आसान नहीं होगी सोनिया की अगुवाई में कांग्रेस की राह, सामने है ये चुनौतियां

शनिवार को (16अक्टूबर ) सोनिया गांधी ने हुई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बेहद अहम बैठक में इस बात पर खासा जोर दिया कि पार्टी की “पूर्णकालिक और व्यावहारिक कांग्रेस अध्यक्ष” वही हैं.

दरअसल, उनका यह बयान जी23 के उन नेताओं को एक स्पष्ट संदेश है, जो पार्टी में नेतृत्व की कमी और एक निर्वाचित पार्टी प्रमुख की अनुपस्थिति से संबंधित मुद्दों को बार-बार उठाते रहे हैं.

पार्टी के सर्वोच्च निर्णय लेने वाले निकाय में अपने संबोधन के दौरान सोनिया गांधी ने कहा कि पार्टी का पुनरुद्धार केवल “एकता, आत्म-नियंत्रण, अनुशासन और पार्टी के हितों को सर्वोपरि रखने से” ही हो सकता है.

बैठक में उस समय एक महत्वपूर्ण मोड़ पर आता है जब पार्टी के संगठनात्मक चुनावों को लेकर चर्चा होती है और कहा जाता है कि पार्टी के लिए एक पूर्णकालिक अध्यक्ष का चुनाव किया जाएगा.

हालांकि सोनिया गांधी ने दोहराया कि वह “एक पूर्णकालिक कांग्रेस अध्यक्ष हैं”, लेकिन उनका यह बयान पार्टी के कुछ नेताओं को रास नहीं आया क्योंकि कई लोग इस पुरानी पार्टी के संगठन में पूरी तरह से बदलाव चाहते हैं.

वर्तमान में, सोनिया गांधी को पार्टी के भीतर और बाहर कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है. इनमें ये 5 मुद्दे बेहद खास हैं:

जी-23 और संगठनात्मक चुनाव
अपने बयानों और पत्रों में पिछले विधानसभा चुनावों में खराब प्रदर्शन का हवाला देते हुए ‘जी-23’ की लंबे समय से मांग है कि पार्टी के ढांचे के भीतर एक संरचनात्मक बदलाव हो. जी-23 नेताओं में गुलाम नबी आजाद, शशि थरूर, मनीष तिवारी, कपिल सिब्बल और अन्य शामिल हैं.

यह भी पढ़ें -  शाहिद कपूर की फिल्म 'जर्सी' का नया पोस्टर हुआ रिलीज, पिता के रूप में दिखे अभिनेता

हाल ही में कैप्टन अमरिंदर सिंह को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने पर कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने आपत्ति जताई थी. उन्होंने कहा था, “हमारी पार्टी में इस समय कोई अध्यक्ष नहीं है, इसलिए हम नहीं जानते कि ये निर्णय कौन ले रहा है. हम जानकर भी नहीं जानते हैं.” इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सिब्बल के घर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया था.

तमाम मुद्दों पर चर्चा के लिए जी-23 नेताओं ने बार-बार पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक बुलाने को कहा. पार्टी महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव 21 अगस्त से 20 सितंबर 2022 के बीच होगा. सूत्रों ने न्यूज़18 को बताया कि राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को आश्वासन दिया है कि वह फिर से पद संभालने की उनकी मांग पर विचार करेंगे.

लोकसभा चुनाव 2024
जबकि सोनिया गांधी को पार्टी के भीतर चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है और संगठनात्मक चुनाव भी होने हैं, ऐसे में उनके और पार्टी के लिए सबसे बड़ी चुनौती आगामी लोकसभा चुनाव होंगे. इस अक्टूबर में पीएम मोदी ने बिना ब्रेक के सार्वजनिक कार्यालय में अपने 20 साल पूरे किए. उनकी लोकप्रियता में कमी के कोई संकेत नहीं दिख रहे हैं और उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर और पंजाब में आगामी विधानसभा चुनावों के साथ पार्टी ने तैयारी शुरू कर दी है. अगला लोकसभा चुनाव कांग्रेस के लिए एक कठिन चुनौती होगी क्योंकि वह केंद्र में लगातार दो बार सत्ता से ना सिर्फ बाहर रही, बल्कि कई राज्यों में अपनी पकड़ खो रही है.

यह भी पढ़ें -  120 साल के बाद भी नहीं बदला ब्लेड का डिजाइन, जानें इसके पीछे का कारण

उभरती टीएमसी और अन्य पार्टियां
हालांकि तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सुप्रीमो ममता बनर्जी ने राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी एकता के लिए गांधी परिवार की ओर रुख किया है, लेकिन उन्होंने कांग्रेस को भी किनारे कर रखा है. वास्तव में देखा जाए, तो टीएमसी कांग्रेस द्वारा बनाए गए शून्य को भरने की कोशिश कर रही है. गोवा और मेघालय में तृणूमल के विस्तार को इसी संदर्भ में स्पष्ट तौर पर देखा जा सकता है.

