शरदोत्सव विशेष: शरद पूर्णिमा की रात चंद्रमा के साथ मां लक्ष्मी और विष्णु की होती है उपासना

यह पर्व मां लक्ष्‍मी को प्रसन्‍न करने के लिए खास माना जाता है. कहते हैं इस रात मां लक्ष्मी भ्रमण पर निकलती हैं. बता दें कि चंद्रमा, माता लक्ष्मी और विष्णु की पूजा का विधान है. शरद पूर्णिमा के दिन ही मां लक्ष्मी का जन्म हुआ था. इस वजह से देश के कई हिस्सों में मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है, जिसे ‘कोजागरी लक्ष्मी पूजा’ के नाम से जाना जाता है.

इस व्रत को कौमुदी व्रत भी कहा जाता है। लक्ष्मी के आठ रूप धनलक्ष्मी, धान्यलक्ष्मी, राज लक्ष्मी, वैभव लक्ष्मी, ऐश्वर्य लक्ष्मी, संतान लक्ष्मी, कमला लक्ष्मी और विजय लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा की जाती है. इस दिन ब्रह्ममुहूर्त में उठकर सभी कामों ने निवृत्त होकर स्नान करें और मंदिर को साफ करें. इसके बाद पूजा के लिए एक साफ चौकी में लाल या पीले रंग का कपड़ा डालकर मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की तस्वीर या मूर्ति रखें.

यह भी पढ़ें -  निलंबित सांसदों के प्रदर्शन के विरोध में भाजपा सांसदों ने निकाला पैदल मार्च

इसके बाद गंगाजल छिड़कें और फूल, माला चढ़ाकर सिंदूर, रोली, अक्षत लगाएं फिर सफेद या पीले रंग का भोग लगाएं। इसके बाद घी का दीपक जलाते हुए कथा पढ़ें.

विवाहित महिलाओं के लिए शरद पूर्णिमा का व्रत रखने से मनोकामनाएं होती है पूरी

कहा जाता है कि शरद पूर्णिमा का व्रत करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. जो विवाहित स्त्रियां इसका व्रत करती हैं उन्हें संतान की प्राप्ति होती है. जो माताएं इस व्रत को रखती हैं उनके बच्चे दीर्घायु होते हैं. नारद पुराण के अनुसार इस दिन रात में मां लक्ष्मी अपने हाथों में वर और अभय लिए घूमती हैं. जो भी उन्हें जागते हुए दिखता है उन्हें वह धन-वैभव का आशीर्वाद देती हैं.

यह भी पढ़ें -  चक्रवाती तूफान जवाद के चलते रेलवे ने रद्द की 95 ट्रेनें-दखे लिस्ट

शरद पूर्णिमा का चमकीला चांद और साफ आसमान मानसून के पूरी तरह चले जाने का प्रतीक है. माना जाता है कि इस दिन चंद्रमा के प्रकाश में औषधिय गुण मौजूद रहते हैं जिनमें कई असाध्य रोगों को दूर करने की शक्ति होती है. साथ ही शरद पूर्णिमा की रात खीर बनाकर उसे आकाश के नीचे रखा जाता है. फिर 12 बजे के बाद उसका प्रसाद ग्रहण किया जाता है. माना जाता है कि इस खीर में अमृत होता है और यह कई रोगों को दूर करने की शक्ति रखती है.

मान्यता है, इस रात कृष्ण की बजाई बांसुरी पर गोपियां खींची चली आईं थी

शरद पूर्णिमा पर भगवान श्रीकृष्ण के मंदिराें गर्भगृह में शरद का खाट सजाया जाता है. खाट पर चौसर और शतरंज की झांकी भी सजाई जाती है. चंद्रमा की शीतल चांदनी में रखी खीर का भोग भी ठाकुरजी को अर्पण किया जाता है.

