [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,065FollowersFollow
474SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--

Latest Articles

उत्तराखंड में शुरू की जाएगी मुख्यमंत्री नारी सशक्तिकरण योजना, सीएम धामी ने की घोषणा

रविवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सुभाष रोड स्थित होटल में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए घोषणा की कि प्रदेश में महिलाओं...

उत्तराखंड मौसम अपडेट: प्रदेश के पर्वतीय इलाकों में अगले 24 घंटे में भारी बारिश...

उत्तराखंड राज्य बारिश के दौर से अभी भी गुजर रहा है. मौसम विज्ञानियों के मुताबिक पर्वतीय इलाकों में अगले 24 घंटे में भारी बारिश...

सीएम धामी ने किया परिवहन क्षेत्र के व्यवसायों, चालक, परिचालक, क्लीनर कोविड राहत पैकेज...

रविवार को सीएम धामी ने सीएम आवास स्थित जनता दर्शन हॉल में कोविड-19 से प्रभावित परिवहन व्यवसायियों (चालक/परिचालक/क्लीनर) को सरकार द्वारा...

महत्वपूर्ण: पीएम मोदी ने की आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत की. इस बात की जानकारी प्रधानमंत्री...

उत्तराखंड: राज्य में भी दिख रहा भारत बंद का असर, रुद्रपुर सहित कई जगह...

तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आज किसानों के भारत बंद को लेकर उत्तराखंड राज्य में भी इसका असर दिख रहा है. सोमवार सुबह से...

वर्ल्ड टूरिज्म डे विशेष: सैर-सपाटा के साथ देश की अर्थव्यवस्था को भी मजबूत करने...

घूमने-फिरने के शौकीनों के लिए आज का दिन किसी 'पर्व' (त्योहार) से कम नहीं है. धार्मिक, पौराणिक, दर्शनीय स्थलों, हरे भरे पहाड़, झरने, वादियां...

कृषि कानून के खिलाफ किसानों का भारत बंद शुरू

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानून के विरोध में किसान संगठनों का भारत बंद अभियान सुबह 6 बजे से शुरू हो गया है....

कोरोना से राहत: बीते 24 घंटों में सामने आए 26 हजार नए मामले

देश में अब कोरोना से राहत के आसार दिख रहे है. बीते दिन देश में कोरोना के 26 हजार नए मामले सामने आए हैं....

राशिफल 27-09-2021: जानिए क्या कहते है आप के आज के सितारे

मेष-: दिन बेहतरीन रहने वाला है. बिजनेस मे बढ़ोत्तरी के लिये आपके दिमाग में जो भी उपाय आयेगा वो कारगर साबित होगा. मान-सम्मान में...

27 सितम्बर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 27 सितम्बर 2021 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...