हाल ही में कांग्रेस नेता सुष्मिता देव टीएमसी में शामिल हुईं. गोवा में पार्टी नेताओं और मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा के भी टीएमसी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही हैं. कभी सहयोगी रही टीएमसी अब गोवा में भी चुनाव लड़ेगी, जहां कांग्रेस मुख्य विपक्षी पार्टी थी. दूसरी ओर बंगाल में, जहां कांग्रेस एक मुख्य विपक्षी पार्टी थी, इस साल हुए विधानसभा चुनाव में शून्य पर खिसक गई है. पंजाब में सत्तारूढ़ कांग्रेस को आप से टक्कर मिलने की उम्मीद है जो राज्य में अपनी सीटों की संख्या बढ़ाने की कोशिश करेगी.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में बिगड़ा मौसम का मिजाज, अगले तीन दिन तक बारिश-बर्फबारी के आसार

वंशवाद की राजनीति
कांग्रेस पर लंबे समय से वंशवाद की राजनीति को लेकर भाजपा और अन्य दलों ने निशाना साधा है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपनी मां सोनिया गांधी से पार्टी की कमान संभाली थी. उन्होंने 2019 के आम चुनाव के बाद कांग्रेस की हार की जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. तब से सोनिया गांधी पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष हैं. हालांकि, पार्टी में वंशवाद की राजनीति को लेकर राजनीतिक दल लंबे समय से इस पर हमले कर रहे हैं.

आगामी विधानसभा चुनाव
उत्तर प्रदेश और पंजाब के चुनाव कांग्रेस पार्टी के लिए लिटमस टेस्ट होंगे क्योंकि पार्टी ने इस संबंध में कुछ कदम उठाए हैं. कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी को खड़ा किया है, जिन्होंने हाल ही में लखीमपुर हिंसा मामले में पार्टी का नेतृत्व किया था. प्रियंका गांधी हाथरस सामूहिक बलात्कार आंदोलन के दौरान भी सक्रिय थीं और वह वर्तमान में राज्य में किसानों के समर्थन में रैलियों का भी नेतृत्व कर रही हैं.

कांग्रेस ने पंजाब में विधानसभा चुनाव से पहले अमरिंदर सिंह को सीएम पद से हटाते हुए एक बड़ा बदलाव किया. चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का मुख्यमंत्री बनाने के इस कदम को अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस की योजना के रूप में देखा जा रहा है.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,157FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

3 दिसम्बर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 3 दिसम्बर को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का मुहूर्त...

पन्तनगर: सीएम धामी ने किया राकेट इंडिया प्रा.लि. के विस्तार परियोजना का शुभारम्भ

0
पन्तनगर| गुरूवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने रॉकेट इण्डिया प्रा.लि. की नवीनतम विस्तार परियोजना का शुभांरभ किया. उन्होने कहा कि कम्पनी के विस्तार...

देहरादून: सीएम धामी ने किया परेड ग्राउण्ड का निरीक्षण, पीएम मोदी के कार्यक्रम की...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार सायं को भी परेड ग्राउण्ड का स्थलीय निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया. मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को...

रूद्रपुर: सीएम धामी ने किया राष्ट्रीय सरल मेले का शुभारम्भ,

0
गुरूवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने रूद्रपुर गांधी मैदान में राष्ट्रीय सरस मेला-2021 का शुभारम्भ किया. मेले में आये हुए 147 स्वयं सहायता...

Corona In Uttarakhand: बीते 24 घंटे में मिले 17 नए संक्रमित, एक भी मरीज...

0
उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 17 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. नौ मरीजों को ठीक होने के बाद...

अधीर रंजन चौधरी का सवाल- क्या 4 प्रतिशत पोपुलर वोट के साथ पीएम मोदी...

0
तृणमूल कांग्रेस के यूपीए को लेकर बयान के बाद कांग्रेस और टीएमसी के बीच तकरार बढ़ने लगा है. कांग्रेस के नेताओं ने टीएमसी सुप्रीमो...

चक्रवाती तूफान जवाद के चलते रेलवे ने रद्द की 95 ट्रेनें-दखे लिस्ट

0
भुवनेश्वर| ईस्ट कोस्ट रेलवे ने ओडिशा तट पर चक्रवाती तूफान जवाद की आशंका के मद्देनजर 3 दिनों के लिए 95 ट्रेनों का...

आंवले के ये औषधीय गुण जानकर दंग रह जाएंगे आप

0
आंवला एक बहुत ही साधारण फल है, जो बाजारों में आसानी से मिल जाता है. पुराने समय से ही आंवले का कई तरह से...

नहीं रहे हिट वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ के ‘ललित’ उर्फ ब्रह्मा मिश्रा

0
मुंबई| अमेजन प्राइम वीडियो की हिट वेब सीरीज 'मिर्जापुर' में ललित का किरदार निभाने वाले एक्टर ब्रह्म मिश्रा नहीं रहे. बॉलीवुड अभिनेता दिव्येंदु ने...

प्रशांत किशोर का राहुल गांधी पर कटाक्ष, कहा- कांग्रेस का नेतृत्व किसी व्यक्ति का...

0
राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व किसी व्यक्ति का दैवीय अधिकार नहीं...