यह भी पढ़ें -  बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने फिर साधा अपनी सरकार पर निशाना, 'कब तक सब्र करे देश का नौजवान'

श्रीमद्भगवद्गीता के मुताबिक शरद पूर्णिमा के दिन भगवान कृष्ण ने ऐसी बांसुरी बजाई कि उसकी जादुई ध्वनि से सम्मोहित होकर वृंदावन की गोपियां उनकी ओर खिंची चली आईं. ऐसा माना जाता है कि कृष्ण ने उस रात हर गोपी के लिए एक कृष्ण बनाया. पूरी रात कृष्ण गोपियों के साथ नाचते रहे, जिसे ‘महारास’ कहा जाता है.

मान्यता है कि कृष्ण ने अपनी शक्ति के बल पर उस रात को भगवान ब्रह्म की एक रात जितना लंबा कर दिया. ब्रह्मा की एक रात का मतलब मनुष्य की करोड़ों रातों के बराबर होता है.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,159FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

पीएम मोदी की रैली को सफल बनाने के लिए भाजपा नेताओं ने झोंकी पूरी...

0
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देहरादून में चार दिसंबर को होने वाली रैली को भव्य बनाने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है....

मायावती ने भाजपा, सपा, कांग्रेस पर साधा निशाना, चुनावी वादों को लेकर कही ये...

0
बहुजन समाज पार्टी (बसपा) मुखिया मायावती 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर काफी सक्रिय हैं. इसीलिए वह ट्वीटर के माध्यम से समय-समय...

IND vs NZ 2nd Test: अंतिम सत्र शुरू, टीम इंडिया का स्कोर...

0
भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का आज दूसरा और आखिरी मुकाबला है. इस सीरीज का पहला मैच ड्रॉ होने के...

देहरादून: सीएम धामी ने किया डांडी कांठी क्लब की स्मारिका 2021 ‘दृढ़ संकल्प’ का...

0
शुक्रवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास में डांडी कांठी क्लब की स्मारिका 2021 ‘दृढ़ संकल्प’ का विमोचन किया. मुख्यमंत्री ने कहा...

पीएम मोदी का देहरादून दौरा: सीएम धामी ने स्थलीय निरीक्षण कर लिया विभिन्न व्यवस्थाओं...

0
शुक्रवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने परेड ग्राउंड का स्थलीय निरीक्षण कर विभिन्न व्यवस्थाओं का जायजा लिया. 4 दिसम्बर 2021 को परेड ग्राउण्ड, देहरादून...

लाइव रिपोर्ट: पीएम मोदी की देहरादून में रैली कल, खराब मौसम के बाद भी...

0
उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में तीन दिनों से मौसम खराब है. धूप के दर्शन नहीं हुए, बादल छाए हुए हैं. ऊपरी इलाकों पहाड़ पर...

दिल्ली में ‘ओमिक्रॉन’ की दस्तक, मिले 12 संदिग्ध मरीज

0
राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ‘ओमिक्रॉन’ के 12 संदिग्ध मरीज मिले हैं. सभी को लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल...

आंध्र प्रदेश में चक्रवात जवाद का खौफ: सरकार ने दिया दो दिनों तक स्कूल...

0
आंध्र प्रदेश में चक्रवात जवाद के खौफ से सरकार ने विशाखापत्तनम और श्रीकाकुलम जिलों में स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया गया है....

पीएम मोदी ने किया इनफिनिटी फोरम का उद्घाटन, पढ़े पीएम का महत्वपूर्ण भाषण

0
शुक्रवार को पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फिनटेक पर एक विचारशील नेतृत्व मंच, इनफिनिटी फोरम का उद्घाटन किया है. पीएम मोदी...

निलंबित सांसदों के प्रदर्शन के विरोध में भाजपा सांसदों ने निकाला पैदल मार्च

0
गांधी प्रतिमा पर धरना दे रहे विपक्षी दलों के सांसदों के विरोध में शुक्रवार को भाजपा सांसदों ने गांधी प्रतिमा से लेकर बाबा साहेब...